Home /News /business /

कोरोना संकट में आई अच्छी खबर! IMF ने कहा-दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली बड़ी अर्थव्यवस्था बना रहेगा भारत

कोरोना संकट में आई अच्छी खबर! IMF ने कहा-दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली बड़ी अर्थव्यवस्था बना रहेगा भारत

दुनिया की अर्थव्यवस्था में 90 साल पुरानी महामंदी के बाद की सबसे बड़ी गिरावट आ सकती है.

दुनिया की अर्थव्यवस्था में 90 साल पुरानी महामंदी के बाद की सबसे बड़ी गिरावट आ सकती है.

वर्ल्ड इकाेनाॅमिक आउटलुक (World Economy Report) के मुताबिक, 1.9% की विकास दर के बावजूद भारत (India GDP Data) दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली बड़ी अर्थव्यवस्था बना रहेगा. वहीं, चीन (China GDP Data) की विकास दर 1.2% रहने का अनुमान है.

अधिक पढ़ें ...
    मुंबई. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF-International Monetary Fund) की ओर से जारी वर्ल्ड इकाेनाॅमिक आउटलुक रिपोर्ट के अनुसार, 1.9% की विकास दर के बावजूद भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली बड़ी अर्थव्यवस्था बना रहेगा. वहीं, चीन की विकास दर 1.2% रहने का अनुमान है. हालांकि, IMF ने आशंका जताई है कि कोरोना के चलते इस साल दुनिया की अर्थव्यवस्था में 90 साल पुरानी महामंदी के बाद की सबसे बड़ी गिरावट आ सकती है.

    आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ (IMF) ने कहा, कोरोना संकट अगले दो साल में विश्व की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) का नौ खरब डॉलर बर्बाद कर देगा.

    उन्होंने कहा कि 2021-22 में भारत की अर्थव्यवस्था का 7.4 फीसदी की ग्रोथ हासिल करना आश्चर्यजनक नहीं है क्योंकि वैश्विक अर्थव्यवस्था के भी 5.8 फीसदी की दर से आगे बढ़ने की बात कही गई है.

    ये भी पढ़ें-COVID-19: सरकार ने आम आदमी के लिए उठाए ये 5 कदम, पैसों की नहीं होगी कमी

    अपने इस अनुमान को लेकर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष का कहना है कि कोरोना से निपटने में 2020 का पूरा साल चला जाएगा, लेकिन उसके बाद तेजी से सुधार देखने को मिलेगा.

    आईएमएफ का कहना है कि 2020-21 की दूसरी छमाही में भारत की ग्रोथ 4.2 फीसदी के करीब रह सकती है.गीता गोपीनाथ ने कहा कि 1930 की आर्थिक महामंदी के बाद ऐसा पहली बार हो सकता है कि विकसित और विकासशील देश दोनों ही मंदी के चक्र में फंस जाएं.

    विकसित देशों के मामले में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने चेतावनी दी है कि इनकी अर्थव्यवस्थाएं कोरोना से पहले के दौर के उच्च स्तर को साल 2022 से पहले हासिल नहीं करने वाली हैं.

    अमरीकी अर्थव्यवस्था को इस साल 5.9 फ़ीसदी का नुक़सान उठाना पड़ सकता है. साल 1946 के बाद उसके लिए ये सबसे बड़ा नुक़सान होगा. अमरीका में इस साल बेरोज़गारी दर 10.4 फ़ीसदी रहने की संभावना है.

    साल 2021 तक अमरीकी अर्थव्यवस्था में 4.7 फ़ीसदी की दर से विकास के साथ कुछ सुधार होने की उम्मीद जताई गई है.

    चीन के मामले में आईएमएफ़ का कहना है कि इस साल उसकी अर्थव्यवस्था 1.2 फ़ीसदी के साथ बढ़ सकती है. साल 1976 के बाद चीन के लिए ये सबसे धीमी विकास दर होगी.

    ये भी पढ़ें-लॉकडाउन पार्ट 2 में किसानों को मिली बड़ी राहत, अब इन कामों की मिली छूट

    Tags: Business news in hindi, Corona, Corona Virus, Coronavirus, Coronavirus Epidemic, Coronavirus in India, International Monetary Fund

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर