Home /News /business /

क्या आपने ITR फाइल किया? 31 दिसंबर है आखिरी तारीख, अभी तक 3.97 करोड़ टैक्सपेयर्स ने भरा रिटर्न

क्या आपने ITR फाइल किया? 31 दिसंबर है आखिरी तारीख, अभी तक 3.97 करोड़ टैक्सपेयर्स ने भरा रिटर्न

इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 10 जनवरी 2021 थी.

इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 10 जनवरी 2021 थी.

आयकर विभाग (Income tax department) के अनुसार 2.27 करोड़ करदाताओं (Taxpayers) ने आईटीआर-1 फॉर्म भरे हैं वहीं 85.20 लाख ने आईटीआर- 4 फॉर्म, 46.78 लाख ने आईटीआर-3 फॉर्म और 28.74 ने आईटीआपर-2 फॉर्म भरे हैं.

    नई दिल्ली. आयकर विभाग के अनुसार 24 दिसंबर तक 3.97 करोड़ करदाताओं ने एसेसमेंट इयर 2020- 21 के लिये आयकर रिटर्न दाखिल कर दिया हैं. इस बारे में आयकर विभाग ने ट्वीट करके जनकारी देते हुए कहा कि, ‘24 दिसंबर 2020 तक 3.97 करोड़ आयकर रिटर्न पहले ही दाखिल किए जा चुके हैं. क्या आपने अपनी रिटर्न दाखिल कर दिया है? यदि नहीं तो इसे आज ही करें. अपना आयकर रिटर्न दाखिल करें .. और चैन से बैठेंण.’ आयकर विभाग के अनुसार आयकर रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर 2020 है. जिसे कोरोना महामारी के चलते बढ़ाया गया है. वहीं बीते साल आयकर रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 अगस्त 2019 थी.

    इनके लिए है रिटर्न दाखिल करने की तारीख 31 जनवरी- आयकर विभाग के अनुसार 2.27 करोड़ करदाताओं ने आईटीआर-1 फॉर्म भरे हैं वहीं 85.20 लाख ने आईटीआर- 4 फॉर्म, 46.78 लाख ने आईटीआर-3 फॉर्म और 28.74 ने आईटीआपर-2 फॉर्म भरे हैं. व्यक्तिगत करदाताओं के लिये एसेसमेंट इयर 2020- 21 में 31 दिसंबर 2020 तक का समय है. वहीं जिन लोगों के खातों के लिये आडिट जरूरी होता है उनके लिये रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2021 रखी गई है. आपको बता दें कोविड- 19 महामारी के चलते आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि को पहले 31 जुलाई से बढ़ाकर 31 अक्टूबर 2020 किया गया. बाद में इसे 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ा दिया गया.

    यह भी पढ़ें: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने 1,50,863 करोड रुपये टैक्स रिफंड किया, यदि आपको रिफंड नहीं मिला! तो ये करें

    पिछले साल डेडलाइन से 7 दिन पहले कम रिटर्न हुए थे फाइल- आयकर विभाग के अनुसार एसेसमेंट इयर 2019- 20 में 31 अगस्त 2019 तक कुल 5 करोड 65 लाख रिटर्न दाखिल किए गए थे. पिछले साल 24 अगस्त तक 3 करोड़ 92 लाख रिटर्न दाखिल किए गए थे. जबकि इस साल 24 दिसंबर तक 3 करोड़ 97 लाख रिटर्न दाखिल किए जा चुके है.

    यह भी पढ़ें: EPFO को 2021 में करने होंगे बड़े बदलाव, असंगठित क्षेत्र में श्रमिकों को तभी होगा फायदा

    इनकम के आधार पर होता है ITR फॉर्म का चयन- आईटीआर-1 सहज रिटर्न किसी भी रेजिडेंट इंडिविजुअल के जरिए फाइल किया जा सकता है जिनकी टोटल इनकम 50 लाख से कम होती है. आईटीआर-4 सुगम उन रेजिडेंट इंडिवुजअल्स, हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली (HUF) और कंपनियों को फाइल करना होता है, जिनकी टोटल इनकम 50 लाख से अधिक हो और उनकी आय बिजनेस या प्रोफेशन से हो. आईटीआर-3 और 6 कारोबारी और आईटीआर-2 आवासीय संपत्ति से होने वाली आय के मामले में फाइल किया जाता है. आईटीआर-5 को एलएलपी और एसोसिएशन ऑफ पर्सन्स (AoPs) के जरिए फाइल किया जाता है. आईटीआर-7 ट्रस्ट या चैरिटेबेल जैसी अन्य लीगल ऑब्लिगेशन के तहत आने वाली संपत्ति से होने वाली आय के मामले में फाइल किया जाता है.

    Tags: Business news, Income tax

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर