Cryptocurrency बैंक की भारत में ऑपरेशंस शुरू करने की प्लानिंग ! RBI से बचने के लिए निकाला यह रास्ता

कस्टमर्स को लोन देने और उनके सेविंग्स एकाउंट खोलने की योजना है

देश में फिजिकल ब्रांच के साथ क्रिप्टो के बिजनेस से जुड़ा Unicas लॉन्च किया है. इसके लिए यूनाइटेड मल्टीस्टेट क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी के साथ पार्टनरशिप की गई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. खबर हैंं कि भारत में क्रिप्टोकरेंसी बैंक Cashaa ने भारत में बैंकिंग ऑपरेशंस शुरू कर दी है. बकायदा इसके लिए प्रपोजल भी दिया जा चुका है जिससे खुद फाइनेंशियल सेक्टर से जुड़े सीनियर एग्जिक्यूटिव्स हैरान हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि क्रिटोकरेंसी की ट्रेडिंग को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) पहले ही नाराजगी दिखा चुका है उसके बाद भी तय प्रयास चल रहे है. बताया जा रहा है कि RBI के रूल्स से बचने के लिए इसने क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी का रास्ता लेने की योजना बनाई है. Cashaa ने बताया कि उसने देश में फिजिकल ब्रांच के साथ क्रिप्टो के बिजनेस से जुड़ा Unicas लॉन्च किया है. इसके लिए यूनाइटेड मल्टीस्टेट क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी के साथ पार्टनरशिप की गई है. इसके फाउंडर और CEO, कुमार गौरव ने कहा कि इसके जरिए एक सेविंग्स एकाउंट से क्रिप्टो और करेंसी के लिए सर्विसेज दी जा सकेंगी.

    RBI से अनुमति लेने की जरूरत नहीं है

    इसके लिए RBI से अनुमति लेने के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि यह एक मल्टीस्टेट को-ऑपरेटिव सोसाइटी है जो रजिस्ट्रार ऑफ सोसाइटीज के तहत रजिस्टर्ड है. इसमें केवल मेंबर्स को सर्विसेज दी जाती हैं और इस वजह से RBI से अनुमति लेने की जरूरत नहीं है. बैंकिंग सेक्टर से जुड़े एक सूत्र ने इस बारे में कहा कि इसके प्रमोटर्स क्रेडिट को-ऑपरेटिव का जरिया इस्तेमाल कर रहे हैं जिससे वे RBI के कड़े नियमों से बच सकें. इसे RBI से बैंकिंग लाइसेंस नहीं मिलेगा.

    ये भी पढ़ें - Dogecoin के बाद Ethereum के को-फाउंडर ने भी क्रिप्टोकरेंसी इंडस्ट्री से किया किनारा, जानिए पूरा मामला

    सरकार एक कानून लाने पर भी विचार कर रही है

    हालांकि, यह सोसाइटी अपने मेंबर्स को उधार दे सकती है. इससे फाइनेंशियल सिस्टम के लिए रिस्क हो सकता है.Cashaa की क्रिप्टोकरेंसीज को खरीदने के लिए कस्टमर्स को लोन देने और उनके सेविंग्स एकाउंट खोलने की योजना है. क्रिप्टोकरेंसीज को रेगुलेट करने के लिए सरकार एक कानून लाने पर भी विचार कर रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.