राहत: मार्च में 4 महीने के न्यूनतम स्तर पर पहुंचा खुदरा महंगाई दर, खाने-पीने की चीजें सस्ती हुईं

मार्च में भी घटा खुदरा महंगाई दर
मार्च में भी घटा खुदरा महंगाई दर

खुदरा महंगाई दर पिछले महीने के मुकाबले ​घटकर 5.91 फीसदी के स्तर पर आ गया है. उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) आधारित खुदरा महंगाई फरवरी में 6.58 फीसदी रही थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2020, 7:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. खाने-पीने वाली वस्तुओं के भाव में कमी आने से मार्च महीने में खुदरा महंगाई दर पिछले महीने के मुकाबले ​घटकर 5.91 फीसदी के स्तर पर आ गया है. सोमवार को सांख्यिकी मंत्रालय ने सीपीआई आंकड़े जारी कर यह जानकारी दी. इसके साथ ही यह ​आंकड़ा पिछले चार के निचले स्तर पर पहुंच गया है.

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) आधारित खुदरा महंगाई फरवरी में 6.58 फीसदी रही थी, जबकि मार्च 2019 में यह 2.8 फीसदी रही थी. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, मार्च 2020 में खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति 8.76 फीसदी रही. इसके पिछले महीने में 10.81 फीसदी की तुलना में कम है.


यह भी पढ़ें:  नहीं मिल रहा फसल का उचित दाम, किसानों को सालाना मिले 20 हजार रुपये एकड़ की मदद



>> हालांकि, अनाज और उत्‍पादों की महंगाई दर में मार्च में मामूली बढ़ोतरी दर्ज की गई और यह फरवरी के 5.23 फीसदी की तुलना में 5.30 फीसदी रही.

>> वहीं, दलहन और इसके उत्पादों की महंगाई दर मार्च में 15.85 फीसदी रही जो फरवरी में 16.61 फीसदी थी.

>> ईंधन और बिजली की महंगाई दर की बात करें तो मार्च में यह 6.59 फीसदी रही जो फरवरी के 6.36 फीसदी की तुलना में अधिक है.

>> बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) अपनी द्विमासिक मौद्रिक नीति का फैसला करते वक्त खुदरा महंगाई को ध्यान में रखता है. केंद्र सरकार ने आरबीआई को महंगाई को 4 फीसदी के आसपास रखने को कहा है.

यह भी पढ़ें: Coronavirus की वजह से इस कंपनी के कर्मचारियों को लगा झटका, 35% कटेगी सैलरी

सुकन्या स्कीम रिटर्न देने में अब भी सबसे आगे, इस साल नियमों में हुए ये बदलाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज