लाइव टीवी

इस डर से देश में 70 फीसदी सस्ता हुआ चिकन, बिक्री हुई आधी

पीटीआई
Updated: February 28, 2020, 8:54 AM IST
इस डर से देश में 70 फीसदी सस्ता हुआ चिकन, बिक्री हुई आधी
कोरोना के कारण भारत में 70% सस्ता हुआ चिकन

Coronavirus: गोदरेज एग्रोवेट (Godrej Agrovet) के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि सोशल मीडिया पर इस तरह के कयास लगाये जा रहे हैं कि चिकन से कोरोना वायरस फैल सकता है. इससे बाजार में मुर्गी मांस के दाम और बिक्री दोनों में गिरावट आई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रकोप के बीच भारत में चिकन (Chicken) की बिक्री में 50 फीसदी से ज्यादा गिरावट आई है, जिसके कारण इसके दाम एक महीने में 70 फीसदी से ज्यादा गिर गए हैं. गोदरेज एग्रोवेट (Godrej Agrovet) के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि सोशल मीडिया पर इस तरह के कयास लगाये जा रहे हैं कि चिकन से कोरोना वायरस फैल सकता है. इससे बाजार में मुर्गी मांस के दाम और बिक्री दोनों में गिरावट आई है. गोदरेज एग्रोवेट के प्रबंध निदेशक बीएस यादव ने कहा कि उसकी पॉल्ट्री शाखा गोदरेज टायसन फूड्स (Godrej Tyson Foods) को भी कठिनाई आई है क्योंकि पिछले एक महीने में इनकी बिक्री में 40 प्रतिशत की भारी कमी आई है. इससे पहले सप्ताह भर में 6 लाख मुर्गे-मुर्गियों की बिक्री होती थी जिसमें काफी गिरावट आई है.

उन्होंने कहा कि हालांकि, अगले 2-3 महीनों में यदि अफवाहों पर विराम लगता है तो इसके बाद चिकन की खपत बढ़ जायेगी और फिर देश में चिकन की कमी की स्थिति उत्पन्न होगी.

ये भी पढ़ें: PM-किसान सम्मान निधि स्कीम: 10 लाख किसानों ने किया अप्लाई फिर भी नहीं मिलेंगे 6000 रुपये!

अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग



इसकी वजह से कीमतों में भारी वृद्धि हो सकती है. यादव ने कहा कि सरकार ने परामर्श जारी किया है कि कोरोना वायरस चिकन से नहीं फैलता है. राज्य सरकारों से भी अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा गया है. यादव ने संवाददाताओं से कहा, 'भारत में चिकन खाना सुरक्षित है, लेकिन चिकन से कोरोनोवायरस फैलने की अफवाहों ने हमारे देश में केवल एक महीने में 50 प्रतिशत से अधिक की मांग को प्रभावित किया है और बाजार की कीमतों में भी 70 प्रतिशत तक की गिरावट आई हैं.'

पहले हफ्ते में होती थी 7.5 करोड़ चिकन की बिक्री
उन्होंने कहा कि देश में एक सप्ताह में होने वाली चिकन की बिक्री 7.5 करोड़ के मुकाबले घटकर 3.5 करोड़ चिकन की रह गई है, जबकि पिछले एक महीने में जो कीमत 100 रुपये किलो थी वह बाजार में अब घटकर 35 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई हैं. जबकि इसकी लागत लगभग 75 रुपये प्रति किलोग्राम बैठती है. यादव ने कहा, 'मुर्गी से कोरोनोवायरस फैलने की व्हॉट्सएप पर फैली अफवाह के कारण पूरा पॉल्ट्री उद्योग और किसान प्रभावित हुए हैं. चिकन का उत्पादन बढ़ गया है, जिसे कम कीमत पर बाजार में खपाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: फ्री में Aadhaar Card पर ऐसे बदलवाएं अपना एड्रेस, आसान है प्रोसेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2020, 8:54 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर