लाइव टीवी

RTI के जवाब में RBI ने बताया, बैंक दिवालिया हुआ तो आपके खाते में जमा कितना पैसा रहेगा सेफ

पीटीआई
Updated: December 3, 2019, 5:13 PM IST
RTI के जवाब में RBI ने बताया, बैंक दिवालिया हुआ तो आपके खाते में जमा कितना पैसा रहेगा सेफ
बैंक में जमा सारे पैसे नहीं, सिर्फ 1 लाख रुपये है सुरक्षित

अगर कोई बैंक दिवालिया हो जाता है तो फिर ग्राहकों के खाते में चाहे जितनी रकम हो, उनको केवल 1 लाख रुपये ही मिलेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर कोई बैंक डूब जाता है या दिवालिया हो जाता है तो उसके जमाकर्ताओं को अधिकतम 1 लाख रुपये ही मिलेंगे, चाहे उनके खाते में कितनी भी रकम हो. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की सब्सिडियरी डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (DICGC) के मुताबिक, बीमा का मतलब यह भी है कि जमा राशि कितनी भी हो ग्राहकों को 1 लाख रुपये ही मिलेंगे.

सभी बैंक जमाओं का बीमा करने वाले DICGC ने न्यूज एजेंसी पीटीआई द्वारा दायर RTI के जबाव में कहा, यह बचत, फिक्स्ड डिपॉजिट, करंट और रेकरिंग डिपॉजिट खातों को कवर करता है.

1 लाख रुपये की रकम सुरक्षित- DICGC एक्ट, 1961 की धारा 16 (1) के प्रावधानों के तहत, अगर कोई बैंक डूब जाता है या दिवालिया हो जाता है, तो DICGC प्रत्येक जमाकर्ता को भुगतान करने के लिए उत्तरदायी होता है. उसकी जमा राशि पर 1 लाख रुपये तक का बीमा होता है. आपका एक ही बैंक की कई ब्रांच में खाता है तो सभी खातों में जमा अमाउंट पैसे और ब्‍याज जोड़ा जाएगा और केवल 1 लाख तक जमा को ही सुरक्षित माना जाएगा.

ये भी पढे़ं: फिर महंगा हुआ प्याज! इस कारण 140 रुपये/KG के पार जा सकती है कीमत

यही नहीं, अगर आपके किसी एक बैंक में एक से अधिक अकाउंट और FD हैं तो भी बैंक के डिफॉल्ट होने या डूब जाने के बाद आपको एक लाख रुपये ही मिलने की गारंटी है. यह रकम किस तरह मिलेगी, यह गाइडलाइंस DICGC तय करता है.

बीमा रकम बढ़ाने की जानकारी नहीं- यह पूछे जाने पर कि क्या हाल ही में पीएमसी बैंक (PMC Bank) धोखाधड़ी के मद्देनजर बैंक में इंश्योर्ड 1 लाख रुपये की सीमा बढ़ाने के लिए कोई प्रस्ताव है या विचाराधीन है, डीआईसीजीसी ने कहा, निगम के पास अपेक्षित जानकारी नहीं है.

DICGC ने कहा, बैंक में जो भी पैसा जमा करता है, उसे अधिकतम 1 लाख रुपये तक बीमा कवर मिलता है. इसका मतलब है कि अगर किसी कारण से बैंक विफल होता है या उसे बंद किया जाता है अथवा बैंक का लाइसेंस रद्द होता है, उस स्थिति में उसे 1 लाख रुपये हर हाल में मिलेगा. भले ही बैंक में आपने कितनी भी ज्यादा राशि क्यों न जमा कर रखी हो.बता दें कि 24 सितंबर को RBI ने महाराष्ट्र के पंजाब और महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (PMC) बैंक में धोखाधड़ी उजागर होने के बाद उस पर प्रतिबंध लगा दिया था और धोखाधड़ी की जांच पड़ताल के लिए एक एडमिनिस्ट्रेटर नियुक्त किया है. शुरुआत में RBI ने पीएमसी बैंक के ग्राहकों को बैंक से पैसे निकालने पर रोक लगा दी थी और उनको छह महीने में सिर्फ 10 हजार रुपये निकालने की इजाजत दी थी. हालांकि बाद में RBI ने निकासी की सीमा बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दी. इस घटना के बाद ही यह चर्चा का विषय बना था कि बैंकों में जमाकर्ता के सिर्फ 1 लाख रुपये ही सुरक्षित हैं.

ये भी पढ़ें:-

HDFC बैंक के करोड़ों ग्राहक परेशान, लगातार दूसरे दिन ठप हुआ नेट और मोबाइल बैंकिंग
पेट्रोल पंप पर बिल्कुल मुफ्त में मिलती है ये 9 सर्विस, नहीं देने पर पेट्रोलपंप मालिक पर लगेगा भारी जुर्माना
शेफ का काम छोड़ शुरू किया अपना बिज़नेस, 5 साल में खड़ी की 26 करोड़ की कंपनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 4:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर