नए Tax System के आने से ऐसे मिलेगा टैक्सपेयर्स को फायदा, जानिए किन चीजों में मिली राहत?

नए Tax System के आने से ऐसे मिलेगा टैक्सपेयर्स को फायदा, जानिए किन चीजों में मिली राहत?
नए Tax System के आने से ऐसे मिलेगा टैक्सपेयर्स को फायदा, जानिए सबकुछ?

नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरूवार को ईमानदार टैक्सपेयर्स के लिए एक नए खास प्लेटफॉर्म को लांच किया है. जिसका नाम है ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन ऑनरिंग द ऑनेस्ट (Transparent Taxation Honoring The Honest) यानी पारदर्शी कराधान ईमानदारों का सम्मान. आइए आपको बताते हैं कि टैक्स पेयर्स को नई टैक्स प्रणाली से कितना होगा फायदा?

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 2:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरूवार को ईमानदार टैक्सपेयर्स के लिए एक नए खास प्लेटफॉर्म को लांच किया है. जिसका नाम है ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन ऑनरिंग द ऑनेस्ट (Transparent Taxation Honoring The Honest) यानी पारदर्शी कराधान ईमानदारों का सम्मान. फेसलेस अपील 25 सितंबर से लागू किया जाएगा.  इस नए सिस्टम से ट्रांसफर पोस्टिंग के लिए जुगाड़ और सिफारिश खत्म होगी. सिस्टम फेसलेस होने के कारण आयकर विभाग का प्रभाव जमाने का चक्कर भी खत्म हो जाएगा. आइए आपको बताते हैं कि टैक्स पेयर्स को कितना होगा फायदा?

आम जनता को नए टैक्स सिस्टम के आने से ऐसे मिलेगा फायदा?

1) फेसलेस असेसमेंट (Faceless assessment) और टैक्सपेयर चार्टर लागू होने से अब टैक्सपेयर को अपने टैक्स असेसमेंट (Tax Assessment) को लेकर टैक्सविभाग के चक्कर नहीं लगाने होंगे.



2) 25 सितंबर को फेसलेस अपील (Faceless Appeal) के शुरू होने के बाद अगर टैक्सपेयर को कोई शिकायत है तो उसकी अपील भी वो बिना किसी डर के IT विभाग के दफ्तर जाए बिना कर सकेगा.



3) टैक्सपेयर्स चार्टर (Taxpayers Charter) लागू हो जाने से अह इनकम टैक्स विभाग अब टैक्सपेयर की प्रतिष्ठा को ठेस नहीं पहुंचा सकेगा. विभाग को अब टैक्सपेयर की प्रतिष्ठा का, संवेदनशीलता के साथ ध्यान रखना होगा. इसके साथ ही दोनों नें विश्वास भी बढ़ेगा.

4) इस नए सिस्टम से सबसे बड़ा फयदा ये है कि इसमें मानवीय दखल को कम हो जाएगा और ज्यादा से ज्यादा टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होगा. जैसे कौन सा अधिकारी किस व्यक्ति का केस देखेगा अब ये भी कंप्यूटर के जरिए ही तय होगा.

 टैक्सपेयर्स को कुछ और राहत भी 
महामारी के बीच टैक्सपेयर्स को कुछ राहत देने के लिए , केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (Central Board of Direct Taxes) ने हाल ही में वित्तीय वर्ष 19 के लिए आयकर रिटर्न (Income Tax Return) दाखिल करने की समय सीमा बढ़ा दी है. जिन लोगों ने वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए अपना आईटीआर दाखिल नहीं किया है, वे अब ऐसा सितंबर 2020 तक ऑनलाइन कर सकते हैं. ध्यान दें कि इससे पहले, सरकार ने पहले ही कई मौकों पर वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए एक आयकर रिटर्न (ITR) दाखिल करने की समय सीमा बढ़ा दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज