ध्यान दें: आपके क्रेडिट व ATM कार्ड को लेकर बदलने जा रहे ये नियम

डेबिट व क्रेडिट कार्ड को लेकर कई नियमों में बदलाव होने जा रहा है.

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने हाल ही में एक नया सर्कुलर जारी कर डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड को और भी सुरक्षित करने के लिए कई नियमों के बारे में जानकारी दी है. ये नियम 16 मार्च से लागू कर दिए जाएंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. बैंकिंग फ्रॉड (Banking Fraud) के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड (Debit and Credit Cards) को और भी सुरक्षित करने के लिए नई सुविधाएं लाने वाले है. 16 मार्च 2020 बैंकों द्वारा जारी किया जाने वाला सभी डेबिट और क्रेडिट कार्ड ATM के जरिए डोमेस्टिक ट्रांजैक्शन (Domestic Transaction) और प्वाइंट ऑफ सेल (PoS) के लिए इनेबल्ड होंगे. अगर कोई कार्डहोल्डर (Cardholders) इसका इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन (Online Transaction) के ​लिए करना चाहता है तो इसके लिए उन्हें अपने बैंक से संपर्क करना होगा. RBI ने इन कार्ड्स की सुरक्षा के लिए कई नए नियमों को लेकर आया है. आइए जानते हैं इनके बारे में...

    1. 16 मार्च के बाद नए व पुन: जारी किये जाने वाले कार्ड में केवल ATM व प्वाइंट ऑफ सेल पर ही काम कर सकेंगे. RBI ने अपने सकुर्लर में कहा है कि ये सभी कार्ड्स कॉन्टैक्स आधारित उपयोग के लिए ही होंगे.

    2. अगर कोई कार्डहोल्डर अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल ऑनलाइन, इंटरनेशनल व कोई अन्य कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन (Contactless Transaction) के लिए करना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें अपने बैंक से संपर्क करना होगा. ये सुविधाएं उन्हें डिफॉल्ट तौर पर नहीं मिलेंगी.

    यह भी पढ़ें: आपने भी ली है LIC पॉलिसी तो हो जाएं सावधान, नहीं तो डूब सकती है आपकी कमाई

    3. अगर कोई कस्टमर अपने कार्ड का इस्तेमाल भारत के बाहर करना चाहता है तो इसके लिए भी उन्हें बैंक से संपर्क कर इस सुविधा शुरू कराना होगा. अभी तक, अधिकतर बैंक जो कार्ड जारी करते हैं, उन्हें दुनियाभर में कहीं भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

    4. अगर बैंक को लगता है आपके डेबिट या क्रेडिट कार्ड पर किसी प्रकार को कोई जोखिम है तो उनके पास अधिकार होगा कि आपके कार्ड को डिएक्टिवेट कर दें.

    5. अगर आपने कार्ड का इस्तेमाल किसी ऑनलाइन, इंटरनेशन या कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन के लिए नहीं किया है तो बैंक के पास विकल्प होगा कि वो इस कार्ड को बंद कर दें.

    6. कार्डहोल्डर के पास विकल्प होगा कि वो अपने कार्ड पर मिलने वाले किसी सुविधा को स्विच ऑन या ऑफ कर सकें. इसमें ATM ट्रांजैक्शन, ऑनलाइन ट्रांजैक्शन भी शामिल होंगे.

    यह भी पढ़ें: PF खाताधारकों के लिए बड़ी खबर! इस वजह से लाखों कर्मचारियों को लग सकता है झटका

    7. RBI के मुताबिक, कार्डहोल्डर के पास इस बात का भी विकल्प होगा कि वो अपने कार्ड की लिमिट तय करें. इसका मतलब है कि एक लिमिट तय कर सकेंगे कि आपके कार्ड के जरिए अधिकतम एक तय रकम ही खर्च हो.

    8. केंद्रीय बैंक ने सभी बैंकों से कहा है कि वो अपने ग्राहकों को 24x7 मोबाइल ऐप उपलब्ध कराएं, जिसमें नेटबैंकिंग का विकल्प हो और वो अपने कार्ड की लिमिट खुद तय करने के साथ-साथ सुविधाओं को भी शुरू या बंद कर सकें. बैंक शाखा और ATM पर भी ये सुविधा उपलब्ध होगी.

    9. कार्ड से संबंधित ये नियम प्रीपेड गिफ्ट्स (Prepaid Gifts) और मास ट्रांजिट सिस्टम (Mass Transit System) के लिए भी लागू होगा.

    10. डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड को लेकर ये नया नियम 16 मार्च 2020 से लागू कर दिया जाएगा.

    यह भी पढ़ें: 1 जून से लागू होगा एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड, देश में कहीं भी खरीद सकेंगे राशन

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.