एविएशन सेक्टर में नौकरियों पर मंडरा रहा खतरा! हॉट करियर आप्शन पर लगा ब्रेक, एडमिशन में आई 30% की गिरावट

एविएशन सेक्टर में नौकरियों पर मंडरा रहा खतरा! हॉट करियर आप्शन पर लगा ब्रेक, एडमिशन में आई 30% की गिरावट
एविएशन से जुड़ी नौकरियां कभी सबसे हॉट करियर ऑप्शन माना जाता था

पायलट और एयर होस्टेस जैसी एविएशन से जुड़ी नौकरियां कभी सबसे हॉट करियर ऑप्शन मानी जाती थी. आकाश में उड़ने के रोमांच के साथ अच्छा वेतन भी. लेकिन एविएशन सेक्टर में हाल की कुछ घटनाओं ने इन नौकरियों पर संकट पैदा कर दिया है.

  • Share this:
रोहन सिंह...

हाल ही में एयर इंडिया (Air India) ने अपने कर्मचारियों को बिना वेतन के लंबी छुट्टी पर भेजने का फैसला किया है. और साथ ही उनके भत्ते भी काट दिए हैं. पायलटों का यहां तक कहना है कि उनके भत्तों में करीब 85% कटौती की गई है. कई सालों का अनुभव रखने वाले पायलट भी अपने भविष्य को लेकर आशंकित हैं. इंडिगो (Indigo) ने भी अपने 10% कर्मचारियों की छंटनी कर दी. इनमें कई एयर होस्टेस, केबिन क्रू और ग्राउंड हैंडलिंग स्टॉफ है. इस समय पूरा एविएशन सेक्टर संकट से गुजर रहा है और इन कर्मचारियों को जल्द नौकरियां मिलने की उम्मीद नहीं है. अंतर्राष्टरीय उड़ानों पर भी अनिश्चित समय तक के लिए रोक लगी है और सभी एयरलाइंस कर्मचारियों के वेतन को कम कर रहे हैं.

इन सब खबरों का असर एविएशन में करियर बनाने की चाह रखने वाले छात्रों पर भी हुआ है. यह समय कोर्सेस की ट्रेनिंग के लिए एप्लीकेशन्स का होता है मगर इस बार छात्र फॉर्म भरने से डर रहे हैं. देश की सबसे बड़ी क्रू ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट फ्रैंकफिन इंस्टीट्यूट ऑफ एयर होस्टेस ट्रेनिंग के डायरेक्टर, सेल्स एंड ऑपरेशन्स अंशुल गौबा का कहना है, "इसमें कोई शक नहीं है कि कोरोना की वजह ेस पूरे एविएशन इंडस्ट्री पर बहुत फर्क पड़ा है. एविएशन सेक्टर से जुड़ी ट्रेनिंग इंडस्ट्री पर भी फर्क पड़ा है. फ्रैंकफिन के एडमिशन नंबर पिछले साल से कम  हैं."



ये भी पढ़ें : नवंबर तक ज्यादा किराया नहीं वसूली सकेंगी विमान कंपनियां, कैपिंग डेडलाइन बढ़ी
सिर्फ दिल्ली मुंबई जैसे महानगर नहीं बल्कि देश के छोटे शहरों में भी इन कोर्सेज के लिए कई संस्थान खुल गए हैं. मगर इस साल उनके लिए भी चालू रहना मुश्किल हो रहा है. गुवाहाटी की केबिन क्रू ट्रेनर संगीता पठानिया का  कहना है - छात्र अपनी 12वीं के नतीजों के बाद इन इंस्टीट्यूट में ऐडमिशन लेने की तैयारी करते हैं. लेकिन इस समय छात्र अनिश्चितता से भरे हैं. संस्थानों के लिए  छात्रों को क्लासरूम ट्रेनिंग देना मुश्किल हो रहा है. इंडिगो और एयर इंडिया से जुड़ी खबरें भी छात्रों का मनोबल गिरा रही हैं. पायलट ट्रेनिंग के कई कोर्स को या तो टाल दिया गया है या ऑनलाइन व्यवस्था की गई है.

ये भी पढ़ें : खुशखबरी! WhatsApp पर 24 घंटे खुलेगा ये बैंक, एक मैसेज पर मिलेंगी कई सर्विसेज

देश भर में फैले केबिन क्रू इंस्टीट्यूट के लिए अप्लाई करने वाले छात्रों की संख्या में 30% की गिरावट हुई है. मशहूर  केबिन क्रू ट्रेनरसवि भल्ला, का कहना है - जो स्टूडेंट एविएशऩ में इंटरेस्ट रखता था वो डर चुका है कि आगे जाकर मेंरा कोई फ्यूचर है या नहीं ....मेरे बहुत सारे स्टूडेंट्स को डाउट है कि क्या हम आगे जाकर केबिन क्रू बन सकते हैं. पेरेंट्स को डर हो गया है और बहुत लोग जे एडमिशन ले रहे थे वे रुक चुके हैं. कोरोना महामारी एविएशन जैसे सबसे हॉट करियर आप्शन पर ब्रेक जरूर लगा दिया है लेकिन इन ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट को उम्मीद है कुछ महीनों में स्थिति  बेहतर जरूरत होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading