Home /News /business /

क्रेडिट कार्ड के भुगतान में देरी पर हो सकता है बड़ा नुकसान, जानें पेमेंट के नियम

क्रेडिट कार्ड के भुगतान में देरी पर हो सकता है बड़ा नुकसान, जानें पेमेंट के नियम

क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान हमेशा समय के भीतर ही करना चाहिए. इससे आपका क्रेडिट स्कोर सही होता है. (Image-Pixabay)

क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान हमेशा समय के भीतर ही करना चाहिए. इससे आपका क्रेडिट स्कोर सही होता है. (Image-Pixabay)

क्रेडिट कार्ड के फायदे बहुत हैं, लेकिन जरा सी लापरवाही आपके लिए ये बहुत ज्यादा नुकसानदायक साबित होता है. क्रेडिट कार्ड के बिल का समय पर भुगतान नहीं करने पर आपको अधिक ब्याज का भुगतान करना पड़ता है.

    Credit Card Bill Payment: क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल लगातार बढ़ता ही जा रहा है. बहुत से लोग कई-कई क्रेडिट कार्ड रखते हैं. कुछ लोगों के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल फैशन और स्टेट्स सिंबल भी है. क्रेडिट कार्ड के आधार पर आप बिना पैसे के भी सामान खरीद सकते हैं. किसी को भुगतान कर सकते हैं और बिल आदि जमा कर सकते हैं. बाद में आप क्रेडिट कार्ड का भुगतान कर सकते हैं. क्रेडिट कार्ड का सबसे बड़ा फायदा होता है कि आपको करीब 50 दिनों तक का बिना ब्याज भुगतान का समय मिलता है.

    क्रेडिट कार्ड के फायदे बहुत हैं, लेकिन जरा सी लापरवाही आपके लिए ये बहुत ज्यादा नुकसानदायक साबित होता है. क्रेडिट कार्ड के बिल का समय पर भुगतान नहीं करने पर आपको अधिक ब्याज का भुगतान करना पड़ता है.

    क्रेडिट कार्ड बिल भुगतान (Credit card bill payment)
    क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान करते समय आपको तीन ऑप्शन दिखाई देता है. पहला- टोटल बिल का भुगतान, दूसरा- मिनिमम अमाउंट और तीसरा है- अंडर अमाउंट.

    यह भी पढ़ें- ग्राहकों से कैरी बैग का पैसा वसूलने वालों को झटका, सख्त हुई NCDRC, देना होगा जुर्माना

    कायदा तो यह कहता है कि क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान हमेशा समय के भीतर ही करना चाहिए. इससे आपका क्रेडिट स्कोर सही होता है, आपको अतिरिक्त ब्याज का भुगतान नहीं करना पड़ता और सबसे बड़ा फायदा टेंशन से दूर रहना. अगर आप किसी वजह से क्रेडिट कार्ड के पूरे बिल का भुगतान नहीं कर पा रहे हैं तो आपको मिनिमम अमाउंट भुगतान जरूर करना चाहिए.

    मिनिमम भुगतान करने से आप जुर्माने से बच सकते हैं. मिनिमम अमाउंट कुल बिल का 5 फीसदी होता है. इसमें मासिक किस्त का भुगतान अलग होता है. अगर आपके किसी सामान की ईएमआई 2000 रुपये हैं और आपने इस दौरान 5000 रुपये की कोई शॉपिंग कर ली है तो आपको मिनिमम 5200 रुपये का भुगतान करना होगा.

    हालांकि, EMI का अमाउंट एडिशनल होगा. उदाहरण के तौर पर अगर हर महीने एक फोन की ईएमआई 5000 रुपए है और उस महीने आपने 10 हजार की शॉपिंग की है तो मिनिमम अमाउंट 5500 रुपए (5000+500) होगा.

    यह भी पढ़ें- क्रिप्टो निवेशक सावधान हो जाएं, निवेशकों को क्रिप्टोकरेंसी घोटाले के जरिये लगाया गया सबसे अधिक ‘चूना’

    पेमेंट साइकिल
    भुगतान की तय तारीख के तीन दिन बाद तक क्रेडिट कार्ड पेमेंट का मौका रहता है. इसके बाद भी अगर आप पेमेंट नहीं करते हैं तो लेट पेमेंट चार्ज किया जाता है. यह चार्ज बहुत अधिक होता है और यह चार्ज अगले बिल में शामिल किया जाता है.

    भुगतान में देरी का नुकसान
    क्रेडिट कार्ड का बिल जेनरेट हो जाने के बाद आपको भुगतान के लिए तीन सप्ताह का समय मिलता है. अगर आप मिनिमम पेमेंट करते हैं आपको फ्री ब्याज पीरियड का लाभ नहीं मिलेगा. जब तक पूरा पेमेंट नहीं कर दिया जाता है तब तक आपको इंट्रेस्ट फ्री पीरियड नहीं मिलेगा. उसके बाद हर भुगतान पर महीने का ब्याज लगेगा.

    आपको ब्याज का तब तक भुगतान करना होगा लागू होगा जब तक आप पूरा भुगतान नहीं कर देते हैं. इस तरह आप मिनिमम अमाउंट पेमेंट कर जुर्माने और लेट पेमेंट चार्ज से बच सकते हैं.

    Tags: Credit card, Credit card limit

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर