अपना शहर चुनें

States

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पेट्रोलियम प्रोडक्‍ट्स को जीएसटी के दायरे में लाने पर दिया जोर, कहा-मिलेगा उपभोक्‍ताओं को फायदा

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, पेट्रोलियम उत्‍पादों को जीएसटी के दायरे में लाने की कोशिशें जारी रहेंगी.
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, पेट्रोलियम उत्‍पादों को जीएसटी के दायरे में लाने की कोशिशें जारी रहेंगी.

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने बताया कि पेट्रोलियम उत्‍पादों को वस्‍तु व सेवा कर (GST) के दायरे में लाने के लिए जीएसटी काउंसिल (GST Council) से लगातार आग्रह किया जा रहा है. पेट्रोल-डीजल की कीमतों (Petrol-Diesel Prices) में मौजूदा उछाल पर उन्‍होंने कहा कि अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में दाम बढ़ने के कारण ऐसा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 6:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पेट्रोल और डीजल दोनों के दाम (Petrol-Diesel Prices) में आज 35 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है. इससे दोनों ईंधन की खुदरा कीमतें सर्वोच्‍च स्‍तर (All-Time High) पर पहुंच गई हैं. इस बीच केंद्रीय पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने कहा कि पेट्रोलियम प्रोडक्‍ट्स को वस्‍तु व सेवा कर (GST) के दायरे में लाने से आम लोगों को राहत मिल सकती है. उन्‍होंने बताया कि उनका मंत्रालय पेट्रोलियम उत्‍पादों को जीएसटी के दायरे में लाने के लिए जीएसटी काउंसिल (GSt Council) से लगातार आग्रह कर रहा है. अब इस बारे में काउंसिल को फैसला करना है. बता दें कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर विपक्ष केंद्र सरकार पर लगातार हमला कर रहा है.

केंद्रीय मंत्री प्रधान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों (Crude Oil Prices) में उछाल आने से भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हैं. वहीं, कोरोना संकट के कारण मांग कम होने से आपूर्ति में भी कटौती हुई थी. तेल आपूर्ति करने वाले देशों ने वादा किया था कि हम जनवरी-फरवरी 2021 में सप्‍लाई को पहले की स्थिति में ले आएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. इससे भी परेशानी खड़ी हो गई है. हालांकि, सभी एशियाई देश तेल उत्पादन (Oil Production) बढ़ाने के लिए दबाव बना रहे हैं. इससे तेल उत्‍पादन में बढ़ोतरी होने की संभावना है. साथ ही पेट्रोल-डीजल को जल्द ही जीएसटी के तहत लाने की हरसंभव कोशिश की जा रही है.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: गोल्‍ड की चमक और बढ़ी, चांदी में ताबड़तोड़ बढ़ोतरी, देखें नए भाव



दो दिन नहीं किया गया पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव
राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में मंगलवार को पेट्रोल की कीमत 90.93 रुपये और डीजल 81 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गईं. दोनों की कीमतों में 35 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है. इससे पहले दो दिन यानी 21 और 22 फरवरी 2021 को दोनों ईंधनों के दामों में कोई बदलाव नहीं किया गया था. वहीं, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल आज 97.34 रुपये और डीजल 88.44 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया. बता दें कि दो दिन स्थिर रहने से पहले लगातार 12 दिन दोनों ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी की गई थी. अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में मंगलवार को ब्रेंट क्रूड ऑयल 66 डॉलर प्रति बैरल को पार कर गया. दरअसल, अमेरिका में जबरदस्‍त बर्फबारी के कारण उत्‍पादन की रफ्तार घट गई थी.

ये भी पढ़ें- बदल रहे हैं EPF के नियम! कर्मचारियों ने ज्‍यादा जमा किया फंड तो लगेगा इनकम टैक्‍स, जानें किस पर होगा सबसे ज्‍यादा असर

2021 में अब तक 7.22 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका पेट्रोल
फरवरी 2021 में अब तक पेट्रोल के दाम में 4.63 रुपये तो डीजल में 4.84 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हो चुकी है. वहीं, इस साल अब तक पेट्रोल की कीमतों में 7.22 रुपये और डीजल के दाम में 7.45 रुपये की वृद्धि दर्ज की जा चुकी है. इस दौरान मध्‍य प्रदेश और राजस्‍थान के कुछ इलाकों में पेट्रोल की कीमतों ने 100 रुपये प्रति लीटर का बैरियर भी तोड़ दिया. ये राज्‍य पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्‍यादा वैट वसूलते हैं. बता दें कि स्‍थानीय करों और ढुलाई लागत के कारण हर राज्‍य में पेट्रोल और डीजल की कीमतें अलग रहती हैं. विपक्ष की कड़ी आलोचना के बाद केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने राज्‍यों से स्‍थानीय करों में कटौती कर आम लोगों को फायदा देने की अपील की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज