Home /News /business /

Digital Currency: सरकार जल्द ला रही है डिजिटल करेंसी, जानिए कैसे कर सकेंगे लेनदेन, क्या UPI से होगा अलग, जानिए पूरी डिटेल्स

Digital Currency: सरकार जल्द ला रही है डिजिटल करेंसी, जानिए कैसे कर सकेंगे लेनदेन, क्या UPI से होगा अलग, जानिए पूरी डिटेल्स

डिजिटल करेंसी सामान्य रुपये से अलग नहीं है. इसका उपयोग एनईएफटी, यूपीआई जैसे सामान्य लेनदेन के लिए किया जा सकता है.

डिजिटल करेंसी सामान्य रुपये से अलग नहीं है. इसका उपयोग एनईएफटी, यूपीआई जैसे सामान्य लेनदेन के लिए किया जा सकता है.

Digital Currency vs UPI Payment : केंद्रीय बैंक 2022-23 में डिजिटल करेंसी यानी डिजिटल रुपया लॉन्च करेगा. इसका नाम सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी होगा. नई करेंसी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित होगी. लोग इस करेंसी से खरीदारी भी कर सकेंगे.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. सरकार जल्द ही डिजिटल करेंसी (Digital Currency) पेश कर सकती है. आरबीआई (RBI) इसकी तैयारियों में जोर-शोर से जुटा है. फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने बजट 2022 (Budget 2022) में डिजिटल करेंसी लाने की घोषणा की थी. उन्होंने बजट पेश करते हुए कहा था कि केंद्रीय बैंक 2022-23 में डिजिटल करेंसी यानी डिजिटल रुपया लॉन्च करेगा.

इसका नाम सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी होगा. मामले से जुड़े लोगों का कहना है कि आरबीआई इस डिजिटल करेंसी को नए वित्त वर्ष की शुरुआत में लॉन्च कर सकता है. नई करेंसी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी (Blockchain Technology) पर आधारित होगी. जब देश के पास अपनी डिजिटल करेंसी होगी तो लोग इससे से ही खरीदारी कर सकेंगे.

ये भी पढ़ें- Edible Oil : होली से पहले मिल सकती है राहत, सस्ते होंगे खाने के तेल, जानिए कितने रुपये घटेंगे दाम

यूपीआई की जगह लेगा डिजिटल करेंसी
अभी लोग खरीदारी या किसी अन्य लेनदेन के लिए यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस-UPI) का इस्तेमाल करते हैं. अब उसकी जगह लोग डिजिटल करेंसी से लेनदेन कर सकेंगे. हालांकि, इसका इस्तेमाल कहां होगा, इस पर तस्वीर अभी साफ नहीं है. लेकिन, सबसे बड़ा सवाल यह है कि यह काम कैसे करेगा और यूपीआई से कैसे अलग होगा.

करेंसी/कैश के बदले कर सकेंगे भुगतान
पीडब्ल्यूसी इंडिया के पार्टनर एंड पेमेंट्स ट्रांसफॉर्मेशन लीडर मिहिर गांधी का कहना है कि डिजिटल करेंसी अपने आप में अंडरलाइंग भुगतान मोड होगा. इसका उपयोग करेंसी/कैश के बदले डिजिटल भुगतान के लिए किया जा सकेगा. यह उम्मीद की जाती है कि डिजिटल रुपया से भुगतान सहज लेनदेन सुनिश्चित करने के लिए हो सकता है. वर्तमान में यूपीआई  भुगतान मौजूदा मुद्रा नोटों के डिजिटल समकक्ष का उपयोग करके किया जाता है. इसका मतलब है कि यूपीआई के जरिये ट्रांसफर किया गया हर रुपया फिजिकल करेंसी से चलता है.

ये भी पढ़ें- LIC IPO: निवेशकों की SEBI के नियम ने बढ़ाई चिंता! सूचीबद्ध होने पर एलआईसी को तीन साल में बेचनी पड़ेगी और 20% हिस्सेदारी

सामान्य रुपये से नहीं है अलग
डिजिटल करेंसी सामान्य रुपये से अलग नहीं है. इसका उपयोग एनईएफटी, यूपीआई जैसे सामान्य लेनदेन के लिए किया जा सकता है. यूपीआई के मामले में डिजिटल करेंसी आरबीआई द्वारा संचालित किया जाएगा न कि बैंक मध्यस्थों के जरिये जहां प्रत्येक बैंक का एक अलग यूपीआई हैंडलर है. यूपीआई भुगतान वर्तमान में आरबीआई के साथ लेनदेन करने वाले बैंकों के निपटान पर निर्भर करता है. डिजिटल करेंसी सीधे आरबीआई से लेनदेन करेगा, इसलिए इसे तुरंत सुलझा लिया जाएगा.

इलेक्ट्रॉनिक रूप में अकाउंट में दिखेगी
डिजिटल करेंसी वास्तव में ब्लॉकचेन सहित अन्य टेक्नोलॉजी पर आधारित करेंसी होगी. यह करेंसी की तरह ही काम करेगा. इसे करेंसी नोट के साथ बदला भी जा सकेगा. यह इलेक्ट्रॉनिक रूप में आपके अकाउंट में दिखाई देगी.

Tags: Currency, RBI, Upi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर