दिसंबर 2020 तक आ जाएगी कोविड-19 की वैक्‍सीन! सुरक्षित टीका लाने पर सीरम इंडिया का जोर

दिसंबर 2020 तक आ जाएगी कोविड-19 की वैक्‍सीन! सुरक्षित टीका लाने पर सीरम इंडिया का जोर
सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदर पूनावाला ने कहा कि कंपनी साल 2020 के आखिर तक कोविड-19 की वैक्‍सीन तैयार कर लेगी.

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के सीईओ अदर पूनावाला (CEO Adar Poonawala) ने कहा कि हम कोरोना वायरस की सुरक्षित वैक्‍सीन (Corona Vaccine) लाने पर ध्यान दे रहे हैं. हम हड़बड़ी में नही हैं, फिर भी इस साल के अंत तक वैक्‍सीन पेश कर देंगे.

  • Share this:
पुणे. कोरोना वायरस की वैक्‍सीन (Corona Vaccine) बनाने और इलाज ढूंढने के लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक व शोधकर्ता दिनरात जुटे हुए हैं. कई देशों में वैक्‍सीन बन चुकी है और परीक्षण के अलग-अलग चरणों से गुजर रही है. वहीं, ब्रिटेन की ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) की वैक्‍सीन का ह्यूमन ट्रायल (Human Trials) चल रहा है. ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने वैक्‍सीन के उत्‍पादन के लिए पुणे की कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से समझौता किया है. सीरम इंडिया ने उम्मीद जताई है कि उसे साल 2020 के अंत तक कोविड-19 की वैक्‍सीन (COVID-19 Vaccine) लाने में सफलता मिल जाएगी.

'हम किसी तरह की हड़बड़ी नहीं करना चाहते हैं'
कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदर पूनावाला (CEO Adar Poonawala) ने कहा कि हम एक अच्छा और सुरक्षित उत्पाद (Safe Product) लाने पर ध्यान दे रहे हैं. इसलिए हम किसी भी तरह की हड़बड़ी नहीं करना चाहते हैं. पूनावाला ने माईलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस की कॉम्पैक्ट डायग्नॉस्टिक मशीन 'कॉम्पैक्ट एक्सएल' की शुरुआत के मौके पर यह बात कही. COVID-19 वैक्‍सीन के विकास के सवाल पर पूनावाला ने कहा कि सीरम इंडिया साल 2020 के आखिर तक इसे तैयार कर लेगी.

ये भी पढ़ें- मध्‍य प्रदेश के बासमती चावल को GI टैग दिलाने के लिए लड़ रही है शिवराज सरकार, 7 राज्‍यों से चल रहा है विवाद
सुरक्षित वैक्‍सीन का भरोसा होने पर ही करेंगे घोषणा


पूनावाला ने कहा, साल के अंत तक हम इसके टीके की उम्मीद कर रहे हैं. इस वैक्‍सीन के तीसरे चरण के परीक्षण पर हम बात करेंगे. हाल के समय में इस टीके के एक और 'कैंडीडेट' की चर्चा हुई है, जिसके लिए होड़ है. हम हड़बड़ी में नहीं हैं. हमारा ध्यान सुरक्षा और दक्षता पर है. जब हमें अच्छे और सुरक्षित वैक्‍सीन के बारे में भरोसा हो जाएगा, तब हम इसकी घोषणा करेंगे. हालांकि, इसमें अभी छह महीने का समय लगेगा. पूनावाला ने कहा कि वैक्‍सीन आने से पहले के परीक्षण महत्वपूर्ण हैं. इसीलिए सीरम इंस्टिट्यूट ने माईलैब में निवेश किया है.

ये भी पढ़ें- इन फंड्स में निवेश से हुए मुनाफे पर मिलेगी टैक्‍स छूट! CBDT ने जारी की अधिसूचना

साल के आखिर तक 40 करोड़ डोज उपलब्‍ध कराएगी कंपनी
सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ ब्रिटिश ड्रग कंपनी AstraZeneca ने करार किया है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर यह कंपनी कोरोना वायरस वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) का ट्रायल कर रही है. करार के तहत वह सीरम इंस्टीट्यूट को 1 अरब डोज सप्लाई करेगी. इसके तहत सीरम इस साल के अंत तक 40 करोड़ वैक्सीन डोज उपलब्ध कराएगी. इन दोनों दिग्गज कंपनियों के बीच इस डील की सबसे खास बात है कि करोड़ों भारतीयों को 2020 के पहले कोविड-19 वैक्सीन मिल सकती है.

ये भी पढ़ें- अब आरोग्‍य संजीवनी पॉलिसी में मिलेगा 5 लाख रुपये से ज्‍यादा का कवर! IRDA ने फिर से लॉन्‍च करने का दिया निर्देश

कई कंपनियों के साथ सीरम ने की डील
कोरोना वायरस महामारी फैलने के बाद हाल के महीने में 50 साल पुरानी इस कंपनी ने कई अन्य कंपनियों के साथ भी पार्टनरशिप की है. सीरम ने USA की बायोटेक फर्म Codagenix के साथ लाइव वैक्सीन के लिए भी करार किया है. यह वैक्सीन कमजोर कोरोना वायरस से बन रहा है ताकि मानव शरीर में इससे नुकसान न हो और प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़े. सीरम इस कंपनी के क्लिनिकल ट्रायल, मैन्यफैक्चरिंग और डिस्ट्रीब्युशन में इनवेस्ट करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading