Home /News /business /

crude oil price benchmarks fall below 100 dollar per barrel first time in three weeks know all the details kcnd

Petrol-Diesel Price : जल्द मिलने वाली है पेट्रोल-डीजल पर राहत, Crude Oil की कीमतों में पहली बार आई बड़ी गिरावट

फरवरी अंत के बाद पहली बार ब्रेंट क्रूड और यूएस क्रूड फ्यूचर्स बेंचमार्क 100 डॉलर प्रति बैरल से नीचे आए हैं.

फरवरी अंत के बाद पहली बार ब्रेंट क्रूड और यूएस क्रूड फ्यूचर्स बेंचमार्क 100 डॉलर प्रति बैरल से नीचे आए हैं.

Crude Oil Price Fall Below 100 Dollar : पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों से जल्द राहत मिलने की उम्मीद है. इसकी वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आई बड़ी गिरावट है. कच्चे तेल की कीमतें 6 फीसदी से अधिक गिरकर तीन सप्ताह में पहली बार 100 डॉलर के नीचे पहुंच गईं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia-Ukraine War) के कारण पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों (Petrol-Diesel Price) से जल्द राहत मिलने की उम्मीद है. इसकी वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों (Crude Oil Price) में आई बड़ी गिरावट है. कच्चे तेल की कीमतें 6 फीसदी से अधिक गिरकर 100 डॉलर के नीचे पहुंच गईं. तीन सप्ताह में यह पहली बार है, जब कच्चा तेल इस स्तर पर पहुंचा है.

ऐसा तब हुआ, जब रूस ने सुझाव दिया है कि वह ईरान परमाणु समझौते को आगे बढ़ाने की अनुमति देगा. इसके अलावा, व्यापारियों को चिंता है कि चीन में बढ़ती कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन लगा तो यह तेल की डिमांड में सेंध लगा सकता है.

ये भी पढ़ें- ईपीएफओ अंशधारकों को 1,000 रु की मासिक पेंशन बहुत कम‘, पढ़िए संसदीय समिति ने क्या कहा?

फरवरी के बाद 100 डॉलर के नीचे पहुंचा तेल
फरवरी अंत के बाद पहली बार ब्रेंट क्रूड और यूएस क्रूड फ्यूचर्स बेंचमार्क 100 डॉलर प्रति बैरल से नीचे आए हैं. 7 मार्च को 14 साल के उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद से ब्रेंट लगभग 40 डॉलर और WTI 30 डॉलर से अधिक गिरा है. दो सप्ताह से अधिक समय पहले रूस द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण करने के बाद से कारोबार काफी अस्थिर रहा है.

ये भी पढ़ें- पंजाब नेशनल बैंक में एक और लोन फ्रॉड का मामला सामने आया, 2,060 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी

जानें किसमें कितनी आई गिरावट
सत्र के दौरान ब्रेंट फ्यूचर्स 6.99 डॉलर या 6.5 फीसदी गिरकर 99.91 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया. वहीं, यूएस वेस्ट टेक्सस इंटरमीडिएट (WTI) क्रूड 6.57 डॉलर या 6.4 फीसदी गिरकर 96.44 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया. 25 फरवरी के बाद से ब्रेंट सबसे कम 97.44 डॉलर तक पहुंचा और डब्ल्यूटीआई 93.53 डॉलर पर पहुंचा.

ये भी पढ़ें- भारत के लोग फिलहाल क्यों बच रहे हैं Gold खरीदने से? जानिए क्या कहते हैं व्यापारी

139 डॉलर पहुंच गया था ब्रेंट क्रूड
टेक्निकल चार्ट पर दोनों अनुबंध दिसंबर के बाद से ओवरसोल्ड क्षेत्र के सबसे करीब पहुंच गए. यह मार्च की शुरुआत के दौरान अधिक खरीद की स्थिति में थे. इस दौरान ब्रेंट एक समय 139 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर पहुंच गया था.

धीरे-धीरे खत्म हो रही चिंता
रूस कच्चे तेल और ईंधन का दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक है. कई खरीदारों ने यूक्रेन पर रूसी आक्रमण के बाद से रूस से तेल लेने पर आपत्ति जताई,  जिससे लाखों बैरल दैनिक कच्चे तेल की आपूर्ति में बाधा की आशंका पैदा हो गई थी. यह डर अब खत्म होता दिख रहा है. यूक्रेन और रूस के बीच युद्धविराम को लेकर चल रही बातचीत ने चिंताओं को कम किया है. आगामी बिकवाली ने कीमतों को कम किया, लेकिन अब भी अस्थिरता की आशंका है.

Tags: Crude oil, Crude oil prices, Petrol and diesel, Petrol diesel prices

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर