Home /News /business /

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान: कंप्रिहेंसिव या रेगुलर? कौन-सा बेहतर है और क्यों

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान: कंप्रिहेंसिव या रेगुलर? कौन-सा बेहतर है और क्यों

 रेगुलर हेल्थ प्लान (Regular health plan) और दूसरा कंप्रिहेंसिव हेल्थ प्लान (Comprehensive Health Plan) में क्या फर्क है?

रेगुलर हेल्थ प्लान (Regular health plan) और दूसरा कंप्रिहेंसिव हेल्थ प्लान (Comprehensive Health Plan) में क्या फर्क है?

कोविड-19 के बाद से लोगों में हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) को लेकर काफी जागरूकता आई है. पिछले डेढ़ से दो साल के भीतर जितने हेल्थ इंश्योरेंस बिके हैं, उतने पहले कभी नहीं बिके. अभी भी लोग हेल्थ इंश्योरेंस को लेकर पशोपेश में हैं कि वह कौन सा इंश्योरेंस प्लान लें? मोटे तौर पर इंश्योरेंस दो तरह के होते हैं, पहला रेगुलर हेल्थ प्लान (Regular health plan) और दूसरा कंप्रिहेंसिव हेल्थ प्लान (Comprehensive Health Plan). आज हम आपको इन दोनों के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं, ताकि आप अपने लिए सही डिसीजन ले पाएं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कोविड-19 के बाद से लोगों में हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) को लेकर काफी जागरूकता आई है. पिछले डेढ़ से दो साल के भीतर जितने हेल्थ इंश्योरेंस बिके हैं, उतने पहले कभी नहीं बिके. अभी भी लोग हेल्थ इंश्योरेंस को लेकर पशोपेश में हैं कि वह कौन सा इंश्योरेंस प्लान लें? मोटे तौर पर इंश्योरेंस दो तरह के होते हैं, पहला रेगुलर हेल्थ प्लान (Regular health plan) और दूसरा कंप्रिहेंसिव हेल्थ प्लान (Comprehensive Health Plan). आज हम आपको इन दोनों के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं, ताकि आप अपने लिए सही डिसीजन ले पाएं.

    रेगुलर और कंप्रिहेंसिव दोनों तरह के हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में किसी भी मेडिकल इमरजेंसी में इलाज के लिए जरूरी सामान्य हॉस्पिटलाइजेशन एक्सपेंसेस (Basic hospitalization expenses) कवर होते हैं. हालांकि रेगुलर प्लेंस में कुछ निश्चित तरह के के खर्चे कवर नहीं होते हैं और इसमें बीमा-राशि (सम-इंश्योर्ड) भी एक सीमा तक मिलता है.

    कंप्रिहेंसिव हेल्थ इंश्योरेंस (Comprehensive Health Plan)
    यदि हम कंप्रिहेंसिव हेल्थ इंश्योरेंस प्लान की बात करें तो इसमें रूटीन के हेल्थ चेकअप, गंभीर बीमारियां, जानी या अनजानी बीमारियां जैसे कि कोविड-19 तक सब कुछ कवर रहता है. इसमें नेटवर्क हॉस्पिटल में कैशलेस ट्रीटमेंट के लाभ, एंबुलेंस का खर्चा, डे केयर प्रोसीजर, अल्टरनेटिव ट्रीटमेंट के विकल्प, कंज्यूमएबल एक्सपेंसेस और प्री तथा पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन का खर्च भी कवर रहता है.

    ये भी पढ़ें – Cryptocurrency- Shih Tzu ने निवेशकों को किया मालामाल! सिर्फ 2 घंटे में 1000 रुपये के बन गए 60 लाख

    यही नहीं इसके अलावा ज्यादातर कंप्रिहेंसिव हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस में ओपीडी के खर्चे भी कम रहते हैं. इसके साथ कुछ ऐडऑन कवर भी मिलते हैं और कुछ राइडर्स भी लिया जा सकते हैं. एक विशेष समय सीमा के बाद कंप्रिहेंसिव हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में पहले से मौजूद बीमारियों को भी कवर किया जाता है. बीमा धारक कि यदि फिजियोथैरेपी, होम्योपैथी, एक्यूपंचर या ओस्टियोपेथी से भी इलाज करवाता है तो भी उसे एक सीमा तक कवर मिलता है.

    रेगलुर हेल्थ प्लान (Regular Health Plan)
    अब बात कर लेते हैं रेगुलर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान के बारे में. यह इंश्योरेंस प्लान एक सीमित कवरेज देता है. हॉस्पिटलाइजेशन से पहले और उसके बाद में मेडिकल के जो खर्चे हुए हैं उन्हें इसमें कवर किया जाता है.यदि पेशेंट 24 घंटे से ज्यादा हॉस्पिटल में एडमिट रहता है तो उसे कुछ अन्य मेडिकल एक्सपेंसेस भी मिलते हैं जिसमें कि डायग्नोस्टिक फीस, दवाओं का खर्च, डॉक्टर की सलाह की फीस, कमरे का किराया इत्यादि शामिल होते हैं. इसमें एंबुलेंस की लागत, डे केयर प्रोसीजर, एक निश्चित समय के बाद पहले से मौजूद बीमारियां भी इसमें शामिल होती हैं. इसके अलावा मेडिकल चेकअप भी मिलता है.

    ये भी पढ़ें – Salary Hike: केंद्रीय कर्मचारियों को जल्द मिल सकती है बड़ी खुशखबरी, जानिए डिटेल्‍स

    रेगुलर या स्टैंडर्ड हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आमतौर पर ज्यादा खरीदी जाती है. इंश्योरेंस कंपनी इन प्लेंस में 1 लाख रुपए से लेकर 5 लाख रुपये तक का कवर मुहैया करवाती हैं.

    यदि हम उपरोक्त दोनों तरह के हेल्थ इंश्योरेंस को कवर करें तो कंप्रिहेंसिव इंश्योरेंस प्लान ज्यादा अच्छा दिखता है. कारण है कि इसमें ज्यादा बीमारियां कवर होती हैं और कई तरह के अतिरिक्त खर्चे भी मिल जाते हैं.

    Tags: Health, Health Insurance, Insurance Policy

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर