• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • निवेश के लिए पसंदीदा विकल्प बना कॉरपोरेट बॉन्ड, जानें क्या है वजह

निवेश के लिए पसंदीदा विकल्प बना कॉरपोरेट बॉन्ड, जानें क्या है वजह

3 मार्च को आएगा IIFL Finance का बॉन्ड

कॉरपोरेट बॉन्ड (Corporate Bonds) की सप्लाई वित्त वर्ष 2024-25 तक बढ़कर दोगुनी होकर 65-70 लाख करोड़ रुपए होने का अनुमान है. रेटिंग एजेंसी क्रिसिल (CRISIL) ने एक रिपोर्ट में यह दावा किया है. इसमें 50% योगदान फाइनेंशियल सेक्टर का रहेगा.

  • Share this:

    नई दिल्ली. इन्वेस्टमेंट इंस्ट्रुमेंट (Investment Instrument) के तौर पर कॉरपोरेट बॉन्ड (Corporate Bonds) लोगों का पसंदीदा विकल्प बन रहा है. इसके चलते घरेलू बाजार में कॉरपोरेट बॉन्ड की सप्लाई वित्त वर्ष 2024-25 तक बढ़कर दोगुनी होकर 65-70 लाख करोड़ रुपए होने का अनुमान है. रेटिंग एजेंसी क्रिसिल (CRISIL) ने एक रिपोर्ट में यह दावा किया है.
    क्रिसिल के अनुसार कॉर्पोरेट बॉन्ड की मांग मार्च 2025 तक 60-65 लाख करोड़ रुपए होने की संभावना है. इसमें 50% योगदान फाइनेंशियल सेक्टर का रहेगा. वहीं, 5 से 10 लाख करोड़ रुपए की खपत के लिए विदेशी निवेश की जरूरत रहेगी. गौरतलब है कि कॉरपोरेट बॉन्ड कंपनियों द्वारा जारी किए जाते हैं. असल में कंपनियां बैंक लोन के विकल्प के रूप में इस तरह के बॉन्ड जारी कर कर्ज जुटाती हैं. कोई कॉरपोरेट बॉन्ड कितना सुरक्षि‍त है, इसकी जांच आप रेटिंग एजेंसियों के द्वारा जारी क्रेडिट रेटिंग से कर सकते हैं. AAA रेटिंग वाली कंपनियों के बॉन्ड सबसे ज्यादा सुरक्ष‍ित माने जाते हैं और इनमें AA रेटिंग वाली बॉन्ड के मुकाबले जोखि‍म कम होता है.
    यह भी पढ़ें : सेविंग अकाउंट पर हो सकती है मोटी कमाई, करना होगा यह काम

    जीडीपी का 24% तक हो सकता है कॉरपोरेट बॉन्ड मार्केट
    वर्ष 2020 में 33 लाख करोड़ रुपए के कॉरपोरेट बॉन्ड थे. यह जीडीपी का 16% से है. 2025 तक यह बढ़कर 22-24% होने की उम्मीद है. 2020-21 में देश की GDP 194.82 लाख करोड़ है. रिपोर्ट में कहा गया है कि कॉरपोरेट बॉन्ड मार्केट को दोगुना करने में 25% योगदान रिटायरमेंट फंड का भी रहेगा. इसके बाद इंश्योरेंस, म्यूचुअल फंड और रेगुलेटरी का योगदान भी 20% के करीब रहेगा.
    यह भी पढ़ें : हैरान हो जाएंगे आप यह जानकर, इन बड़े ब्रांडों की नकल करके ठगी करते हैं साइबर हमलावर

    डेट म्यूचुअल फंड स्कीम होते हैं कॉरपोरेट बॉन्ड
    कॉरपोरेट बॉन्ड फंड ऐसे डेट म्यूचुअल फंड स्कीम होते हैं, जो कि कॉरपोरेट बॉन्ड या नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर में निवेश करते हैं. कॉरपोरेट बॉन्ड फंड मुख्य तौर पर हाई क्वालिटी वाले साधनों में निवेश करते हैं, इसलिए इन फंडों का क्रेडिट जोखि‍म उन अन्य डेट साधनों के मुकाबले कम होता है, जो शायद कम रेटिंग वाले साधनों में निवेश करते हों.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन