लाइव टीवी

कोरोना वायरस से Air India को रोज 30-35 करोड़ रुपये नुकसान की आशंका

भाषा
Updated: March 25, 2020, 5:55 PM IST
कोरोना वायरस से Air India को रोज 30-35 करोड़ रुपये नुकसान की आशंका
एअर इंडिया को घरेलू उड़ानें रोकने से रोज 30-35 करोड़ नुकसान की आशंका

COVID-19: एअर इंडिया (Air India) को घरेलू उड़ानें निलंबित रहने की अवधि में प्रतिदिन 30-35 करोड रुपये के नुकसान की आशंका है.

  • Share this:
मुंबई. सरकारी विमानन कंपनी एअर इंडिया (Air India) को घरेलू उड़ानें निलंबित रहने की अवधि में प्रतिदिन 30-35 करोड रुपये के नुकसान की आशंका है. बता दें कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के फैलाव को रोकने के लिए देश्भर में 31 मार्च तक घरेलू उड़ानें प्रतिबंधित कर दी गयी हैं. सूत्रों ने पीटीआई-भाषा से कहा, सरकार के आदेशों का पालन करते हुए अन्य विमानन कंपनियों की तरह हम भी किसी वाणिज्यिक उड़ान का परिचालन नहीं कर रहे हैं. फिर भी हमारा इससे होने वाला दैनिक नुकसान 30 से 35 करोड़ रुपये के दायरे में रहने का अनुमान है.

उन्होंने कहा, उड़ानों के निलंबन से हमारी ईंधन, ग्राउंड हैंडलिंग, हवाईअड्डा शुल्क जैसी लागत का बोझ घटा है. लेकिन हमें अभी भी वेतन-भत्तों, किरायों, न्यूनतम रखरखाव और ब्याज जैसे भुगतान करने हैं. एअर इंडिया की रोजाना आय 60 से 65 करोड़ रुपये है. इसमें 90 प्रतिशत हिस्सेदारी यात्रियों से होने वाली आय से है. वेतन के तौर पर एअर इंडिया को हर माह करीब 250 करोड़ रुपये का भुगतान करना होता है जबकि विमानों के किराये पर कंपनी प्रतिमाह करीब तीन करोड़ डॉलर का भुगतान करती है. इसके अलावा ब्याज इत्यादि के भुगतान पर कंपनी को प्रत्येक महीने 225 करोड़ रुपये का भुगतान करना होता है.

ये भी पढ़ें: कैबिनेट का बड़ा फैसला! 80 करोड़ लोगों को मिलेगा 2 रुपये किलो गेहूं, 3 रुपये किलो चावल

बता दें कि केंद्र सरकार ने घोषणा की थी कि 25 मार्च से 31 के बीच कोई भी घरेलू उड़ान नहीं चलेगी. इसके एक दिन बाद एयरलाइन ने यह घोषणा की है. सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को पहले से ही 29 मार्च तक के लिए रद्द कर दिया है.



कर्मचारियों की मार्च की सैलरी में कटौती करेगी GoAir
कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप के चलते एविएशन सेक्टर के रेवेन्यू पर बड़ी मार पड़ी है. इसके चलते लो कॉस्ट एयरलाइन गोएयर (GoAir) ने बुधवार को मार्च की अपने सभी कर्मचारियों की सैलरी में कटौती की घोषणा की है. गोएयर के सीईओ विनय दुबे ने बुधवार को इसकी जानकारी दी. बता दें कि गोएयर ने पहले ही लागत में कटौती के कुछ उपाय किए हैं. इन उपायों में पायलटों की छुट्टी करना, कर्मचारियों को क्रमिक रूप से अवैतनिक अवकाश पर जाने के लिए कहना और शीर्ष नेतृत्व के वेतन में 50 प्रतिशत तक कटौती का फैसला शामिल है.

ये भी पढ़ें: COVID-19: Paytm ने शुरू की नई सर्विस, करोड़ों ग्राहकों को होगा फायदा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 5:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर