लाइव टीवी

1 अप्रैल से महंगा हो रहा है Petrol-Diesel, 10 से 20 रुपए तक बढ़ सकते हैं दाम

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 9:58 AM IST
1 अप्रैल से महंगा हो रहा है Petrol-Diesel, 10 से 20 रुपए तक बढ़ सकते हैं दाम
पेट्रोल-डीजल 10 से 20 रुपए तक बढ़ सकते हैं दाम

सरकार ने कानून में संशोधन करते हुए पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में 8 रुपये प्रति लीटर तक की वृद्धि करने का अधिकार हासिल कर लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 9:58 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कच्चे तेल की घटती कीमतों का पूरा फायदा उपभक्ताओं को नहीं मिलेगा. सरकार ने इस मौके का फायदा खजाना भरने की तैयारी कर ली है. सरकार ने कानून में संशोधन करते हुए पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में 8 रुपये प्रति लीटर तक की वृद्धि करने का अधिकार हासिल कर लिया है. इसके बाद सरकार आने वाले दिनों में कभी भी पेट्रोल, डीजल पर 8 रुपये के दायरे में उत्पाद शुल्क में वृद्धि कर सकती है.

18 रुपये लीटर तक हो सकती है एक्साइज ड्यूटी
निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में वित्त विधेयक 2020 में संशोधन पेश किए, जिसमें इन ईंधनों पर भविष्य में एक सीमा तक विशेष उत्पाद शुल्क की दर बढ़ाने का प्रस्ताव भी शामिल था. सदन ने विधेयक को बिना चर्चा के पारित कर दिया. इस संशोधन के बाद सरकार पेट्रोल पर अतिरिक्त विशेष उत्पाद शुल्क को प्रति लीटर 10 रुपये से बढ़ाकर 18 रुपये और डीजल पर 4 रुपये से बढ़ाकर 12 रुपये प्रति लीटर तक कर सकती है.

ये भी पढ़ें: देश को मिला पहला COVID-19 डेडिकेटेड हॉस्पिटल, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने की मदद



14 मार्च को हुई थी वृद्धि
सरकार ने इससे पहले 14 मार्च को दोनों ईंधनों पर उत्पाद शुल्क में 3 रुपये प्रति लीटर वृद्धि की घोषणा की थी. इस वृद्धि से सालाना आधार पर सरकार को 39,000 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हो सकता है. इस शुल्क वृद्धि में 2 रुपये विशेष अतिरिक्त उत्पाद शुल्क मद में 2 रुपये और सड़क और इन्फ्रास्ट्रक्चर सेस की मद में 1 रुपये प्रति लीटर शुल्क बढ़ाया गया. कुल मिलाकर 3 रुपये प्रति लीटर तक शुल्क बढ़ाया गया.

कानून में किया गया संशोधन
सरकार द्वारा 14 मार्च को की गई वृद्धि के बाद विशेष उत्पाद शुल्क इसके लिए कानून में दी गई अधिकतम सीमा तक पहुंच गया था. यह सीमा पेट्रोल के मामले में 10 रुपये और डीजल के मामले में 4 रुपये प्रति लीटर थी. सरकार ने अब वित्त विधेयक की 8वीं अनुसूची में संशोधन करते हुए इस सीमा को पेट्रोल के मामले में बढ़ाकर 18 रुपये और डीजल के मामले में 12 रुपये प्रति लीटर कर दिया है.

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस की वजह से नहीं होगी आपकी नौकरी पर संकट! सरकार ने कही ये बात

भविष्य के लिए फैसला
यह संशोधन सरकार को भविष्य में शुल्क बढ़ाने के लिए कानूनी प्रावधान के तौर पर उपलब्ध कराया गया है. फिलहाल इस समय पेट्रोल, डीजल पर इस शुल्क में कोई वृद्धि नहीं की गई है. सरकार भविष्य में जरूरत पड़ने पर यह वृद्धि कर सकती है. माना जा रहा है कि कोरोना वायरस की वजह से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मांग में कमी की वजह से कच्चे तेल की कीमतें और कम हो सकती हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 9:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर