Home /News /business /

साइबर सिक्योरिटी और फ्रॉड डिजिटल करेंसी में चिंता का बड़ा विषय: RBI गवर्नर दास

साइबर सिक्योरिटी और फ्रॉड डिजिटल करेंसी में चिंता का बड़ा विषय: RBI गवर्नर दास

साइबर सिक्योरिटी और फ्रॉड डिजिटल करेंसी में चिंता का बड़ा विषय: RBI गवर्नर दास

साइबर सिक्योरिटी और फ्रॉड डिजिटल करेंसी में चिंता का बड़ा विषय: RBI गवर्नर दास

आरबीआई (RBI) के केंद्रीय बैंक डिजिटल करेंसी (Central Bank Ditgal Currency or CBDC) को लॉन्च करने की दिशा में आगे बढ़ते हुए गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने बुधवार को साइबर सुरक्षा (Cyber Security) और डिजिटल धोखाधड़ी (Digital Frauds) को नई प्रणाली में मुख्य चुनौतियों के रूप में चिह्नित किया. सीबीडीसी (CBDC) कागज आधारित करेंसी का एक इलेक्ट्रॉनिक संस्करण होगा और डिजिटल धोखाधड़ी और साइबर सुरक्षा के जोखिमों को मुख्य चुनौतियों के रूप में रेखांकित करेगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. आरबीआई (RBI) के केंद्रीय बैंक डिजिटल करेंसी (Central Bank Ditgal Currency or CBDC) को लॉन्च करने की दिशा में आगे बढ़ते हुए गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने बुधवार को साइबर सुरक्षा (Cyber Security) और डिजिटल धोखाधड़ी (Digital Frauds) को नई प्रणाली में मुख्य चुनौतियों के रूप में चिह्नित किया. डिप्टी गवर्नर टी रबी शंकर ने कहा कि CBDC दो प्रकार के होते हैं – Wholesale और रिटेल. वहीं, Wholesale वाले में बहुत काम हुआ है, जबकि रिटेल कठिन है, जिसमें समय लगेगा.

    आरबीआई ने इस साल की शुरुआत में घोषणा की थी कि उसने CBDC पर काम करना शुरू कर दिया है, जो दुनिया के अन्य प्रमुख केंद्रीय बैंकों के अनुरूप है, जो एक फिएट डिजिटल करंसी को देख रहे हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, आरबीआई अगले साल की शुरुआत तक इस पर पायलट प्रोजेक्‍ट शुरू करना चाहता है. दास ने संवाददाताओं से कहा कि मुख्य चिंता साइबर सुरक्षा और डिजिटल धोखाधड़ी की संभावना से आती है. हमें इसके बारे में बहुत सावधान रहना होगा.

    ये भी पढ़ें – Nykaa का स्टॉक अब गिरेगा क्या? एंकर-निवेशकों का लॉक-इन पीरियड पूरा

    CBDC कागज आधारित करेंसी का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण
    दास ने कहा कि कुछ साल पहले, फेक करेंसी के साथ चिंताएं थीं और इसी तरह के पहलू CBDC के लॉन्च के साथ हो सकती हैं, जिसे आवश्यक फायरवॉल और एक मजबूत सुरक्षा व्यवस्था द्वारा रोकना है. शंकर ने समझाया कि सीबीडीसी कागज आधारित करंसी का एक इलेक्ट्रॉनिक संस्करण होगा और डिजिटल धोखाधड़ी और साइबर सुरक्षा के जोखिमों को मुख्य चुनौतियों के रूप में रेखांकित करेगा.

    उन्होंने कहा कि बहुत सारे काम हुए हैं, जो Wholesale एकाउंट आधारित हैं, जबकि रिटेल कठिन हैं और इसमें समय लगेगा. जो भी पहले तैयार होगा, हम इसे एक पायलट के लिए जारी करेंगे. इससे पहले, दास ने दिसंबर 2021 के अंत तक सीबीडीसी के लिए सॉफ्ट लॉन्च के संकेत दिए थे.

    ये भी पढ़ें – Share Market में दो दिनों से क्यों है जबरदस्त तेजी? जानिए इसके पीछे के 5 कारण

    मौद्रिक नीति की समीक्षा के बाद दास ने कहा कि पेट्रोल-डीजल पर एक्‍साइज ड्यूटी और राज्‍यों द्वारा VAT में कमी से उपभोक्‍ता डिमांड बढ़ी है. अगस्‍त में उपभोग मांग को सपोर्ट मिला है. GDP अनुमान को 2021-22 के लिए 9.5 फीसद रखा गया है, जो Q3 में 6.6 फीसद और Q4 में 6 फीसद थी. उन्‍होंने कहा कि Real GDP Growth का अनुमान Q1 2022-23 में 17.2 फीसद बना हुआ है. वहीं Q2 में यह 7.8 फीसद रहेगा.

    Tags: Cryptocurrency, Indian currency, RBI Governor

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर