सिप्ला, हेटेरो ड्रग्स के बाद इस कंपनी ने भारत में लॉन्च की कोरोना की दवा DESREMTM, इतनी है कीमत

सिप्ला, हेटेरो ड्रग्स के बाद इस कंपनी ने भारत में लॉन्च की कोरोना की दवा DESREMTM, इतनी है कीमत
सिप्ला, हेटेरो ड्रग्स के बाद Mylan ने भारत में लॉन्च की कोरोना की दवा DESREMTM

हेटेरो ड्रग्स लिमिटेड (Hetero Drugs Ltd) और सिप्ला लिमिटेड (Cipla Ltd) के बाद लॉन्च होने वाली यह तीसरी लाइसेंस प्राप्त जेनेरिक दवा है. इस दवा को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने जून की शुरुआत में मंजूरी दी थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. ग्लोबल फार्मास्युटिकल कंपनी Mylan ने सोमवार को कोविड-19 (COVID-19) के गंभीर लक्षणों वाले रोगियों के लिए भारत में DESREMTM ब्रांड नाम से अपने रेमेडेसिवीर के कमर्शियल लॉन्च की घोषणा की. हेटेरो ड्रग्स लिमिटेड (Hetero Drugs Ltd) और सिप्ला लिमिटेड (Cipla Ltd) के बाद लॉन्च होने वाली यह तीसरी लाइसेंस प्राप्त जेनेरिक दवा है. इस दवा को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने जून की शुरुआत में मंजूरी दी थी. Mylan ने अपने जेनेरिक रेमेडेसिवीर का पहला बैच जारी किया और कहा कि यह दवा की बढ़ती मांग के मद्देनजर पूरे देश में इसकी आपूर्ति बढ़ाता रहेगा.

ग्लोबल फार्मा कंपनी बेंगलुरु में अपनी इंजेक्टेबल सुविधा पर DESREMTM का निर्माण करेगी. Mylan भारत में दवा की मार्केटिंग करेगी और अन्य बाजारों को एक्सपोर्ट भी करेगी. इसके लिए उसने गिलियड साइंसेज इंक (Gilead Sciences Inc) से t लाइसेंस प्राप्त किया है.

गिलियड ने भारत सहित 127 निम्न और मध्यम आय वाले देशों में अपनी नोवेल दवा के जेनेरिक लाइसेंस और इसकी बिक्री के लिए मई में Mylan, सिप्ला, हेटेरो ड्रग्स, जुबिलेंट लाइफ साइंसेज लिमिटेड और पाकिस्तान स्थित फिरोजंस लैबोरेट्रीज लिमिटेड के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. इसने बाद में चार अन्य कंपनियों के साथ एक ही समझौते पर हस्ताक्षर किया, ताकि महत्वपूर्ण दवा तक पहुंच में सुधार हो सके.



यह भी पढ़ें- अच्छी खबर! Covid-19 के असर से किसानों की आमदनी बचाने के लिए सामने आए ये 6 तरीके
कितनी होगी कीमत
सिप्ला ने अपने रेमेडेसिवीर ‘Cipremi’ की कीमत 4,000 रुपए प्रति शीशी रखी है, जबकि हेटेरो ड्रग्स ने अपने ब्रांड ‘कोविफर’ (Covifor) की कीमत 5,400 रुपए प्रति शीशी रखी है. Mylan ने अपने प्रोडक्ट की कीमत 4,800 रुपए प्रति पीस रखी है. रेमेडेसिवीर के साथ उपचार में दवा की छह शीशियां शामिल हैं.

अमेरिकी फार्मा गिलियड ने वैकल्पिक दवा की खोज होने तक फार्मा कंपनियों को रॉयल्टी मुक्त आधार पर लाइसेंस दिया है या विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) जबतक कोविड-19 को सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल की समाप्ति की घोषणा नहीं करती है, तब तक लाइसेंस रॉयल्टी-मुक्त होते हैं या कोरोना महामारी को रोकने के लिए रेमडेसिविर के बजाय कोई अन्य औषधि उत्पाद या वैक्सिन को मंजूरी नहीं मिल जाती है, या दोनों में से जो पहले होता है. इसके साथ ही कंपनियों को अपने उत्पादों की कीमत तय करने की छूट दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading