होम /न्यूज /व्यवसाय /इस स्कीम में रोज जमा करें 70 रुपये, इतने सालों में बन जाएंगे लाखों के मालिक, जानिए कैसे

इस स्कीम में रोज जमा करें 70 रुपये, इतने सालों में बन जाएंगे लाखों के मालिक, जानिए कैसे

 अच्छे रिटर्न के साथ सुरक्षित निवेश जरूरी

अच्छे रिटर्न के साथ सुरक्षित निवेश जरूरी

अपनी मेहनत से कमाई हुई रकम पर आदमी ज्यादा से रिटर्न चाहता है. लेकिन उसके लिए सेफ्टी ज्यादा महत्वपूर्ण होती है. वो चाहता ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    अपनी मेहनत से कमाई हुई रकम पर आदमी ज्यादा से रिटर्न चाहता है. लेकिन उसके लिए सेफ्टी ज्यादा महत्वपूर्ण होती है. वो चाहता है कि पैसा न डूबने न गारंटी भी मिले. अगर पैसा सेफ नहीं होगा तो नुकसान की संभावना है और अगर गारंटीड रिटर्न नहीं मिलेगा तो निवेश का कोई फायदा ही नहीं.

    एक साथ इस तरह के फायदें आपको पोस्ट ऑफिस स्कीमों में निवेश करने पर मिल सकती हैं. अगर पोस्ट ऑफिस की किसी पॉलिसी में निवेश करने का मन बना रहे हैं तो हम आपको बता रहे हैं कि आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड ( Public Provident Fund ) में पैसा लगाएं. इनमें जहां आपका पैसा सुरक्षित रहेगा वहीं आपको गारंटीड रिटर्न भी मिलेगा. पीपीएफ की मैच्योरिटी अवधि 15 साल की होती है. इसी से आप रोज के करीब 70 रु जमा करके लाखों रु का फंड तैयार कर सकते हैं.

    चक्रवृद्धि ब्याज का फायदा
    यह खाता 15 साल में मैच्योर होता है. इस खाते में जमा पैसे पर चक्रवृद्धि ब्याज मिलता है. 1 अप्रैल 2020 से सरकार इस खाते पर 7.10 परसेंट का ब्याज दे रही है. मान लीजिए किसी व्यक्ति ने हर महीने PPF खाते में 1,000 रुपये जमा कराया है. 15 साल में 1000 रुपये की जमा राशि 1,80,000 रुपये हो जाएगी.

    यह भी पढ़ें- Home loan से जुड़ी 10 बातें जो आपको जानना चाहिए, वरना कैंसल हो सकता है लोन एप्लिकेशन

    इस पर आपको 1,35,567 रुपये का ब्याज मिलेगा. दोनों अमाउंट को जोड़ दें 15 साल बाद मैच्योरिटी पर 3,15,567 रुपये होगा. अगर कोई व्यक्ति हर महीने 2 हजार या 24 हजार रुपये सालान जमा करता है तो उसकी कुल जमा राशि 3,36,000 रुपये होगी. इस पर ब्याज के रूप में 2,71,135 रुपये मिलेंगे. कुल पैसे को जोड़ दें तो जमाकर्ता के हाथ में 6,31,135 रुपये मिलेंगे.

    ब्याज की दरें बढ़ने पर मैच्योरिटी राशि में हो सकता है इजाफा
    ध्यान रखने की बात यह है कि पोस्ट ऑफिस स्कीमों की ब्याज दरों की समीक्षा हर तिमाही में होती है. यानी हर तिमाही में इनमें बदलाव संभव है. वैसे पिछली कई तिमाहियों से पोस्ट ऑफिस स्कीमों की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है. अगर कोई पीपीएफ में हर महीने 2000 रुपए का निवेश करे और ब्याज दरों में इजाफा हो तो उसकी मैच्योरिटी राशि बढ़ जाएगी.

    यह भी पढ़ें – पिछले सप्ताह किन 10 शेयरों में सबसे ज्यादा उतार-चढ़ाव रहा, क्या आपके पोर्टफोलियो में भी हैं ये स्टॉक्स ?

    समय से पहले भी बंद कर सकते हैं खाता
    पहले अगर किसी वजह से 15 साल से पहले पैसे की जरूरत पड़ जाए तो आप पीपीएफ खाते से मैच्योरिटी अवधि से पहले भी पैसा निकाल सकते हैं. मेडिकल ग्राउंड पर आप पीपीएफ खाते से पूरी राशि निकाल सकते हैं. ऐसा इसलिए कि खाताधारक, जीवन साथी या कोई भी आश्रित गंभीर बीमारी की चपेट में आ जाएं तो पैसा निकालने की इजाजत होती है. बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए पैसों की आवश्यकता होने पर आप समय से पहले पीपीएफ खाता बंद भी कर सकते हैं. खाताधारक की मृत्यु होने पर नॉमिनी पैसे निकाल सकता है.

    कौन खोल सकता है पीपीएफ खाता
    कोई भी भारतीय नागरिक पीपीएफ खाता खोल सकता है. नाबालिग के नाम से भी खाता खुलवाया जा सकता है. आपको पीपीएफ खाता खुलवाने के लिए कम से कम 500 रुपये की जरूरत होगी. पीपीएफ खाता पोस्ट ऑफिस के अलावा बैंकों की शाखाओं में भी खुलवाया जा सकता है.

    Tags: Earn money, Money, PPF, PPF account

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें