• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • 90 करोड़ डेबिट-क्रेडिट कार्ड पर खतरा! इस वजह से बंद हो सकती है पेमेंट

90 करोड़ डेबिट-क्रेडिट कार्ड पर खतरा! इस वजह से बंद हो सकती है पेमेंट

90 करोड़ डेबिट-क्रेडिट पर खतरा! इस वजह से बंद हो सकती है पेमेंट

90 करोड़ डेबिट-क्रेडिट पर खतरा! इस वजह से बंद हो सकती है पेमेंट

डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड पेमेंट सिस्टम बंद होता है तो करीब 90 करोड़ डेबिट/क्रेडिट कार्ड पर असर पड़ सकता है. आइए जानें पूरा मामला...

  • Cnbc-Awaaz
  • Last Updated :
  • Share this:
    डेबिट और क्रेडिट कार्ड के जरिए होने वाले ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम पर खतरा मंडरा रहा है. इसके पीछे मुख्य वजह आरबीआई का वो आदेश है, जिसमें कहा गया है कि विदेशी कंपनियां 15 अक्टूबर तक भारत के ग्राहकों का डेटा सिर्फ भारत में स्टोर करना शुरू कर दें. हालांकि, इस मामले को लेकर कंपनियों ने वित्त मंत्री से मुलाकात कर रियायत की मांग की है. आपको बता दें कि देश में ज्यादातर डेबिट और क्रेडिट कार्ड वीजा, मास्टरकार्ड के इस्तेमाल होते हैं. ऐसे में अगर डेटा स्टोर को लेकर बात नहीं बनी तो ऑनलाइन पेमेंट करने में परेशानियां आ सकती है. लिहाजा डेबिट और क्रेडिट कार्ड से पेमेंट नहीं हो पाएगा.

    ये भी पढ़ें-LIC ने जारी कि‍या अलर्ट! पॉलि‍सी का प्रीमियम जमा करते वक्त अब करना होगा ये काम

    90 करोड़ कार्ड पर खतरा! डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड पेमेंट सिस्टम बंद होता है तो करीब 90 करोड़ डेबिट/क्रेडिट कार्ड पर असर पड़ सकता है. विदेशी कंपनियों के दूसरे गेटवे भी बंद होने का खतरा बढ़ जायेगा, जिसके चलते कंपनियों ने रिजर्व बैंक से भी की थी रियायत की मांग की है. आर्थिक मामलों के सचिव ने आरबीआई को चिट्ठी लिखी थी, लेकिन आरबीआई की तरफ से कंपनियों को छूट नहीं मिली है. (ये भी पढ़ें-LIC ने बंद कर दी है ये पॉलिसी, अगर आपके पास है तो जानिए अब क्या करें?)

    ये है बड़ी टेंशन- वीजा, मास्टरकार्ड, गूगल के प्रतिनिधि वित्त मंत्री से मुलाकात कर डेटा स्टोर के लिए और वक्त मांगा है. डेटा स्टोर करने के लिए आरबीआई ने 15 अक्टूबर तक का वक्त दिया है, लेकिन कंपनियां 15 अक्टूबर से डेटा स्टोर करने में सक्षम नहीं है.कंपनियों की दलील है कि डेटा स्टोर करने में करीब 2 साल का वक्त लगेगा. कंपनियों को केवल डेटा स्टोर के बजाय कॉपी रखने की भी छूट की मांग की है. वित्त मंत्रालय डेटा की कॉपी रखने की छूट के पक्ष में है.

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन