लाइव टीवी

मोदी सरकार की इस स्कीम के तहत गरीबों का प्राइवेट अस्पतालों में मुफ्त में होगा कोरोना टेस्ट, जानिए सबकुछ

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 12:17 PM IST
मोदी सरकार की इस स्कीम के तहत गरीबों का प्राइवेट अस्पतालों में मुफ्त में होगा कोरोना टेस्ट, जानिए सबकुछ
गरीब से गरीब व्यक्ति भी निजी अस्पतालों में corona का इलाज करा सकेगे

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) ने आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) के तहत कोरोना वायरस के उपचार को शामिल करने का फैसला किया है ताकि गरीब से गरीब व्यक्ति भी निजी अस्पतालों में इलाज करा सके

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 12:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना (Coronavirus) संक्रमण के मामले हर रोज बढ़ रहे हैं. इस महामारी से देश को बचाने के लिए सरकार हर संभव कोशिश कर रही है. इसी कोशिश में राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) ने आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) के तहत कोरोना वायरस के उपचार को शामिल करने का फैसला किया है ताकि गरीब से गरीब व्यक्ति भी निजी अस्पतालों में इलाज करा सके.

बता दें कि आयुष्मान भारत मोदी सरकार की ओर से वंचित तबके के लिए शुरू की गई स्वास्थ्य बीमा योजना है. NHA ने फैसला किया है कि आयुष्मान भारत के लाभार्थी किसी भी सूचीबद्ध निजी अस्पताल में जाकर मुफ्त में अपना कोविड-19 टेस्ट करा सकेगा. अगर उसमें कोराना वायरस के लक्षण की आशंका जताई जाती है और उसे किसी निजी अस्पताल में आइसोलेशन में रहना पड़ता है, इसका को खर्च आयेगा वः आयुष्मान भारत योजना में शामिल होगा.

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस लॉकडाउन: BPL परिवारों को हर महीने 4500 रुपये की सहायता देगी सरकार

इन खर्च को स्कीम में शामिल किया जाएगा



NHA के एक सीनियर अधिकारी ET को बताया कि हमने उन पैकज को अंतिम रूप दे दिया है, जो आयुष्मान भारत के लाभार्थी के उपचार की लागत उठाने के लिए जरूरी हैं. हमने सूचीबद्ध अस्पतालों में कोविड-19 की पुष्टि से जुड़े टेस्ट और व्यक्ति के आइसोलेशन से जुड़े खर्च को शामिल करने का फैसला किया है. इसके अलावा NHA को अपने वायरस इंफेक्शन पैकेज के तहत उपचार की लागत को भी कवर करने की उम्मीद है.

PMJAY के तहत मिलता है 5 लाख का बीमा कवर
प्रधानमंत्री जन अरोग्य योजना (PM-JAY) या आयुष्मान भारत गरीबों को मुफ्त में बीमा कवरेज मुहैया कराती है. यह दुनिया की सबसे बड़ी और पूरी तरह से सरकार की ओर से प्रायोजित स्वास्थ्य बीमा योजना है. इस योजना का लक्ष्य 10.74 करोड़ गरीब और वंचित परिवारों को स्वास्थ्य बीमा के दायरे में लाना है. इसके तहत प्रत्येक परिवार को सालाना 5 लाख का बीमा कवर मिलता है, जिसमें 1400 पूर्व-निर्धारित पैकेज शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: Lockdown के बावजूद पेंशनभोगियों को समय पर पैसा देने के लिए EPFO ने बनाया प्लान

इस पैकेज के लिए इंतजार नीति आयोग से मंजूरी का
NHA ने अपना प्लान नीति आयोग के पास भी भेज दिया है. NHA के अधिकारी का कहना है कि हमने दो दिनों के अदंर तत्काल मंजूरी मांगी है. ये पैकेज एक हफ्ते के अंदर लागू हो जाने चाहिए. यह इसलिए भी अहम है क्योंकि महाराष्ट्र और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन की आशंका जताई है. हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय ने इससे इनकार किया है, लेकिन हमें अपनी तरफ से इसके लिए तैयार रहना चाहिए.

दिल्ली में भी लागू हुई आयुष्मान भारत योजना 
कोरोना वायरस के संकट के बीच दिल्ली ने वित्त वर्ष 2020-21 से PM-JAY योजना में शामिल होने का ऐलान किया है. अभी तक दिल्ली सरकार यह कहकर इस योजना का विरोध करती रही थी कि उसकी अपनी योजनाओं ने PM-JAY के लिए कोई गुंजाइश नहीं छोड़ा है. हालांकि सोमवार को वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने ऐलान किया कि आप सरकार भी केंद्र सरकार की प्रायोजित स्वास्थ्य बीमा योजना लागू करेगी. उन्होंने कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए मौजूदा वित्त वर्ष में 3 करोड़ और अगले वित्त वर्ष में 50 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया.

ये भी पढ़ें: देश को मिला पहला COVID-19 डेडिकेटेड हॉस्पिटल, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने की मदद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 12:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर