आपका हर CRED Coin ऑक्‍सीजन पहुंचाकर कोरोना मरीजों की बचाएगा जान, जानें कैसे करें दान

अगर कोई यूजर 10 हजार CRED Coin दान करेगा तो कोरोना मरीजों को 1,000 लीटर ऑक्‍सीजन मिलेगी.

अगर कोई यूजर 10 हजार CRED Coin दान करेगा तो कोरोना मरीजों को 1,000 लीटर ऑक्‍सीजन मिलेगी.

अगर आप भी अपने क्रेडिट कार्ड का भुगतान क्रेड ऐप (CRED App) से करते आए हैं तो उसके बदले मिलने वाले प्‍वांट्स (Credit Card Payment Points) को आप डोनेट (Donate) कर सकते हैं. इससे कोरोना मरीजों तक ऑक्‍सीजन (Medical Oxygen) पहुंचाई जाएगी. क्रेड ऐप 3 मई से अपडेट करेगा कि वो कैसे मिलाप के साथ अस्‍पतालों तक ऑक्‍सीजन कंसंट्रेटर्स पहुंचा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 7:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना मरीजों की तेजी से बढ़ती संख्‍या के बीच लोग अपने-अपने तरीके से मदद कर रहे हैं. अगर आप भी इस मुश्किल दौर में मरीजों की मदद करना चाहते हैं तो आपको घर से बाहर निकलने का जोखिम उठाने की भी जरूरत नहीं है. आप घर बैठे-बैठे ही लोगों की मदद कर सकते हैं. दरअसल, अगर आप भी अपने क्रेडिट कार्ड का भुगतान (Credit Card Payments) क्रेड ऐप (CRED App) के जरिये करते आए हैं तो इसके बदले आपको कुछ प्‍वाइंट्स मिलते रहे होंगे. आपको बस यही क्रेड क्‍वाइंस डोनेट (Donate CRED Coins) करने हैं और जरूरतमंद मरीजों तक ऑक्‍सीजन (Oxygen) पहुंचा दी जाएगी. दरअसल, क्रेड ऐप ने देश के बड़े हेल्‍थकेयर फंड जुटाने वाले प्‍लेटफॉर्म मिलाप (Milap) के साथ इस काम के लिए साझेदारी की है.

फंड जुटाने वाला प्‍लेटफॉर्म मिलाप पहुंचाएगा अस्‍पतालों तक ऑक्‍सीजन

क्रेड यूजर्स (CRED Users) अपने क्रेड क्‍वाइंस को ऑक्‍सीजन दान (Donate Oxygen) करने के लिए स्‍वैप कर सकते हैं. क्रेड ने बताया कि हर बार यूजर्स की ओर से किए जाने वाले डोनेशन को मिलाप ऑक्‍सीजन कंसंट्रेटर्स खरीदकर देशभर के अस्‍पतालों तक पहुंचाने में इस्‍तेमाल करेगा. अगर आपको ये चिंता है कि ये बाकी पैसे जुटाने वाली संस्‍थाओं की तरह पारदर्शी नहीं होगा तो आपको इसकी फिक्र करने की जरूरत नहीं है. दरअसल, 3 मई से क्रेड ऐप हर दिन रिपोर्ट (Daily Report) जारी करेगा कि कैसे इस पहल के तहत देशभर के अस्‍पतालों तक ऑक्‍सीजन पहुंचाई जा रही है.

ये भी पढ़ें- Elon Musk की कार कंपनी टेस्‍ला ने महज दो महीने में बिटक्‍वाइन से की करोड़ों डॉलर की कमाई, जानें कैसे
किन मरीजों के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है ऑक्‍सीजन कंसंट्रेटर

क्रेडिट कार्ड पेमेंट ऐप ने बताया कि जहां ऑक्‍सीजन सिलेडर में लिक्विड मेडिकल ऑक्‍सीजन होती है, वहीं ऑक्‍सीजन हवा से ऑक्‍सीजन को अलग कर मेडिकल इस्‍तेमाल के लायक बनाता है. यही नहीं, ये कंसंट्रेटर नाइट्रोजन कंटेंट को वापस हवा में छोड़ देता है. इसके अलावा सिलेंडर को बार-बार रीफिल करने की जरूरत पड़ती है, जबकि कंसंट्रेटर में ऐसी को आवश्‍यकता नहीं पड़ती है. हालांकि, कंसंट्रेटर्स सिर्फ माइल्‍ड या मॉडरेट वायरस इंफेक्‍शन वाले कोरोना मरीजों के लिए ही इस्‍तेमाल किया जा सकता है. इसमें ऑक्‍सीजन डिलिवरी की रफ्तार इतनी होती है कि इसे आईसीयू केयर वाले कोरोना मरीजों के लिए इस्‍तेमाल नहीं किया जा सकता है. वहीं, इसे 80 फीसदी या इससे ज्‍यादा ब्‍लड ऑक्‍सीजन लेवल वाले मरीजों के लिए ही इस्‍तेमाल किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोना के दाम में आया उछाल, चांदी हुई महंगी, फटाफट देखें नए भाव



10 हजार क्‍वाइंस से मरीजों को मिलेगी 1,000 लीटर ऑक्‍सीजन

क्रेड ने बताया कि अगर आप 10,000 क्‍वाइंस डोनेट करते हैं तो कोरोना मरीजों को 1,000 लीटर ऑक्‍सीजन मिलेगी. तो सोचिए मत और देखिए कि आपके पास कितने क्रेड क्‍वाइंस पड़े हैं. जैसे-जैसे क्रेड ऐप के पास ये क्‍वाइंस इकट्ठे होते जाएंगे, कोरोना मरीजों के लिए हजारों लीटर ऑक्‍सीजन का इंतजाम होता जाएगा. इसके लिए आपको सिर्फ कॉन्‍ट्रीब्‍यूट ऑप्‍शन पर क्लिक करना होगा. बता दें कि क्रेड ऐप के जरिये चुकाए गए क्रेडिट कार्ड पेमेंट के हर रुपये में एक क्रेड क्‍वाइन यूजर्स को मिलता है. इस समय आपकी ओर से दान किया गया हर क्रेड क्‍वाइन किसी की जिंदगी बचा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज