रुपये में गिरावट पर सरकार ने कहा, ‘चिंता की कोई बात नहीं ’

रुपये में गिरावट पर सरकार ने कहा, ‘चिंता की कोई बात नहीं ’
सांकेतिक तस्वीर

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि आने वाले समय में स्थिति में सुधार आने की संभावना है.

  • Share this:
सरकार ने अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये के अब तक के न्यूनतम स्तर पर पहुंचने के लिये ‘बाहरी कारणों’ को जिम्मेदार ठहराया है और कहा कि इसमें चिंता की कोई बात नहीं है.

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि आने वाले समय में स्थिति में सुधार आने की संभावना है. उन्होंने कहा, ‘‘रुपये में गिरावट बाहरी कारणों से हो रही है और इसमें इस समय चिंता की कोई वजह नहीं है.’’ तुर्की की आर्थिक चिंता से अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया मंगलवार को कारोबार के दौरान 70.1 रुपये प्रति डॉलर के स्तर तक गिर गया.

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि डॉलर की तुलना में सभी मुद्राएं कमजोर हुई हैं लेकिन अन्य मुद्राओं की तुलना में रुपये में उतनी गिरावट नहीं आई है.



ये भी पढ़ें: राहुल गांधी ने PM का पुराना वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, 'अर्थव्यवस्था पर महाज्ञान'
कुमार ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि रुपये को 69 से 70 के बीच स्थिर होना चाहिए क्योंकि अगर आप देश में बॉन्ड और शेयर समेत विभिन्न क्षेत्रों में आने वाले निवेश को देखें तो यह स्तर विदेशी निवेश के लिहाज से आकर्षक रहा है.’’

आनंद राठी शेयर्स एंड स्टाक ब्रोकर्स में शोध विश्लेषक आर मारू ने कहा कि आयातकों की अधिक मांग से रुपये की विनिमय दर में गिरावट आयी है.

मारू ने कहा, ‘‘तुर्की संकट को लेकर अनिश्चितता तथा डॉलर सूचकांक में तेजी को देखते हुए आयातक आक्रामक तरीके से डॉलर लिवाली कर रहे हैं. दूसरी तरफ आरबीआई की तरफ से आक्रमक हस्तक्षेप नहीं होने से भी रुपया नीचे आया.

ये भी पढ़ें: रुपया 70 के पार! मोदी सरकार ने कहा- 'घबराने की जरूरत नहीं'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading