Rules for Flight Passengers: हवाई सफर के दौरान जानिए केबिन बैगेज में कितना ले जा सकते हैं सामान

Rules for Flight Passengers: हवाई सफर के दौरान जानिए केबिन बैगेज में कितना ले जा सकते हैं सामान
हवाई सफर के दौरान जानिए केबिन बैगेज में कितना ले जा सकते हैं सामान, जानिए रूल

कोरोना वायरस महामारी के इस दौर में कई जगह नियमों में बदलाव हो गया है. ऐसे ही देश में एयर लाइंस कंपनियों ने भी कई तरह के नियमों में (Flight Rules Changed) बदलाव कर दिया है. ऐसे में अगर आप फ्लाइट पकड़ने जा रहे हैं तो आपके लिए कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिससे आपको काफी सहूलियत हो जाएगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी के इस दौर में कई जगह नियमों में बदलाव हो गया है. ऐसे ही देश में एयर लाइंस कंपनियों ने भी कई तरह के नियमों में (Flight Rules Changed) बदलाव कर दिया है. ऐसे में अगर आप फ्लाइट पकड़ने जा रहे हैं तो आपके लिए कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिससे आपको काफी सहूलियत हो जाएगी.

कोरोना महामारी में मिली ये छूट
आमतौर पर अगर आप हवाई सफर कर रहे हैं तो आपको लिक्विड ले जाने की मात्रा 100 ml तक ले जाने की छूट है. कोरोना वायरस के इस दौर में सैनिटाइजर भी ले जाने की छूट मिली हुई है. लेकिन क्या आपको पता है कि सैनिटाइजर की कितनी बड़ी बॉटल ले जा सकते हैं. दरअसल पहले 100 ml तक ले जाने की छूट थी. अब इस छूट को बढ़ाकर 350 ml की सैनिटाइजर की बॉटल आप अपने कैबिन बैगेज में ले जा सकते हैं. बाकी कोई भी लिक्विड है वो 100 ml तक ही ले जा सकते हैं.

किसानों के लिए अलर्ट! 7 दिन के अंदर बैंक को वापस कर दें कर्ज का पैसा वरना...
वहीं दूसरा एक नियम ये भी है कि अगर आप डोमेस्टिक फ्लाइट में सफर कर रहे हैं या फिर वंदे भारत मिशन के तहत सफर कर रहे हैं तो आपको अपना भारत का मोबाइल नंबर देना होगा. ऐसा इसलिए कि सभी एयरलाइंस कंपनियां अपने यात्रियों का ब्योरा रख रही हैं ताकि जरूरत पड़ने पर यात्रियों से संपर्क किया जा सके.



किसी तरह की परेशानी पर केबिन क्रू को दें जानकारी
अगर हवाई सफर के दौरान आप किसी तरह की परेशानी का सामना कर रहे हैं तो आपको केबिन क्रू को सूचित करना होगा. अगर आपको बुखार, सिर दर्द, जी मिचलाना, सांस लेने में तकलीफ जैसी कोई परेशानी है तो आप तुरंत केबिन क्रू को सूचित कीजिए. क्योंकि केबिन क्रू को इन सब चीजों से निपटने के लिए खास तरह की ट्रेनिंग की जाती है. यहां तक कोरोना के लक्षण दिखने पर भी यात्रियों को कैसे संभालना है, इसकी ट्रेनिंग दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज