होम /न्यूज /व्यवसाय /DCB बैंक से लोन लेना होगा महंगा, MCLR को 0.23 फीसदी बढ़ाया

DCB बैंक से लोन लेना होगा महंगा, MCLR को 0.23 फीसदी बढ़ाया

डीसीबी बैंक

डीसीबी बैंक

डीसीबी बैंक (DCB Bank) ने कहा कि उसने मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट यानी एमसीएलआर (MCLR) में 0.23 फीसदी की बढ़ोतरी क ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. मुंबई बेस्ड प्राइवेट सेक्टर के लेंडर डीसीबी बैंक (DCB Bank) ने शुक्रवार को अपने ग्राहकों को जोरदार झटका दिया है. अब बैंक से लोन लेना महंगा हो जाएगा. दरअसल, बैंक ने कहा कि उसने मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट यानी एमसीएलआर (MCLR) में 0.23 फीसदी की बढ़ोतरी की है. नई ब्याज दरें 6 जून से लागू होगी.

बढ़ जाएगी आपकी ईएमआई
एमसीएलआर में बढ़ोतरी के साथ टर्म लोन पर ईएमआई बढ़ने की उम्मीद है.ज्यादातर कंज्यूमर लोन मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट के आधार पर होती है. ऐसे में एमसीएलआर में बढ़ोतरी से पर्सनल लोन, ऑटो और होम लोन महंगे हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें- एक और सरकारी बैंक ने FD की ब्याज दरों में किया इजाफा, अब आपको कितना होगा फायदा?

लाइव मिंट के मुताबिक, रेगुलेटरी फाइलिंग में बैंक ने बताया है कि एक साल का एमसीएलआर पर 6 जून से 9.46% ब्याज देना होगा, जबकि वर्तमान दर 9.23% है. तीन महीने और छह महीने की एमसीएलआर पर ब्याज दर को क्रमशः 8.98% और 9.18% की तुलना में बढ़ाकर 9.21% और 9.41% कर दिया गया है. एक महीने की एमसीएलआर पर 8.28% से बढ़ाकर 8.51 फीसदी ब्याज दर कर दिया गया है.

क्या होता है MCLR?
गौरतलब है कि एमसीएलआर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा विकसित की गई एक पद्धति है जिसके आधार पर बैंक लोन के लिए ब्याज दर निर्धारित करते हैं. आरबीआई ने 1 अप्रैल 2016 से देश में एमसीएलआर की शुरुआत की थी. उससे पहले सभी बैंक बेस रेट के आधार पर ही ग्राहकों के लिए ब्याज दर तय करते थे. आधार दर की जगह पर अप्रैल 2016 से बैंक एमसीएलआर का इस्तेमाल कर रहे हैं. अब बैंकों द्वारा एमसीएलआर में किसी भी बढ़ोतरी या कटौती का असर नए और मौजूदा लेनदारों पर भी पड़ता है.

Tags: Auto and personal loan, Bank, Business news in hindi, Home loan EMI

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें