होम /न्यूज /व्यवसाय /क्रिप्टोकरेंसी : 80 फीसदी छोटे निवेशकों ने झेला नुकसान, बड़ी मछलियों ने की कमाई

क्रिप्टोकरेंसी : 80 फीसदी छोटे निवेशकों ने झेला नुकसान, बड़ी मछलियों ने की कमाई

73 प्रतिशत लोगों ने क्रिप्टो एक्सचेंज ऐप्स तब डाउनलोड की, जब बिटकॉइन की कीमत 20 हजार डॉलर के ऊपर थी

73 प्रतिशत लोगों ने क्रिप्टो एक्सचेंज ऐप्स तब डाउनलोड की, जब बिटकॉइन की कीमत 20 हजार डॉलर के ऊपर थी

इन्टू द ब्लॉक (IntoTheBlock) और क्रिप्टो कम्पेयर (CryptoCompare) की स्टडी कहती है कि 73 प्रतिशत लोगों ने क्रिप्टो एक्सच ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

क्रिप्टो एक्सचेंज FTX के डूबने के बाद बिटकॉइन की कीमत काफी गिरी है.
लोगों ने तब निवेश किया जब बिटकॉइन 20 हजार डॉलर से ऊपर था.
फिलहाल यह क्रिप्टोकरेंसी 16 हजार डॉलर के आसपास है.

Cryptocurrency News : क्रिप्टोकरेंसी का मायाजाल काफी जटिल है. दूर से देखने पर आपको अच्छा महसूस हो सकता है, लेकिन जो इस जाल में फंसे, उन्हें नुकसान ही उठाना पड़ा. एक रिपोर्ट सामने आई है, जो कहती है कि दुनियाभर के लगभग 80 फीसदी निवेशकों ने पैसा गंवाया है. केवल निवेशक ही नहीं, एक साल के भीतर कई बड़ी क्रिप्टो एक्सचेंज बर्बाद हुई हैं.

इन्टू द ब्लॉक (IntoTheBlock) और क्रिप्टो कम्पेयर (CryptoCompare) के एक ताजा अध्ययन से खुलासा हुआ है कि 73 फीसदी यूजर्स ने कोई भी क्रिप्टो एक्सचेंज ऐप तब डाउनलोड की थी, जब बिटकॉइन की कीमत लगभग 20,000 डॉलर के ऊपर बनी हुई थी. इसी साल अक्टूबर के बाद बिटकॉइन का प्राइस 20 हजार डॉलर के नीचे आया है.

ये भी पढ़ें – हैकर्स क्रिप्टोकरेंसी में क्यों वसूल करते हैं फिरौती, क्‍या है इसकी बड़ी वजह

यह स्टडी कहती है कि यदि डाउनलोड करने वाले यूजर्स ने उसी दिन (डाउनलोड किए जाने के दिन) ही बिटकॉइन में पैसा भी डाला होगा तो उन्हें पक्के तौर पर नुकसान ही उठाना पड़ा होगा. लम्बे समय के निवेशकों के पोर्टफोलियो में अनरियलाइज्ड नुकसान (Unrealised Losses) दिख रहे हैं. क्रिप्टो एक्सचेंज FTX के डूबने के बाद बिटकॉइन की कीमत काफी गिरी है और यह फिलहाल 16,000 के आसपास सपोर्ट ले रही है.

छोटे निवेशक घुसे तो बड़े बेचते गए
ब्लॉकचेन का डेटा से पता चला है कि जब बिटकॉइन के प्राइस ऊपर की तरफ जा रहे थे तो छोटे निवेशक इसे खरीद रहे थे. ठीक इसी समय बड़े निवेशक (जिनके पास ज्यादा बिटकॉइन थे और जिन्हें व्हेल (Whales) या हम्पबैक (Humpbacks) भी कहा जाता है) बिटकॉइन बेच रहे थे. इन बड़े कॉइन होल्डर्स ने छोटे यूजर्स के जेब से बड़ी रकम निकाली. स्टडी में बिटकॉइन की बढ़ती कीमत ने 2015-2022 तक 7 साल की अवधि में दुनियाभर के 95 देशों में अलग-अलग आयु वर्ग के लोगों का ध्यान खींचा.

ये भी पढ़ें – ‘बाल वेश्यावृत्ति जितनी बुरी है क्रिप्टोकरेंसी, यह धोखाधड़ी व भ्रम का जाल’

कहा गया है, “कुल मिलाकर, बैक-ऑफ-द-इनेवलप कैलकुलेन से पता चलता है कि लगभग तीन-चौथाई यूजर्स ने अपने बिटकॉइन निवेश पर पैसा खो दिया है.” समीक्षाधीन अवधि के दौरान, बिटकॉइन की कीमत अगस्त 2015 में 250 डॉलर से बढ़कर नवंबर 2021 में लगभग $69,000 पर पहुंच गई थी. इसके अलावा, इसी अवधि के दौरान क्रिप्टोकरेंसी खरीदने और बेचने के लिए स्मार्टफोन ऐप का उपयोग करने वालों की संख्या 1,19,000 से बढ़कर 32.5 मिलियन हो गई.

Tags: Bitcoin, Crypto, Crypto currency, Cryptocurrency, Investment, Investment and return, Price of one bitcoin

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें