कोरोना वायरस संकट- अमेरिका की यूनाइटेड एयरलाइंस में जा सकती है 36,000 कर्मचारियों की नौकरी

36 हजार लोगों की नौकरियों पर लटकी तलवार

36 हजार लोगों की नौकरियों पर लटकी तलवार

अमेरिका की बड़ी एयरलाइंस कंपनी यूनाइटेड एयरलाइंस (United Airlines) 36 हजार कर्मचारियों को निकाल सकती है. कंपनी ने कहा कि कोरोना संकट की वजह से उसे बड़ा नुकसान हुआ है.

  • Share this:
वाशिंगटन. कोरोना वायरस (Coronavirus Pandemic) के संक्रमण को रोकने के लिए दुनियाभर में हवाई सफर पूरी तरह से बंद है. ऐसे में एयरलाइंस कर्मचारियों (Airlines in Big Trouble) की नौकरी पर तलवार लटक रही है. अमेरिका की बड़ी एयरलाइंस कंपनी यूनाइटेड एयरलाइंस (United Airlines) ने भी 36 हजार कर्मचारियों की छंटनी करने की बात कही है. कंपनी अपने आधे से ज्यादा स्टाफ को अक्टूबर से परामनेंट छुट्टी पर भेज सकती है. कंपनी का कहना है कि  कोरोना वायरस महामारी कितनी गहराई से एयरलाइन उद्योग को नुकसान पहुंचा रही है.

एयरलाइंस कंपनी का कहना है कि ट्रैवल डिमांड को पूरा करने के लिए कंपनी के पास फिलहाल 20 हजार कर्मचारी है. इसीलिए खर्चों में कटौती के लिए छंटनी करनी पड़ेगी.

यूनाइटेड ने बुधवार को कर्मचारियों से कहा कि हर किसी को जो छंटनी का नोटिस नहीं दियाा जाएगा. कुछ को छुट्टी पर भी भेजा जा सकता है.



कंपनी ने कहा कि रिटायर होने वाले कर्मचारी अगर पहले ही इसकी घोषणा कर देते हैं तो नौकरी के नुकसान को कम किया जा सकता है.
एमिरेट्स एयलाइंस (Emirates airline) कर चुकी हैं बड़ी छंटनी- UAE में बड़े पैमाने पर पायलटों की छटनी की गई है. इसी कड़ी में बुधवार को एक दिन में 800 पायलटों को नौकरी से निकाल ( Emirates has fired 800 pilots ) दिया गया है.

यह Airlines industry की अब तक की सबसे बड़ी छंटनी है. अमीरात एयरलाइंस ( Emirates Airline ) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एयरलाइन के A380 बेड़े में 560 पायलट और इसके B777 विमानों पर 240 पायलट कार्यरत थे.

एमिरेट्स एयरलाइन कंपनी अपनी बेहतर सर्विस के लिए जानी जाती है. कोरोना वायरस प्रकोप के चलते कंपनी अपनी कुछ फ्लीट को रिटायर करने की योजना बना रही है.

मनी कंट्रोल के एक सवाल के जवाब में एमिरेट्स के प्रवक्ता ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के चलते कंपनी का बिजनेस प्रभावित हुआ है. लिहाजा हम अपने अतिरिक्त संसाधनों को नहीं बनाए रख सकते हैं.

उन्होंने आगे कहा कि सभी मामलों की समीक्षा करने के बाद हमें ऐसा कठोर निर्णय लेना पड़ा है. हमें बेहद दुख है कि कर्मचारियों को बाहर करना पड़ा रहा है. कंपनी ने कहा कि निकाले गए कर्मचारियों के लिए दूसरी जगह जॉब दिलाने की कोशिश करेंगे. प्रभावित कर्मचारियों की हर संभव सहायता करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज