• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • बिटकॉइन में बड़ी गिरावट से निवेशकों की चिंता बढ़ी, 2 दिन में ही 21 फीसदी लुढ़का

बिटकॉइन में बड़ी गिरावट से निवेशकों की चिंता बढ़ी, 2 दिन में ही 21 फीसदी लुढ़का

टेस्‍ला की ओर से निवेश की घोषणा के बाद क्रिप्‍टोकरेंसी बिटक्‍वाइन में हर दिन उछाल दर्ज किया जा रहा है.

टेस्‍ला की ओर से निवेश की घोषणा के बाद क्रिप्‍टोकरेंसी बिटक्‍वाइन में हर दिन उछाल दर्ज किया जा रहा है.

Bitcoin Update: पिछले सप्ताह ही सबसे प्रचलित ​क्रिप्टोकरंसी यानी Bitcoin में जोरदार तेजी देखने को मिली थी. इसके बाद यह 42,000 डॉलर तक पहुंच गया था. लेकिन, अब महज दो दिनों में ही इसमें 21 फीसदी तकी की गिरावट देखने को मिली है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. क्रिप्टोकरंसी में जबरदस्त उतार-चढ़ाव देखने को मिल रही है. पिछले दो दिनों के दौरान बिटकॉइन (Bitcoin) में करीब 21 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है. इसके बाद एक बार फिर निवेशकों का भरोसा डगमगाने लगा है. अचनाक से बिटकॉइन में इतनी ​बड़ी गिरावट से निवेशकों में डर बैठ गया है कि कहीं बिटकॉइन के ग्रोथ का बुलबुला फट तो नहीं जाएगा.बिटकॉइन में निवेश करने वाले लोग इस बात को लेकर चिंतिंत हैं कि कहीं यह Bitcoin के डाउनफॉल की शुरुआत तो नहीं है. मार्च, 2020 के बाद दो दिनों में बिटकॉइन की कीमतों में यह सबसे बड़ी गिरावट है.

    दो दिन में 21 फीसदी लुढ़का बिटकॉइन
    रविवार और सोमवार को Bitcoin की कीमतों में 21 फीसदी तकी गिरावट आई, लेकिन यूरोपियन सेशन के बाद यह कुछ हद तक संभली लेकिन फिर भी इसकी कीमतों में भारी गिरावट आई है. इसके पहले 8 जनवरी को बिटकॉइन की कीमत 42,000 डॉलर से अधिक हो गई थी. रविवार को यह लुढ़ककर 38,000 डॉलर पर पहुंत गईं. वहीं, सोमवार दोपहर तक इस आभासी मुद्रा को करीब 10000 डॉलर का नुकसान हो चुका था। यह टूटकर 32,389 डॉलर तक आ गिरा.

    हालांकि, शाम को यह थोड़ा संभला। शाम 6.30 में यह 12.34% की गिरावट के साथ 34,480 डॉलर पर ट्रेड कर रहा था. यानी दो दिनों में इसकी कामतों में 8000 डॉलर के करीब गिरावट आई है. जिससे आज एक बिटकॉइन की कीमत 25 लाख 40 हजार रुपये के करीब है जो 8 जनवरी को करीब 31 लाख रुपये तक पहुंच गया था.



    यह भी पढ़ें: अभी तक आपने नहीं फाइल किया इनकम टैक्स रिटर्न? जानें CBDT ने क्या नई जानकारी दी है

    कहीं बड़े गिरावट की शुरुआत तो नहीं?
    जानकार मान रहे हैं कि यह एक बड़ी करेक्शन की शुरुआत है। सिंगापुर में क्रिप्टो एक्सचेंज लूनो (Luno) के बिजनेस डेवलपमेंट हेड विजय अय्यर ने कहा कि देखना होगा कि यह बड़ी गिरावट की शुरुआत है या नहीं. पिछले साल बिटकॉइन की कीमत चार गुना बढ़ी थी. इससे पहले 2017 में भी इसकी कीमत बहुत तेजी से बढ़ी थी और यह दुनियाभर में सुर्खियों में आ गई थी. लेकिन फिर उसकी कीमत में तेजी से गिरावट आई थी. वहीं, Bitcoin के बाद दूसरी सबसे प्रचलित क्रिप्टोकरेंसी ईथर (Ether) में भी 21% की गिरावट आ चुकी है. इससे यह सवाल उठने लगा है कि कहीं यह क्रिप्टोकरेंसी के डाउनफॉल की शुरुआत तो नहीं है.

    क्रिप्टो में लगा पैसा मिट्टी हो जाएगा!
    ब्रिटेन के फाइनेंस रेगुलेटर ने सोमवार को क्रिप्टोकरेंसी के निवेश करने वालों के लिए कड़ी चेतावनी जारी की है. उनका कहना है कि इसमें पैसा लगाने वाले अपना पूरा पैसा गंवा देंगे. उनके मुताबिक, क्रिप्टोएसेट में निवेश करना अच्छा-खासा जोखिम वाला है. रेगुलेटर ने इन मुद्राओं के उतार-चढ़ाव, जटिलता और निवेश की सुरक्षा के अभाव को लेकर चिंता जताई. वहीं, Convoy Investments LLC के को-फाउंडर हॉवर्ड वांग ने कहा कि बिटकॉइन निश्चित रूप से बबल साबित होगी. भविष्य में यह मैच्योर हो सकती है, लेकिन यह एक speculative asset बनी रहेगी.

    यह भी पढ़ें: अब नहीं करना होगा स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार, घर बैठे ही WhatsApp पर चेक करें लाइव रनिंग स्टेटस

    legitimate hedge के रूप में देखा जा रहा
    इसके अलावा Guggenheim Investments के चीफ इंवेस्टमेंट ऑफिसर स्कॉट मिनेर्ड ने निवेशकों से कहा कि Bitcoin से पैसा निकालने का यही सही समय है. वहीं, बिटकॉइन के प्रशंसकों का मानना है कि इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स के आने से यह एसेट मैच्योर हुआ है और डॉलर की कमजोरी और महंगाई के जोखिम के खिलाफ इसे legitimate hedge के रूप में देखा जा रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज