लाइव टीवी

खत्म हो सकता है कच्चे तेल का प्राइस वॉर, डोनाल्ड ट्रंप के भरोसे के बाद कीमतों में उछाल

News18Hindi
Updated: April 2, 2020, 11:04 PM IST
खत्म हो सकता है कच्चे तेल का प्राइस वॉर, डोनाल्ड ट्रंप के भरोसे के बाद कीमतों में उछाल
कच्चे तेल

संभव है कि बहुत जल्द रूस और सऊदी अरब के बीच कच्चे तेल (Crude Oil) को लेकर प्राइस वॉर थम जाए. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने सऊदी क्रांउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से बातचीत के बाद कच्चे तेल में प्राइस वॉर थमने का भरोसा जताया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 2, 2020, 11:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में गुरुवार को कच्चे तेल (Crude Oil Price) की कीमतों में उछाल देखने को मिली. क्रुड के भाव में यह तेजी अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा सऊदी क्राउन प्रिंस से बातचीत के बाद कच्चे तेल को लेकर भरोसा जताने के बाद आया है. डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि दोनों देश क्रुड प्रोडक्शन (Oil Production) को लेकर बहुत जल्द बड़ा फैसला लेने वाले हैं. वहीं, दूसरी तरफ सऊदी अरब मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि स्थानीय सरकार ने बाजार की हालत देखते हुए तेल उत्पादकों साथ एक बैठक बुलाई है.

ट्रपं ने क्राउंन प्रिंस से की बात
ट्रंप ने कहा कि उन्होंने सऊदी क्राउंन प्रिंस मोहम्मबद बिन सलमान से बात की है और उन्हें उम्मीद है कि सऊदी अरब और रूस (Saudi Arab and Russia) करीब 1 करोड़ बैरल क्रुड के उत्पादन में कटौती करेंगे. हाल ही में दोनों देशों ने इस डील को लेकर साकारात्मक संकेत दिए हैं.

क्या है गुरुवार को कच्चे तेल का भाव



इसी क्रम में गुरुवार को ब्रेंट वायदा (Brent Future) का भाव 6.28 डॉलर यानी 25 फीसदी तक उछलकर 31.02 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया. वहीं, WTI के भाव में भी 6.65 डॉलर यानी 28 फीसदी उछलकर 25.96 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर ​पहुंच गया.



यह भी पढ़ें: PM-किसान स्कीम: किसानों के बैंक अकाउंट में भेजे गए 5,125 करोड़ रुपये

कच्च्चे तेल का लेकर चल रहा प्राइस वॉर
बता दें कि मार्च महीने से ही अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में लगातार नरमी देखने को मिल रही है. कच्चे तेल की कटौती को लेकर सऊदी अरब और रूस कोई सहमति नहीं बन सकी थी. इसके बाद सऊदी अरब ने अपने प्रोडक्शन में 1.20 करोड़ बैरल प्रति दिन का इजाफा कर दिया था.

अमेरिका के लिए महंगा पड़ रहा तेल उत्पाद
वहीं, दूसरी तरफ कोरोना वायरस महामारी की वजह से दुनियाभर में ईंधन की मांग में बड़ी​ गिरावट आई है. अमेरिकी क्रुड का भाव में 20 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर आ गया है. इस प्राइस वॉर के कारण तेल का भाव 18 साल के न्यूनतम स्तर तक चला गया था. इससे अमेरिकी तेल उत्पादकों पर दबाव बढ़ा है. उनके लिये इस कीमत पर उत्पादन करना महंगा पड़ रहा था.

यह भी पढ़ें: महिंद्रा ने कर्मचारियों को मंदी की दिलाई याद, लॉकडाउन पर दिया ये गुरुमंत्र!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 2, 2020, 11:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading