लाइव टीवी

कोरोना वायरस ने बढ़ाई सूरत के हीरा कारोबारियों की चिंता, सता रहा ₹8 हजार करोड़ डूबने का डर

भाषा
Updated: February 5, 2020, 4:04 PM IST
कोरोना वायरस ने बढ़ाई सूरत के हीरा कारोबारियों की चिंता, सता रहा ₹8 हजार करोड़ डूबने का डर
कोरोना वायरस से सूरत के हीरो कारोबार को 8 हजार करोड़ रुपये के नुकसार का डर

चीन में फैला जानलेवा कोरोना वायरस (Corona Virus) सूरत के हीरा कारोबारियों के बिजनेस के लिए चिंता का सबब बना हुआ है. अनुमान लगाया है जा रहा है कि कोरोना वायरस की वजह से सूरत के हीरो उद्योग को 8 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सूरत के हीरा उद्योग को अगले दो माह में करीब 8,000 करोड़ रुपये की चपत लग सकती है. इसकी वजह चीन में फैला जानलेवा कोरोना वायरस है. कोरोना वायरस की वजह से हॉन्गकॉन्ग ने इमर्जेंसी की घोषणा कर दी है. हॉन्गकॉन्ग सूरत के हीरा उद्योग (Diamond Industry) का प्रमुख एक्सपोर्ट मार्केट (Export Market) है. सूरत के हीरा कारोबारियों का कहना है कि हॉन्गकॉन्ग हमारे लिए प्रमुख व्यापार केंद्र है, लेकिन वहां स्कूल और कॉलेज मार्च के पहले सप्ताह तक के लिए बंद कर दिए गए हैं.

हर साल निर्यात होता है 50 हजार करोड़ रुपये का हीरा
कोरोना वायरस के फैलने की वजह से वहां कारोबारी गतिविधियां भी काफी घट गई हैं. रत्न और आभूषण निर्यात संवर्द्धन परिषद (जीजेईपीसी) के रीजनल चेयरमैन दिनेश नवाडिया ने कहा कि सूरत से हर साल हॉन्गकॉन्ग के लिए 50,000 करोड़ रुपये के पॉलिश्ड हीरों का निर्यात किया जाता है.

यह यहां से कुल निर्यात का 37 फीसदी है लेकिन अब कोरोना वायरस की वजह से हॉन्गकॉन्ग ने एक महीने की छुट्टी की घोषणा कर दी है.

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर- दूध हो सकता हैं 4-5 रुपये प्रति लीटर तक महंगा! जानिए पूरा मामला



 मार्च तक हो सकता है 8 हजार करोड़ रुपये का नुकसान
हॉन्गकॉन्ग में जिन गुजराती कारोबारियों के ऑफिस हैं, वे लौट रहे हैं. नवाडिया ने कहा कि यदि स्थिति नहीं सुधरती है तो इससे सूरत का हीरा उद्योग बुरी तरह प्रभावित होगा. सूरत का हीरा उद्योग देश में आयातित 99 प्रतिशत कच्चे हीरो की पॉलिश करता है. उन्होंने कहा कि फरवरी और मार्च में सूरत के हीरा उद्योग को 8,000 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है.

नहीं सुधार स्थिति तो हो सकता है भारी नुकसान
एक अन्य उद्योग विशेषज्ञ और हीरा कारोबारी प्रवीण नानावती ने कहा कि इस बात की संभावना है कि हॉन्गकॉन्ग में अंतरराष्ट्रीय आभूषण प्रदर्शनी रद्द हो जाए. ऐसा होता है तो सूरत का आभूषण कारोबार बुरी तरह प्रभावित होगा. उन्होंने कहा कि सूरत में बने पालिश हीरे और आभूषण हांगकांग के जरिये दुनियाभर में भेजे जाते हैं.

लेकिन, अब वहां अवकाश की वजह से हमारा कारोबार पूरी तरह बंद हो गया है. व्यापारी भारत लौट रहे हैं. उन्होंने कहा कि यदि स्थिति नहीं सुधरती है तो सूरत के हीरा उद्योग को ‘हजारों करोड़ रुपये’ का नुकसान हो सकता है.

यह भी पढ़ें: पेंशन पाने वालों के लिए बेहद जरूरी हैं इस नंबर को जानना, अटक जाएंगे पैसे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 4:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर