लाइव टीवी

31 दिसंबर से पहले अगर नहीं किया ये काम तो बंद हो जाएंगे आपके Debit-Credit कार्ड्स

News18Hindi
Updated: December 20, 2019, 11:53 AM IST
31 दिसंबर से पहले अगर नहीं किया ये काम तो बंद हो जाएंगे आपके Debit-Credit कार्ड्स
पुराने डेबिट-क्रेडिट कार्ड को नहीं बदलवाया तो आपका ब्लॉक हो जाएगा कार्ड

अगर आप डेबिट और क्रेडिट कार्ड (Credit-Debit Card) यूज करते हैं तो ये खबर आपके लिए जानना बहुत जरूरी है. क्योंकि 31 दिसंबर 2019 तक अगर आपने अपने पुराने डेबिट-क्रेडिट कार्ड को नहीं बदलवाया तो आपका ब्लॉक हो जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 20, 2019, 11:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप डेबिट और क्रेडिट कार्ड (Credit-Debit Card) यूज करते हैं तो ये खबर आपके लिए जानना बहुत जरूरी है. क्योंकि 31 दिसंबर 2019 तक अगर आपने अपने पुराने डेबिट-क्रेडिट कार्ड को नहीं बदलवाया तो आपका ब्लॉक हो जाएगा. दरअसल बात ये है कि मैग्नेटिक स्ट्राइप (magnetic strip cards) वाले कार्ड को बैंक बंद करने जा रहे हैं. देश में इस वक्त दो तरह के डेबिट-क्रेडिट कार्ड मौजूद हैं. पहला कार्ड मैग्नेटिक स्ट्राइप वाला और दूसरा चिप वाला कार्ड होता है. लेकिन, अब मैग्नेटिक स्ट्राइप कार्ड्स को बैंक बंद कर रहे हैं. बता दें कि RBI के आदेशानुसार कार्ड रिप्लेस की डेडलाइन 31 दिसंबर 2019 है. ग्राहकों के डेबिट और क्रेडिट कार्ड की डिटेल्‍स को सिक्‍योर रखने के लिए यह कदम उठाया गया है.

पुरानी टेक्नोलॉजी से रेप्लास होगी नई टेक्नोलॉजी
रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के मुताबिक, मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड अब पुरानी टेक्‍नोलॉजी हो चुकी है. इस वजह से बैंक ने ऐसे कार्ड बनाने बंद कर दिए हैं. इनकी जगह EMV चिप कार्ड को तैयार किया गया है. सभी पुराने कार्ड्स को नए चिप कार्ड्स से बदला जाएगा.

ये भी पढ़ें: 30 हजार किसानों को ऑनलाइन मिलेंगी खास सुविधाएं, इस कंपनी ने बनाया प्लान



नहीं लगेगी कोई फीस


अगर आप SBI के ग्राहक हैं तो आपके लिए जरूरी है कि जल्द ही अपना कार्ड बदल लें, क्योंकि, SBI मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप एटीएम को ब्लॉक कर रहा है. बैंक अपने ग्राहकों के लिए पुराने मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड को चिप वाले कार्ड से रिप्‍लेस करने का नोटिफिकेशन भी जारी कर चुका है. बैंक चिप वाले कार्ड्स के लिए कोई अलग से चार्ज नहीं ले रहे हैं. इसे बिल्कुल फ्री ऑफ कॉस्ट रखा गया है. हालांकि, कार्ड को तभी ब्लॉक किया जाएगा, जब उसकी एक्सपायरी डेट आने वाली हो.

क्या है दोनों कार्ड्स में अंतर?
मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड से ट्रांजेक्‍शन के लिए कार्डहोल्‍डर के सिग्‍नेचर या पिन की जरूरत होती है. इस पर आपके अकांउट की डिटेल्‍स मौजूद होती है. इसी स्‍ट्राइप की मदद से कार्ड स्‍वाइप के वक्‍त मशीन आपके बैंक इंटरफेस से जुड़ती है और प्रोसेस आगे बढ़ता है. वहीं, चिप वाले कार्ड में सारी इंफॉर्मेशन चिप में मौजूद होती है. इनमें भी ट्रांजेक्‍शन के लिए पिन और सिग्‍नेचर जरूरी होते हैं. लेकिन, EMV चिप कार्ड में ट्रांजेक्‍शन के वक्‍त यूजर को ऑथेंटिकेट करने के लिए एक यूनीक ट्रांजेक्‍शन कोड जनरेट होता है, जो वेरिफिकेशन को सपोर्ट करता है. ऐसा मैग्नेटिक स्ट्राइप कार्ड में नहीं होता.

ये भी पढ़ें: नए साल में इस वजह से 1500 रुपए से ज्यादा सस्ता हो सकता है Gold!

2016 में RBI ने दिया था आदेश
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 2016 में सभी बैंकों को आदेश दे दिया था कि ग्राहकों के साधारण मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड्स को चिप वाले कार्ड से रिप्‍लेस किया जाए. इसकी डेडलाइन 31 दिसंबर 2019 तय की गई है. यही वजह है कि बैंक अब सिर्फ चिप वाले एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड जारी कर रहे हैं. ग्राहकों को इस बाबत सूचना दी गई है कि पुराने कार्ड को रिप्लेस कर लें. सेंट्रल बैंक के डाटा के अनुसार, देश में 44.2 मिलियन एक्टिव क्रेडिट कार्ड और 958.2 मिलियन एक्टिव डेबिट कार्ड मौजूद हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 20, 2019, 11:53 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading