आपकाे भी पसंद है Buy now, Pay Later स्कीम, पहले जान लें कैसे फंस रहे हैं लाेग इस चक्कर में

एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में BNPL का विकल्प अपनाने वाले कंज्यूमर्स की औसत आयु 34 साल रही

एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में BNPL का विकल्प अपनाने वाले कंज्यूमर्स की औसत आयु 34 साल रही

rectifycredit.com की Aparna Ramachandra का कहना है कि अगर आप लापरवाही करते हैं या आपसे कोई भूल हो जाती है तो यह सुविधा आपके ऊपर बहुत भारी पड़ सकती है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कई फिनटेक कंपनियाें द्वारा बाय नाउ पे लेटर यानी बीएनपीएल (Buy Now Pay Later) स्कीम काे जाेर-शाेर से प्रचारित किया जा रहा है. वहीं लाेग भी बड़ी संख्या में इस स्कीम का फायदा उठा रहे हैं लेकिन बिना किसी जानकारी के. यही वजह है कि कई लाेग जिन्हाेंने इस स्कीम में चक्कर में आकर यह साेचकर शॉपिंग कर ली कि आने वाले दिनाें में पैसा दे देंगे. उन्हाेंने कभी सपनाें में भी नहीं साेचा था कि इस छाेटी सी लग रही बात का उन्हें कितना बड़ा खामिजाया भुगतना पड़ेगा. लाेगाें काे लगता है कि यह आसान है. कई मायनाें में है भी लेकिन यदि आपने समय पर भुगतान नहीं किया ताे लेट पेमेंट चार्ज के साथ इतना ब्याज लगेगा कि मूल राशि से दाेगुना भुगतान तक करना पड़ सकता है. 


पुणे में रहने वाली 27 साल की शालिनी राव ने बाय नाउ पे लेटर स्कीम से 30 हजार रुपये की शॉपिंग की. काेविड के दाैरान उनकी नाैकरी चली गई और वाे बिल सही समय पर नहीं चुका पाई. आपकाे जानकार हैरानी हाेगी कि जब तक उनके पास पैसाें का इंतजाम हुआ तब तक 30 हजार रुपये नहीं उन्हें 60 हजार रुपये चुकाने पड़े. क्याेंकि इस स्कीम के तहत लगने वाला ब्याज दस फीसदी से भी ज्यादा हाेता है. इसलिए ज्यादातर एक्पर्ट कहते है कि जरूरत पड़ने पर और समय से इस कर्ज काे चुकाने में यदि आप सक्षम नहीं है ताे आपकाे इस ओर नहीं जाना चाहिए.


औसतन 34 साल के लाेग ज्यादा कर रहे है यूज


ZestMoney की रिपोर्ट के मुताबिक 2020 में बीएनपीएल का विकल्प अपनाने वाले कंज्यूमर्स की औसत आयु 34 साल रही. इस सुविधा का लाभ उठाने वाले अधिकतर लोगों ने इसका उपयोग ऑनलाइन एजुकेशन पर्चेजिंग, दूसरे इलेक्ट्रोनिक उपकरण खरीदने, फैशन और ट्रैवल के लिए किया. ZestMoney के सीईओ Lizzie Chapman का कहना है कि 2020 में बहुत सारे लोगों ने बीएनपीएल  का विकल्प अपनाया. इस साल भी इस कारोबार में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी. कंज्यूमर क्रेडिट के लिए सभी डिजिटल विकल्पों को पसंद कर रहे हैं.


Mswipe के बिजनेस हेड Yogesh Verma का कहना है कि मुंबई, दिल्ली और बेंगलूरु जैसे मेट्रो शहरों में लोग तेजी के साथ  BNPL के विकल्प को अपना रहे हैं. इसके तहत होने वाले औसत ट्रांजैक्शन की साइज 43000 रुपये है. ZestMoney के मुताबिक इसके करीब 68 फीसदी यूजर टियर-2 और टियर-3 शहरों से हैं. बाकी 32 फीसदी यूजर टियर-1 शहरों से हैं. 


ये भी पढ़ें- आपका चेहरा ही होगा बोर्डिंग पास​, इन 4 एयरपोर्ट्स पर शुरू होगी पेपरलेस बोर्डिंग






कैसे काम करती है यह स्कीम


बीएनपीएल स्कीम के तहत आपको कोई चीज अभी खरीद कर बाद में किश्तों में भुगतान करने की सुविधा देती है. इसका सबसे बेसिक फॉर्मेट यह है कि जब किसी फिनटेक फर्म के साथ अपना खाता खोलते हैं और उसमें अपना रजिस्ट्रेशन करावाते हैं तो यह फर्म आपको अपने किसी पार्टनर मर्चेंट (ऑनलाइन स्टोर) के साथ आपको खरीदारी की सुविधा देती है. यह खरीदारी आप अग्रिम तौर पर करके 15 से 30 दिन में इसका भुगतान करते है. लेकिन अगर किसी स्थिति में आप अपनी खरीद के लिए निर्धारित भुगतान तय अवधि में नहीं कर पाते हैं तो आपको भारी ब्याज चुकाना होता है. जो आपके बिल अमाउंट पर निर्भर करता है. कुछ बीएनपीएल फर्म महंगी चीजों की खरीद पर no-cost credit के आधार पर किश्तों में भुगतान की 3 से 6 महीने में भुगतान की सुविधा देती हैं. इसका मतलब यह है कि आपको  इसी अवधि में बिल का भुगतान करना होता है. इस सेगमेंट में कुछ  फिनटेक कंपनियों में Amazon Pay, ePayLater, Kissht, LazyPay, Simpl, Slice, ZestMoney जैसी कंपनियां शामिल हैं. 


एक ही समय में कई फिनटेक कंपनियाें में हाे सकता है रजिस्ट्रेशन


आप एक ही समय में कई फिनटेक कंपनियों में अपना रजिस्ट्रेशन करावा सकते है. इसमें आपको आपके क्रेडिट प्रोफाइल के हिसाब से क्रेडिट लिमिट मिलती है. Flipkart, Amazon, BigBasket जैसे बहुत सी -कॉर्मस कंपनियां भी  आज खरीदों, बाद में चुकाओ जैसी सुविधा देती है.  Zomato और Swiggy जैसी फूड डिलिवरी कंपनियां भी पीछे नहीं है. यहां भी आपको इस तरह की सुविधा मिलती है। Goibibo और Cleartrip जैसी ट्रैवल पोर्टल भी यह सुविधा देती है. digital lending consultant पारिजात गर्ग (Parijat Garg) का कहना है कि इस तरह की फिनटेक कंपनियां उन लोगों को टार्गेट कर रही हैं जिनके पास क्रेडिट कार्ड नहीं है. 


ये भी पढ़ें-  Paytm-PhonePe यूजर्स भी कर पाएंगे आरटीजीएस-एनईएफटी के जरिये फंड ट्रांसफर, जानें क्‍या हैं ये दोनों सुविधाएं




लेट फीस के साथ ब्याज की बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है


बीएनपीएल क्रेडिट कार्ड के विकल्प के रुप में काम करता है. इसके तहत आप किसी सुविधा और वस्तु की खरीद अभी करके बाद में एक निश्चित अवधि में इसका भुगतान करते है लेकिन यह अवधि बीत जाने पर आपको लेट फीस और ब्याज के साथ बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है. rectifycredit.com की  Aparna Ramachandra का कहना है कि अगर आप लापरवाही करते हैं या आपसे कोई भूल हो जाती है तो यह सुविधा आपके ऊपर बहुत भारी पड़ सकती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज