Home /News /business /

कोरोना का डंक! Lockdown से लाखों लोगों की गई नौकरी, मई में अप्रैल से ज्यादा लोग हुए बेरोजगारी का शिकार

कोरोना का डंक! Lockdown से लाखों लोगों की गई नौकरी, मई में अप्रैल से ज्यादा लोग हुए बेरोजगारी का शिकार

उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट कहते हैं कि श्रमिकों को राहत प्रदान करना ही हमारा प्रमुख लक्ष्य है. (सांकेतिक फोटो)

उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट कहते हैं कि श्रमिकों को राहत प्रदान करना ही हमारा प्रमुख लक्ष्य है. (सांकेतिक फोटो)

पिछले 2 महीने से ज्यादा समय से कोरोना से बचने के लिए देश में लॉकडाउन चल रहा है. जिसके चलते उद्योग-धंधे बंद हो गये हैं सिर्फ अत्यावश्यक सेवाओं से संबंधित कारोबार सीमित क्षमता से किया जा रहा है. बाकी के उद्योग बंद होने से देश में बेरोजगारी में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. पिछले 2 महीने से ज्यादा समय से कोरोना से बचने के लिए देश में लॉकडाउन चल रहा है. जिसके चलते उद्योग-धंधे बंद हो गये हैं सिर्फ अत्यावश्यक सेवाओं से संबंधित कारोबार सीमित क्षमता से किया जा रहा है. बाकी के उद्योग बंद होने से देश में बेरोजगारी में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है. सबसे ज्यादा बेरोजगारी मई महीने में बढ़ी है. सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMIE) की रिपोर्ट के अनुसार 31 मई को समाप्त हुए हफ्ते में देश में बेरोजगारी की दर 23.48 प्रतिशत तक पहुंच गई है. अप्रैल महीने में बेरोजगारी की दर 23.52 प्रतिशत थी. वहीं 24 मई को समाप्त हुए हफ्ते में बेरोजगारी की दर 24.3 प्रतिशत थी. ये दर लॉकडाउन लागू होने के पहले 8 हफ्तों की अवधि के औसत 24.2 प्रतिशत दर से अधिक है.

    बेरोजगारी दर बड़ा उछाल  
    देश में बेरोजगारी की दर लगातार बढ़ रही है. महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के अनुसार जनवरी 2020 में शहरी बेरोजगारी की दर 9.70 प्रतिशत थी वहीं मई में 16.09 प्रतिशत बढ़कर 25.79 प्रतिशत तक जा पहुंची है. उसी प्रकार जनवरी 2020 में ग्रामीण बेरोजगारी की दर 6.06 प्रतिशत थी जो कि मई महीने में 16.42 प्रतिशत बढ़कर 22.48 प्रतिशत पर पहुंच गई है.

    मई महीने में 2 करोड़ लोगों ने फिर से नौकरी पर जाना शुरू किया
    CMIE की रिपोर्ट के अनुसार केंद्र सरकार द्वारा लॉकडाउन के नियम में शिथिलता लाने के बाद मई महीने में 2 करोड़ लोगों ने फिर से नौकरी पर जाना शुरू किया है. जिसकी वजह से देश में रोजगार की दर 2 प्रतिशत बढ़कर 29 प्रतिशत पर पहुंच गई है. यही दर अप्रैल में 27 प्रतिशत पर थी. CMIE के मुताबिक 25 मार्च को लागू किये गये लॉकडाउन के कारण देश में करीब 12.20 करोड़ लोगों को नौकरी गंवानी पड़ी है.

    Tags: Job insecurity, Job loss, Jobs news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर