होम /न्यूज /व्यवसाय /₹10 दिहाड़ी पर काम करने वाले के बेटे ने बनाई ₹2000 करोड़ की कंपनी, सिर्फ 50 हजार रुपये में शुरू किया था ये कारोबार

₹10 दिहाड़ी पर काम करने वाले के बेटे ने बनाई ₹2000 करोड़ की कंपनी, सिर्फ 50 हजार रुपये में शुरू किया था ये कारोबार

Success Story- आज हम आपको एक ऐसे शख्स की कहानी बता रहे हैं जिन्हें कभी दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं होती थी लेकिन आज अपने मेहनत के दम पर 2,000 करोड़ की कंपनी खड़ी कर दी.

Success Story- आज हम आपको एक ऐसे शख्स की कहानी बता रहे हैं जिन्हें कभी दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं होती थी लेकिन आज अपने मेहनत के दम पर 2,000 करोड़ की कंपनी खड़ी कर दी.

Success Story- आज हम आपको एक ऐसे शख्स की कहानी बता रहे हैं जिन्हें कभी दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं होती थी लेकिन आज अप ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्ली. आज हम आपको एक ऐसे शख्स की कहानी बता रहे हैं जिन्हें कभी दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं होती थी लेकिन आज अपने मेहनत के दम पर 2,000 करोड़ की कंपनी खड़ी कर दी. हम बात कर रहे हैं मुस्तफा पीसी (Musthafa PC) का. मुस्तफा पीसी का जन्म केरल के एक सुदूर गांव में हुआ था. उनके पिता, एक दिहाड़ी मजदूर थे, जो सिर्फ 10 रुपये मजदूरी कमाते थे. वे अच्छी तरह से शिक्षित नहीं थे लेकिन अपने बच्चों को शिक्षित करने का सपना देखते थे.

    मुस्तफा ने ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे (Humans of Bombay) के साथ सोमवार को प्रकाशित एक इंटरव्यू में बताया, “हमने दैनिक वेतन में मुश्किल से 10 रुपये कमाए. दिन में तीन बार भोजन करने के बारे में तो हम सोच भी नहीं सकते थे. मैं खुद से कहूंगा, ‘अब भी भोजन शिक्षा से ज्यादा महत्वपूर्ण है.”

    आईडी फ्रेश फूड के सीईओ हैं मुस्तफा पीसी
    आईडी फ्रेश फूड के सीईओ मुस्तफा पीसी (Musthafa PC, CEO of iD Fresh Food) ने कहा, कि एक शिक्षक के बदौलत उन्हें मुफ्त में पढ़ाई का मौका मिल पाया. जब उनके कॉलेज जाने का समय आया, तो उनके शिक्षकों ने उनकी फीस का भुगतान किया. अच्छी तनख्वाह वाली नौकरी होने के बावजूद, मुस्तफा हमेशा अपना खुद का बिजनेस शुरू करने में रुचि रखते थे. मुस्तफा ने बाद में रेडी-टू-ईट फूड निर्माता आई डी फ्रेश फूड की स्थापना की. जो कंपनी हजारों युवाओं को रोजगार देती है और इडली और डोसा बैटर बनाती है.

    ये भी पढ़ें- नौकरी छोड़ ₹1 लाख लगाकर शुरू करें यह कारोबार, हर महीने कमा सकते हैं ₹8 लाख तक, सरकार करेगी पूरी मदद

    50,000 रुपये लगाकर शुरू किया था बिजनेस
    मुस्तफा पीसी ने शुरुआत में कंपनी में 50,000 रुपये का निवेश किया था. उन्होंने 50 वर्ग फुट के किचन में ग्राइंडर, मिक्सर और एक वजनी मशीन के साथ काम शुरू किया गया था. मुस्तफा कहते हैं शुरुआत में हमें एक दिन में 100 पैकेट बेचने में 9 महीने से ज्यादा का समय लगा.’ कई सालों तक कंपनी ने काफी संघर्ष किया और बहुत नुकसान का भी सामना किया.एक समय था जब वे अपने कर्मचारियों को वेतन नहीं दे सकते थे.

    ये भी पढ़ें- खुशखबरी: PNB ग्राहकों को मिलेगा बड़ा फायदा, बैंक ने किया यह ऐलान, फटाफट चेक करें डिटेल

    अब 2000 करोड़ रुपये की कंपनी बनी
    आईडी फ्रेश फूड 2000 करोड़ रुपये की कंपनी बन गई है. पहले सिर्फ 5,000 किलो चावल से 15,000 किलो इडली का मिश्रण तैयार किया जाता था और आज कंपनी सैकड़ों फूड स्टोर्स और मेट्रो शहरों में मिश्रण से चार गुना ज्यादा इडली बेच रही है. मुस्तफा को देश में ब्रेकफास्ट किंग के नाम से जाना जाता है. जिनका सालाना टर्नओवर साल 2015-2016 में करीब 100 करोड़ रुपये था. 2017-18 में यह बढ़कर 182 करोड़ रुपये हो गया. आईडी फ्रेश फूड ने वित्त वर्ष 2011 को 294 करोड़ रुपये के राजस्व के साथ समाप्त किया। कंपनी अब 2000 करोड़ रुपये की है.

    Tags: Business ideas, Business news in hindi, Corporate Kahaniyan, Earn money, Success Story

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें