अप्रैल 2021 में घटी पेट्रोल-डीजल की मांग, LPG Cylinder की बिक्री में दर्ज किया गया इजाफा

कोरोना संक्रमण के कारण राज्‍यों की ओर से लगाए गए लॉकडाउन की वजह से अप्रैल 2021 में ईंधन की मांग घटी और रसोई गैस की ि‍बिक्री बढ़ी.

कोरोना संक्रमण के कारण राज्‍यों की ओर से लगाए गए लॉकडाउन की वजह से अप्रैल 2021 में ईंधन की मांग घटी और रसोई गैस की ि‍बिक्री बढ़ी.

ईंधन खुदरा विक्रेताओं के शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल 2021 में पेट्रोल की बिक्री (Petrol Sales) 21.4 लाख टन रही, जो अगस्त 2020 के बाद से सबसे कम है. वहीं, मार्च 2021 के मुकाबले पेट्रोल की बिक्री 6.3 फीसदी और अप्रैल 2019 के मुकाबले 4.1 फीसदी कम रही. अप्रैल 2020 में पेट्रोल की बिक्री 8,72,000 टन रही थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर से निपटने के लिए विभिन्‍न राज्यों की ओर से लगाए गए आंशिक और पूर्ण लॉकडाउन या कर्फ्यू के कारण अप्रैल 2021 में पेट्रोल-डीजल समेत तमाम ईंधनों की मांग में गिरावट (Petrol-Diesel Demand) देखी गई. भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (BPCL) के मार्केटिंग और रिफाइनरियों के निदेशक अरुण सिंह ने बताया कि अप्रैल 2021 में ईंधन की कुल मांग अप्रैल 2019 के मुकाबले 7 फीसदी कम रही है. देश में अप्रैल 2020 में कोरोना संक्रमण के कारण राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था. इससे आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ गई थीं. लॉकडाउन के कारण अप्रैल 2020 में ईंधन की बिक्री बेहद कम रही थी. इसलिए अप्रैल 2021 में ईंधन बिक्री की तुलना अप्रैल 2019 से की गई है.

अगस्‍त 2020 के बाद सबसे कम रही अप्रैल 2021 में पेट्रोल की बिक्री

राज्यों के स्वामित्व वाले ईंधन खुदरा विक्रेताओं के शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल 2021 में पेट्रोल की बिक्री 21.4 लाख टन रही, जो अगस्त 2020 के बाद से सबसे कम है. वहीं, मार्च 2021 के मुकाबले पेट्रोल की बिक्री 6.3 फीसदी और अप्रैल 2019 के मुकाबले 4.1 फीसदी कम रही. अप्रैल 2020 में पेट्रोल की बिक्री 8,72,000 टन रही थी. वाहनों में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले ईंधन डीजल की बिक्री भी कोरोना संक्रमण के कारण अप्रैल 2021 में 50.9 लाख टन रही, जो मार्च 2021 के मुकाबले 1.7 फीसदी और अप्रैल 2019 की तुलना में 9.9 फीसद कम है. वहीं, अप्रैल 2020 में डीजल की बिक्री 28.40 लाख टन थी.

ये भी पढ़ें- कारोबारियों को बड़ी राहत! मार्च, अप्रैल का GSTR-3B फाइल करने पर नहीं देनी होगी लेट फीस, जानें कितने दिन की मिली छूट
एटीएफ की मांग घटी, रसोई गैस की बिक्री में दर्ज किया गया इजाफा

विमानों में इस्तेमाल होने वाले जेट फ्यूल (ATF) की खपत क्षमता से कम बने रहने के चलते अप्रैल 2021 में इसकी बिक्री 3,77,000 टन हुई, जो मार्च 2021 के मुकाबले 11.5 फीसदी और अप्रैल 2019 की तुलना में 39.1 फीसदी कम है. अप्रैल 2020 में जेट ईंधन की बिक्री केवल 5,500 टन रही थी. इसके अलावा रसोई गैस (LPG Cylinder) की खपत मार्च 2021 के मुकाबले 3.3 फीसदी गिरकर 21 लाख टन रही, जबकि अप्रैल 2019 में हुई 18.8 लाख टन की बिक्री की तुलना में 11.6 फीसदी ज्‍यादा रही है. बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण देश कोरोना वैक्सीन, दवाओं और ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर संघर्ष कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज