• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • इन्क्रीमेंट पर कोरोना की मार! इस साल सिर्फ इतनी बढ़ी कर्मचारियों की सैलरी, 10 में चार कंपनियों ने बढ़ाए वेतन

इन्क्रीमेंट पर कोरोना की मार! इस साल सिर्फ इतनी बढ़ी कर्मचारियों की सैलरी, 10 में चार कंपनियों ने बढ़ाए वेतन

10 में चार कंपनियों ने बढ़ाई सैलरी

10 में चार कंपनियों ने बढ़ाई सैलरी

डेलॉयट टच तोहमात्सु इंडिया एलएलपी (Deloitte Touche Tohmatsu India) के एक सर्वे के मुताबिक, 10 में से सिर्फ चार कंपनियों ने 2020 में कर्मचारियों को इंक्रीमेंट दिया है. 33 फीसदी कंपनियों ने कर्मचारियों के वेतन में कोई बढ़ोतरी नहीं करने का फैसला किया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच कंपनियों ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 में अपने कर्मचारियों को औसतन 3.6 फीसदी की वेतनवृद्धि (Increment) दी है. पिछले वित्त वर्ष में कर्मचारियों का वेतन औसतन 8.6 प्रतिशत बढ़ा था. प्रमुख परामर्शक कंपनी डेलॉयट टच तोहमात्सु इंडिया एलएलपी (Deloitte Touche Tohmatsu India) के एक सर्वे में यह तथ्य सामने आया है. सर्वे के अनुसार चालू वित्त वर्ष में कर्मचारियों की वेतनवृद्धि में दो चीजों ‘समय’ और कोविड-19 के प्रभाव ने सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

    सोमवार को जारी इस सर्वे में कहा गया है, ‘‘जिन संगठनों ने मार्च, 2020 में लॉकडाउन शुरू होने से पहले वेतनवृद्धि के बारे में फैसला कर लिया था, उन्होंने अन्य कंपनियों की तुलना में अपने कर्मचारियों को अधिक वेतनवृद्धि दी है. वहीं बड़ी संख्या में कंपनियों का मानना है कि कोविड-19 की वजह से 2020-21 में उनकी आमदनी में 20 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आएगी. ऐसी कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को कमोबेश कम वेतनवृद्धि दी है.

    यह भी पढ़ें- कंपनी बंद होने से अटक गया है PF का पैसा तो घबराए नहीं, अपनाएं ये तरीका

    कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए 25 मार्च को देश में राष्ट्रव्यापी बंद लागू किया गया था. मई के अंत में हालांकि अंकुशों में ढील दी गई. लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से कुछ राज्यों में अंकुश जारी रहे. इससे आर्थिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुईं. वर्ष 2020 का दूसरे चरण का श्रमबल और वेतनवृद्धि सर्वे जून, 2020 में शुरू किया गया. इसमें 350 कंपनियों ने भाग लिया.



    10 में चार कंपनियों ने बढ़ाई सैलरी
    सर्वे के अनुसार, 10 में से सिर्फ चार कंपनियों ने 2020 में कर्मचारियों को वेतनवृद्धि दी है. 33 प्रतिशत कंपनियों ने कर्मचारियों के वेतन में कोई बढ़ोतरी नहीं करने का फैसला किया है. वहीं अन्य कंपनियों ने अभी इस पर फैसला नहीं किया है. इस हिसाब से 2020 में औसत वेतनवृद्धि 3.6 प्रतिशत बैठती है, जो पिछले साल से आधी से भी कम है. पिछले साल कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को 8.6 प्रतिशत की वेतनवृद्धि दी थी.

    वेतनवृद्धि का यह आंकड़ा दशकों में सबसे कम
    सर्वे में कहा गया है कि वेतनवृद्धि का यह आंकड़ा दशकों में सबसे कम है. डेलॉयट ने कहा है कि यदि सर्वे में सिर्फ उन संगठनों को लिया जाए, जिन्होंने अपने कर्मचारियों का वेतन बढ़ाया है, तो औसत वेतनवृद्धि 7.5 प्रतिशत बैठती है. चालू वित्त वर्ष में ऐसी कंपनियों की संख्या 10 प्रतिशत से भी कम है जिन्होंने अपने कर्मचारियों को 10 प्रतिशत से अधिक की वेतनवृद्धि दी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज