Covid Aid: भारत की मदद को आगे आया GE Foundation, देगा 4.5 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता

GE Foundation ने कोरोना संकट से निपटने के लिए भारत की आर्थिक मदद करने का ऐलान किया है.

GE Foundation ने कोरोना संकट से निपटने के लिए भारत की आर्थिक मदद करने का ऐलान किया है.

जीई फाउंडेशन (GE Foundation) ने कहा कि कोविड-19 से निपटने के लिए वह गैर-सरकारी संगठन यूनाइटेड वे-बेंगलुरु को 4.50 लाख डॉलर (Covid Aid) की मदद देगा. ये रकम बेंगलुरु के सेंट जॉन्स अस्पताल में 60 आईसीयू बनाने में इस्‍तेमाल की जाएगी. इसके अलावा हर महीने 600 कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए नर्सिंग और ऑक्सीजन भी उपलब्‍ध कराएगा.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के कारण भारत में हर दिन संक्रमण के लाखों मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में दुनियाभर से भारत को अलग-अलग तरह से मदद मिल रही है. कुछ देशों ने भारत को ऑक्‍सीजन कंसंट्रेटर (Oxygen Concentrators) उपलब्‍ध कराए तो कुछ ने ऑक्‍सीजन ढुलाई के लिए टैंकर्स दिए. इसी कड़ी में अब जनरल इलेक्ट्रिकल फाउंडेशन (GE Foundation) ने भारत में कोविड-19 को काबू करने के लिए किए जा रहे प्रयासों में सहायता के लिए 4.5 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद (Financial Assistance) करने की घोषणा की है.

जीई फाउंडेशन एनजीओ यूनाइटेड वे-बेंगलुरु को देगी बड़ी रकम

जीई फाउंडेशन ने कहा कि कोविड-19 से निपटने के लिए वह गैर-सरकारी संगठन यूनाइटेड वे-बेंगलुरु को 4,50,000 डॉलर की मदद देगा. ये रकम बेंगलुरु के सेंट जॉन्स अस्पताल में 60 आईसीयू बनाने में इस्‍तेमाल की जाएगी. फाउंडेशन ने कहा कि वह हर महीने 600 कोरोना संक्रमित मरीजों की देखभाल के लिए नर्सिंग और ऑक्सीजन भी उपलब्‍ध कराएगा. इसके अलावा गंभीर रूप से बीमार कोरोना पीड़ितों के लिए आईसीयू बेड भी उपलब्ध कराएगा. वहीं, बाकी 1.50 लाख डॉलर स्वास्थ सेवाएं उपलब्‍ध कराने वाली अमेरिकेयर्स कंपनी को दी जाएगी. ये कंपनी वडोदरा, नोएडा, पुणे, हैदराबाद और चेन्‍नई के अस्पतालों में 100 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर देगी.

ये भी पढ़ें- Taxpayers के लिए कोरोना संकट के बीच बड़ी राहत! CBDT ने बढ़ा दी ITR फाइल करने की डेडलाइन, चेक करें नई डेट्स
मरीजों को समय पर मेडिकल हेल्‍प उपलब्‍ध कराने में होगी मदद

जनरल इलेक्ट्रिकल के दक्षिण एशिया के अध्यक्ष और सीईओ महेश पलाशिकर ने कहा, 'हमारा मानना है कि यह डोनेशन भारत में कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों को समय पर मेडिकल हेल्‍प देने में मदद करेगा. आक्सीजन कंसंट्रेटर्स और संबंधित आपूर्ति से अगले छह महीने में करीब 2,500 मरीजों को मदद मिलेगी.' जीई फाउंडेशन यूनाइटेड वे-बेंगलुरु के कार्यकारी निदेशक राजेश कृष्‍णन ने कहा कि भारत कोविड- 19 महामारी की दूसरी लहर का सामना कर रहा है. ऐसे में यह काफी महत्वपूर्ण है कि तुरंत महसूस की जाने वाली जरूरत और मध्यम से दीर्घकालिक जरूरतों के बीच संतुलन साधा जाए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज