Home /News /business /

Boeing 737 Max एयरक्राफ्ट से हटी पाबंदी, DGCA ने दुर्घटनाओं के कारण 2 साल पहले लगाई थी रोक

Boeing 737 Max एयरक्राफ्ट से हटी पाबंदी, DGCA ने दुर्घटनाओं के कारण 2 साल पहले लगाई थी रोक

DGCA ने बोइंग के 737 मैक्‍स एयरक्राफ्ट को उड़ान भरने की मंजूरी दे दी है.

DGCA ने बोइंग के 737 मैक्‍स एयरक्राफ्ट को उड़ान भरने की मंजूरी दे दी है.

डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने कहा कि बोइंग के एयरक्राफ्ट (Boeing 737 Max) ने जरूरी मानकों को पूरा कर दिया है. इसलिए इन्‍हें उड़ान भरने की मंजूरी दे दी गई है.

    नई दिल्‍ली. भारत के एयर सेफ्टी रेग्‍युलेटर डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने अमेरिकी एयरक्राफ्ट मैन्‍युफैक्‍चरर बोइंग के एयरक्राफ्ट 737 मैक्‍स (Boeing 737 Max) पर लगाई गई पाबंदी बृहस्‍पतिवार को हटा दी. डीजीसीए का यह फैसला तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है. डीजीसीए ने दुर्घटनाओं के कारण मार्च 2019 में 737 मैक्‍स की उड़ान पर रोक (Flights Ban) लगा दी थी. बोइंग ने उम्मीद जताई है कि जल्दी ही ये मैक्‍स एयरक्राफ्ट उड़ान भरना शुरू कर देंगे.

    बोइंग के विमानों को जरूरी मानक पूरा करने पर मिली मंजूरी
    डीजीसीए ने अपने आदेश में कहा है कि बोइंग के एयरक्राफ्ट 737-8 और 737-9 ने जरूरी मानकों को पूरा कर दिया है. इसके बाद इन एयरक्राफ्ट को दोबारा उड़ान भरने की मंजूरी दी गई है. इस फैसले से स्पाइसजेट (SpiceJet) को बड़ी राहत मिलेगी. दरअसल, उसके बेड़े में 13 बोइंग मैक्स एयरक्राफ्ट हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, स्पाइसजेट ने 100 से ज्यादा 737 मैक्‍स प्लेन के लिए ऑर्डर दिया है. गुरुग्राम की इस एयरलाइंस ने कहा कि वह एवॉलान (Avolan) के साथ सेटलमेंट कर रही है. देश में स्पाइसजेट इकलौती कंपनी है, जिसके पास बोइंग का 737 मैक्‍स एयरक्राफ्ट है.

    ये भी पढ़ें – चीन को एक और झटका देगा भारत, केंद्र सरकार ने ऑटो कंपोनेंट इंडस्‍ट्री से आयात घटाने को कहा

    अमेरिका और यूरोप पहले ही हटा चुके हैं उड़ान से पाबंदी
    रेग्‍युलेटर ने कहा कि बोइंग के डिजाइन में बदलाव के आधार पर फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (Federal Aviation Administration) ने 18 नवंबर 2020 को एयरवर्दीनेस डायरेक्टिव (AD) जारी किया है. इसके बाद 737 मैक्स एयरप्लेन दोबारा उड़ान भर सकते हैं. बता दें कि अमेरिका (US) और यूरोप (Europe) में विमानन नियामकों ने पहले ही विमान को व्यापक सुधारों के साथ उड़ान भरने की मंजूरी दे दी है.

    ये भी पढ़ें- PhonePe को रिजर्व बैंक ने दी अकाउंट्स एग्रीगेटर के तौर पर काम करने की सैद्धांतिक मंजूरी, जानें आपको क्‍या होगा फायदा

    क्‍यों लगाई गई थी बोइंग के विमानों की उड़ान पर रोक
    भारत समेत दुनिया के कई देशों ने बोइंग 737 मैक्स-8 विमानों की उड़ानों पर रोक लगा दी थी. दरअसल, महज 6 महीने के अंदर बोइंग 737 मैक्स-8 के दो विमान हादसों की वजह से दुनियाभर की विमान सचांलन कंपनियों ने इस विमान को खरीदने के लिए बोइंग को दिए गए ऑर्डर पर दोबारा विचार करना शुरू कर दिया था. यही नहीं भारत, अमेरिका, चीन, ऑस्ट्रेलिया, मैक्सिको, ब्राजील, अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, इथोपिया, दक्षिण अफ्रीका, मलेशिया, सिंगापुर, वियतनाम, ओमान, मोरक्को, मंगोलिया और दक्षिण कोरिया ने इस एयरक्राफ्ट की उड़ान पर रोक भी लगा दी थी.

    Tags: Business news in hindi, Civil aviation sector, DGCA, Flight Ban

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर