Home /News /business /

कोरोना वायरस- कारोबारियों के लिए SBI की बड़ी स्कीम, ले सकेंगे 200 करोड़ तक का इमरजेंसी कर्ज

कोरोना वायरस- कारोबारियों के लिए SBI की बड़ी स्कीम, ले सकेंगे 200 करोड़ तक का इमरजेंसी कर्ज

200 करोड़ रुपये तक की धनराशि मुहैया कराई जाएगी

200 करोड़ रुपये तक की धनराशि मुहैया कराई जाएगी

एसबीआई ने शुक्रवार को परिपत्र जारी कर रहा कि कोविड-19 आपातकालीन ऋण सुविधा (सीईसीएल) नाम से अतिरिक्त नकदी सुविधा की शुरुआत की गई है, जिसके तहत 200 करोड़ रुपये तक की धनराशि मुहैया कराई जाएगी

    मुंबई. देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई यानी भारतीय स्टेट बैंक (SBI-State Bank of India)  ने कोरोना वायरस महामारी के चलते प्रभावित हो रहे व्यापार के मद्देनजर आपातकालीन ऋण सुविधा (Emergency Loan Scheme Service) की शुरुआत की है, ताकि ग्राहकों की नकदी की कमी को पूरा किया जा सके. एसबीआई ने शुक्रवार को परिपत्र जारी कर रहा कि कोविड-19 आपातकालीन ऋण सुविधा (सीईसीएल) नाम से अतिरिक्त नकदी सुविधा की शुरुआत की गई है, जिसके तहत 200 करोड़ रुपये तक की धनराशि मुहैया कराई जाएगी और यह सुविधा 30 जून 2020 तक उपलब्ध होगी.

    इसके तहत 12 महीने की अवधि के लिए 7.25 प्रतिशत की ब्याज दर पर कर्ज दिया जाएगा. बैंक ने सभी शाखाओं को भेजे परिपत्र में कहा, जिन उधार लेने वालों का कारोबार कोविड-19 से प्रभावित हुआ है उन्हें कुछ हद तक राहत देने के लिए यह फैसला किया गया है कि योग्य कर्जदारों को अतिरिक्त तरलता ऋण सुविधा मुहैया कराई जाए. सीईसीएल मौजूदा संकट की स्थिति पर काबू पाने में करने में मदद करेगा.

    बैंक ने कहा कि ऋण सुविधा उन सभी मानक खातों के लिए उपलब्ध है, जिन्हें 16 मार्च 2020 तक एसएमए 1 या 2 के रूप में वर्गीकृत नहीं किया गया है, वे इस ऋण सुविधा का लाभ उठा सकते हैं.

    विशेष उल्लेख खाता (एसएमए) की शुरुआत ऐसे खातों की पहचान करने के लिये की गई जिनमें एनपीए अथवा दबाव वाली परिसंपत्ति बनने की संभावना लगती है.

    Tags: Business news in hindi, Corona, Corona Virus, Largest lender SBI, Sbi, SBI Bank, SBI loan, SBI Quick, Sbi share price

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर