COVID-19: अब चीनी मिल और डिस्टिलरीज में भी बनेगा हैंड सेनिटाइजर, सरकार दे रही अनुमति

COVID-19: अब चीनी मिल और डिस्टिलरीज में भी बनेगा हैंड सेनिटाइजर, सरकार दे रही अनुमति
कोरोना वायरस से निपटने के लिए मिलने वाले सैनेटाइजर्स में अल्‍कोहल की मात्रा 70 फीसदी से अधिक रखी गई है. ऐसे में आग या अधिक गर्मी की वजह से विस्फोट हो सकता है

आम ग्राहकों और अस्पतालों में हैंड सेनिटाइजर्स (Hand Sanitizers) की उपलब्धता बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार ने डिस्टिलरीज (Distilleries) और शुगर मिल्स (Sugar Mills) को हैंड सेनिटाइजर्स की उत्पादन बढ़ाने को कहा है. इसके लिए राज्य सरकारों की मदद से केंद्र कई बड़े कदम उठा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 5:07 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. केंद्र सरकार अब राज्य सरकारों की सहयोग से डिस्टिलरीज (Distilleries) और हैंड सेनिटाइजर (Hand Sanitizeers) उत्पादकों को प्रोडक्शन बढ़ाने की अनुमति दे रही है. अब तक 45 डिस्टिलरीज और 564 नए उत्पादकों को इसकी अनुमति दी जा चुकी है. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते हैंड सेनिटाइजर की मांग तेजी से बढ़ी है. इसी को देखते हुए सरकार ने यह फैसला लिया है.

गुरुवार को कंज्यूमर अफेयर्स मंत्रालय ने कहा, 'अब तक 45 डिस्टिलरीज और हैंड सेनिटाइजर के 564 उत्पादकों को अपना प्रोडक्शन बढ़ाने की अनुमति दी है. बहुत जल्द ही 55 से अधिक डिस्टिलरीज को एक-दो दिन में अनुमति दे दी जाएगी. इनमें से अधिकतर को हैंड सेनिटाइजर प्रोडक्शन करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है. ग्राहकों और अस्पतालों के लिए पर्याप्त हैंड सेनिटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा.'





मंत्रालय ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार सभी कदम उठा रही हैं कि कोरोना वायरस की वजह से इस लॉकडाउन के समय में सभी जरूरी उत्पादों की निर्बाध उपलब्धता सुनिश्चित किया जा सके.

यह भी पढ़ें: 20.50 करोड़ महिलाओं के खाते में सरकार हर महीने 500 रुपये ट्रांसफर करेगी

मंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया, 'डिमांड और सप्लाई बैलेंस बनाए रखने के लिए एक्साइज ​कमिश्नर, केन कमिश्नर, ड्रग कंट्रोलर्स और डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर्स समेत सभी अथॉरिटीज को सलाह दिया गया है कि इथेनॉल और एक्स्ट्रा न्यूट्रल एल्कोहल की सप्लाई को बढ़ाया जाए ताकि मैन्युफैक्चरर्स पर्याप्त हैंड सेनिटाइजर का उत्पादन कर सकें.' राज्यों को यह भी कहा गया है कि वो आवेदनकर्ता को जल्द से जल्द लाइसेंस जारी किया जाए.

बयान में आगे कहा गया, 'उन डिस्टिलरीज और शुगर मिल्स को भी हैंड सेनिटाइजर बनाने को कहा गया है, जो इसका उत्पादन कर सकते हैं. इन मैन्युफैक्चरर्स को 3 शिफ्टों में काम करने को कहा गया है ताकि आउटपुट को बढ़ाया जा सके.'

बता दें कि केंद्र सरकार ने पहले से ही हैंड सेनिटाइजर को मास्क के साथ एसेंशिअल कमोडिटीज एक्ट में डाल दिया है. साथ ही इसके लिए दरें भी तय कर दी गई हैं. 200ml वाली हैंड सेनिटाइजर बॉटल की कीमत 100 रुपये से अधिक नहीं हो सकती है. इसी अनुपात में ही अन्य क्वांटिटी के लिए भी दरें तय की गई हैं.

यह भी पढ़ें:  8 करोड़ महिलाओं को 3 महीने तक मुफ्त मिलेगा LPG रसोई गैस सिलेंडर
First published: March 26, 2020, 5:02 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading