लाइव टीवी

कोरोना से निपटने के लिए वित्त मंत्रालय ने लिया बड़ा फैसला, जरूरी सामानों की नहीं होगी कमी

News18Hindi
Updated: March 31, 2020, 3:22 PM IST
कोरोना से निपटने के लिए वित्त मंत्रालय ने लिया बड़ा फैसला, जरूरी सामानों की नहीं होगी कमी
जरूरी सामानों की नहीं होगी कमी

वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने कोविड-19 (COVID-19) महामारी से निपटने में मदद के लिए अन्य देशों से मेडिकल और जरूरी सामानों की खरीद और ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार के विभागों को निर्धारित प्रक्रियाओं में विशेष छूट दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2020, 3:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने कोविड-19 (COVID-19) महामारी से निपटने में मदद के लिए अन्य देशों से मेडिकल और जरूरी सामानों की खरीद और ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार के विभागों को निर्धारित प्रक्रियाओं में विशेष छूट दी है. वित्त मंत्रालय में व्यय विभाग ने फार्मास्यूटिकल्स विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, वस्त्र मंत्रालय, उपभोक्ता मामलों के विभाग और नागरिक उड्डयन मंत्रालय को छूट दी, जो केंद्र सरकार के लिए सार्वजनिक खरीद नियमों के तहत आता है.

वित्त मंत्रालय ने 27 मार्च को एक अधिसूचना में कहा, नेशनल हेल्थ इमरजेंसी होने के चलते मेडिकल उपकरण और जरूरी सामानों की खरीद में देरी से नागरिकों के जीवन को नुकसान होगा. इसलिए यह आवश्यक आपूर्ति सबसे तेजी से सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया गया है.

ये भी पढ़ें: केंद्रीय कर्मचारियों को लगा बड़ा झटका! कोरोना वायरस के कारण सालाना अप्रैजल की तारीख बढ़ी



बता दें कि देश में आज लॉकडाउन का सातवां दिन है. अब तक देश भर में कोरोना वायरस के 1310 मामले सामने आ चुके हैं जिसमें से 1177 एक्टिव केस हैं यानी उनका इलाज चल रहा है. कोरोना वायरस के फैलने के चलते दुनियाभर में चुनिंदा आइटम्स की कमी हो गई है. भारत में भी कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने से मेडिकल इक्विपमेंट्स कम पड़ गए हैं. वहीं लॉकडाउन के चलते जरूरी सामानों की सप्लाई होने में दिक्कत आ रही है.



कोरोना वायरस से दुनिया भर में आएगी आर्थिक तबाही
कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Impact) के चलते दुनिया आर्थिक मंदी (Global Economy in Rescission) की कगार पर आकर खड़ी हो गई है. इससे दुनियाभर की अर्थव्यवस्था को कई ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होने का अनुमान है. संयुक्त राष्ट्र की ताजा ट्रेड रिपोर्ट में ये बातें सामने आई है. रिपोर्ट के मुताबिक, इस स्थिति में विकासशील देशों को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ेगा, लेकिन चीन और भारत जैसे देश इसमें अपवाद साबित होंगे. यूएनसीटीएडी के सेकेट्री जनरल के मुताबिक, कोरोना वायरस के कारण पैदा हुई आर्थिक गिरावट जारी है. आने वाले दिनों में और तेजी से बढ़ेगी, जिसका अनुमान लगाना मुश्किल है.
First published: March 31, 2020, 3:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading