अपना शहर चुनें

States

लॉकडाउन के बाद हवाई यात्रा के लिए जरूरी होगा ये सर्टिफिकेट, वरना नहीं कर पाएंगे सफर

लॉकडाउन खत्म होने के बाद हवाई यात्रा के लिए मास्क, ग्लव्स और डिस्पोजेबल कैप के अलावा आपको डॉक्टर के सर्टिफिकेट की जरूरत होगी.
लॉकडाउन खत्म होने के बाद हवाई यात्रा के लिए मास्क, ग्लव्स और डिस्पोजेबल कैप के अलावा आपको डॉक्टर के सर्टिफिकेट की जरूरत होगी.

लॉकडाउन खत्म होने के बाद हवाई यात्रा के लिए मास्क, ग्लव्स और डिस्पोजेबल कैप के अलावा आपको डॉक्टर के सर्टिफिकेट की जरूरत होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2020, 7:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) खत्म होने के बाद जब एयरलाइन सर्विस शुरू होगी तो हवाई यात्रा के लिए मास्क, ग्लव्स और डिस्पोजेबल कैप के अलावा आपको डॉक्टर के सर्टिफिकेट की जरूरत होगी. डॉक्टरों, नौकरशाहों और हवाई अड्डों व एयरलाइंस के अधिकारियों वाली एक टेक्निकल कमिटी जल्द ही हालात सामान्य होने के बाद यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के उपायों पर चर्चा करेगी. सरकार ने एक टेक्निकल कमिटी बनाई है, जो हवाई सेवाओं और यात्रियों के लिए एक स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) बना रही है. बता दें कि मौजूदा देशव्यापी लॉकडाउन 3 मई को खत्म होने वाला है. हालांकि, यह माना जा रहा है कि देश के हॉटस्पॉट और संवेदनशील क्षेत्रों में प्रतिबंध जारी रह सकती है.

इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, देश के अन्य हिस्सों जैसे ग्रीन जोन में प्रतिबंधों में कुछ ढील दी गई है. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, जून तक कमर्शियल एयर ट्रैवल की अनुमति नहीं है. माना जा रहा है कि टेक्निकल कमिटी फ्लाइट्स की मिडिल सीट की बुकिंग लेने की इजाजत दे सकती है. मिडिल की सीट को खाली रखने से दो लोगों के बीच छह फीट की सामाजिक दूरी को प्राप्त करने में मदद नहीं मिलेगी क्योंकि यह दो यात्रियों के बीच केवल दो फीट की जगह की अनुमति देता.

ये भी पढ़ें: RTI में खुलासा- बैंकों ने भगोड़े मेहुल चोकसी समेत 50 विलफुल डिफॉल्टर्स का लोन बट्टे खाते में डाला



एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, इसलिए अब सुरक्षित और कोरोना वायर फ्री फ्लाइट को सुनिश्चित करने के लिए प्रोटेक्टिव गियर और सर्टिफिकेट को अनिवार्य करने पर फोकस किया गया है.
नए तरीके से डिजाइन किए गए सीट्स
इटालियन डिजाइनर्स Aviointeriors ने इकोनॉमी क्लास के लिए दो नए सीट डिजाइन कॉन्सेप्ट भी पेश किए हैं. इस डिजाइन को कुछ इस तरह से तैयार किया गया ताकि नई जरूरतों के आधार पर दो पैसेंजर्स के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जा सके. इस डिजाइन की सबसे खास बात है कि इसमें ऑनबोर्ड स्पेस में ज्यादा कुछ बदलाव नहीं किया गया है.

इस कंपनी ने एक डिजाइन का नाम रोम के प्राचीन भगवान 'Janus' के नाम पर रखा है, जिसमें एक सीट पर ही दो तरफ से बैठने की सुविधा होगी और इसकी सफाई भी आसानी से की जा सकेगी. अगर इस कॉन्सेप्ट को एयरलाइन कंपनियां अपनाती हैं तो इन सीट्स को तैयार करने के​लिए सु​रक्षित मैटेरियल का भी इस्तेमाल किया जाएगा ताकि हाइजिन का भी ख्याल रखा जा सके.

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था को लगेगा ₹10 लाख करोड़ का झटका, प्रति व्यक्ति 7 हजार का नुकसान

पोस्‍ट ऑफिस की इस गुल्‍लक में हर महीने जमा करें 1 हजार, मिलेगा 69 हजार से ज्यादा

PM-Kisan योजना लिस्ट में नहीं है आपका नाम तो ऐसे कराएं रजिस्टर, किसानों के पास 2000 रुपए पाने का सुनहरा मौका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज