कोरोना संकट के बीच अपने 10 फीसदी कर्मचारियों को नौकरी से निकालेगी देश की सबसे बड़ी निजी एयरलाइंस

कोरोना संकट के बीच अपने 10 फीसदी कर्मचारियों को नौकरी से निकालेगी देश की सबसे बड़ी निजी एयरलाइंस
आर्थिक संकट से जूझ रही इंडिगो ने अपने 10 फीसदी कर्मचारियों को नौकरी से हटाने का फैसला लिया है.

कोविड-19 के कारण सरकार ने सभी घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों पर लंबे समय तक रोक (Travel Restrictions) लगा दी थी. इससे निजी क्षेत्र की एयरलाइंस इंडिगो (IndiGo) आर्थिक संकट से जूझ रही है. ऐसे में इंडिगो ने छंटनी (Layoffs) का फैसला किया है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस के कारण दुनिया के ज्‍यादातर देशों पर दोहरी मार पड़ रही है. एक तरफ हर दिन नए कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आने का सिलसिला थम नहीं रहा है. वहीं, दूसरी तरह ज्‍यादातर अर्थव्‍यवस्‍थाएं कारोबारी गतिविधियों (Business Activities) की रफ्तार धीमी होने के कारण आर्थिक संकट में फंसती जा रही हैं. भारत में लॉकडाउन में ढील के साथ कारोबारी गतिविधियां धीमे-धीमे रफ्तार पकड़ रही हैं, लेकिन फिर भी बड़ी-बड़ी कंपनियों की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं.

लॉकडाउन के दौरान सरकार ने घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों (Flights) पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी थी. इससे देश की एयरलाइन कंपनियों (Airline) के सामने संकट की स्थिति आ गई है. इसी क्रम में देश की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की एयरलाइंस इंडिगो (IndiGo) ने अपने 10 फीसदी कर्मचारियों को नौकरी से निकालने का फैसला लिया है.


'गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रही है एयरलाइंस'
कंपनी के सीईओ रणजय दत्ता ने ने कहा कि कंपनी इस समय गंभीर आर्थिक संकट (Economic Crisis) का सामना कर रही है. कंपनी को अपना कारोबार जारी रखने के लिए कुछ सख्‍त फैसले लेने पड़ रहे हैं. सभी संभावित परिस्थितियों पर विचार करने के बाद यह साफ है कि हमें अपने 10 फीसदी कर्मचारियों को निकालना (Layoff) होगा. इंडिगो के सीईओ ने कहा कि यह पहला मौका है, जब कंपनी को ऐसा मुश्किल कदम उठाना पड़ रहा है. बता दें कि 31 मार्च, 2019 तक कंपनी में कुल 23,531 कर्मचारी थे.



ये भी पढ़ें- कोरोना संकट के बावजूद इस सेक्‍टर ने अपने कर्मचारियों को दिया बड़ा Increment, नहीं काटी किसी की सैलरी

डॉक्‍टरों और नर्सों को हवाई किराये में 25 फीसदी छूट
दत्‍ता ने कहा कि वैश्विक महामारी ने पूरी दुनिया में कई इंडस्‍ट्रीज को नुकसान पहुंचाया है. एविएशन सेक्‍टर कोविड-19 के कारण सबसे बुरी तरह प्रभावित क्षेत्रों में एक है. इंडिगो ने जुलाई की शुरुआत में डॉक्‍टर्स और नर्सों (Doctors and Nurses) के लिए हवाई किराये में 25 फीसदी छूट का ऐलान किया था. कंपनी ने कहा था कि ये छूट इस साल के अंत तक रहेगी. बता दें कि सरकार ने 25 मई से घरेलू उड़ानों को अनुमति दे दी थी. इंडिगो ने उसी दिन से परिचालन शुरू कर दिया था, लेकिन अभी भी यात्रियों की संख्‍या काफी कम होने के कारण मुनाफा नहीं हो पा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading