लॉकडाउन में ये ऐप बना किसानों की पहली पसंद, फसल बेचने की समस्या हुई दूर

लॉकडाउन में ये ऐप बना किसानों की पहली पसंद, फसल बेचने की समस्या हुई दूर
जल संकट से निपटने के लिए किसानों को प्रोत्साहन देने की योजना

लॉकडाउन के दौरान कृषि उत्पादों के परिवहन हेतु 'किसान रथ' मोबाइल ऐप बना किसानों और व्यापारियों की पहली पसंद बना है. लॉन्च होने के एक हफ्ते के अंदर ही 1.5 लाख से अधिक किसानों और व्यापारियों ने ऐप पर पंजीकरण कराया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2020, 10:55 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से निपटने के लिए जारी देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान किसानों को राहत देने के लिए सरकार ने 'किसान रथ' (Kisan Rath) मोबाइल ऐप लॉन्च किया था. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान कृषि उत्पादों के परिवहन हेतु 'किसान रथ' मोबाइल ऐप बना किसानों और व्यापारियों की पहली पसंद बना है. लॉन्च होने के एक हफ्ते के अंदर ही 1.5 लाख से अधिक किसानों और व्यापारियों ने ऐप पर पंजीकरण कराया. बता दें कि पिछले हफ्ते कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 'किसान रथ' मोबाइल ऐप को लॉन्च किया था ताकि किसान कोविड-19 (COVID-19) के कारण जारी लॉकडाउन के दौरान अपना माल घर मंडियों तक आसानी से पहुंचा सकें.

80 हजार से ज्यादा किसानों ने उठाया लाभ
कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. ट्वीट के मुताबिक, किसान रथ मोबाइल ऐप पर अब तक 80,474 किसान और 70581 व्यापारी पंजीकरण कर चुके हैं. कृषि मंत्रालय ने कहा कि 5 ऑनलाइन ट्रक बुकिंग कंपनियों ने 5.7 लाख से अधिक ट्रकों को ऐप्प पर सूचीबद्ध किया है. नई प्रणाली से किसानों, ट्रांसपोर्टरों और एग्रीगेटर्स और सरकार सबके लिए लाभ होनेकी उम्मीद है. ये भी पढ़ें: Akshaya Tritiya 2020: यहां बिकता है एक रुपये का 24 कैरेट सोना, घर बैठे खरीदें





ऐप ऐसे करेगा काम
किसान रथ ऐप पर किसानों को माल की मात्रा का का ब्यौरा देना होगा. उसके बाद परिवहन सुविधाएं उपलब्ध कराने वाली नेटवर्क कंपनी किसानों को उस माल को पहुंचाने के लिए ट्रक और किराये का ब्यौरा दिया जाएगा. पुष्टि मिलने के बाद, किसानों को ऐप पर ट्रांसपोर्टरों का विवरण मिलेगा और वे ट्रांसपोर्टरों के साथ बातचीत कर सकते हैं और उपज को मंडी तक पहुंचाने के लिए सौदे को अंतिम रूप दे सकते हैं.

ऐसे करें रजिस्ट्रेशन
किसान रथ ऐप को एंड्रॉयड मोबाइल फोन पर प्ले स्टोर से डाउनलोड कर इंस्टाल करें. इसके बाद ऐप को खोलने पर भाषा का चयन करें. इसके बाद वहां फॉर्मर, ट्रेडर व सर्विस प्रोवाइडर नाम से तीन विकल्प दिखेंगे. किसानों को फॉर्मर पर क्लिक करके ऑनलाइन लॉगिन करना है. इसके बाद रजिस्टर पर क्लिक करके नाम, पता, मोबाइल नंबर, जिला, तहसील व राज्य आदि जानकारी भरनी है. सबमिट करते ही किसान का रिजस्ट्रेशन हो जाएगा.

ये भी पढ़ें:

लॉकडाउन के बीच आपका बैंक मुफ्त में दे रहे हैं ये तीन सर्विस, जानिए इनके बारे में सबकुछ

इस भारतीय शख्स को मिलती है दुनिया में सबसे ज्यादा सैलरी, हर दिन कमाते हैं 5.4 करोड़ रुपये
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज