लाइव टीवी

FASTag यूजर्स हो जाए सावधान! जालसाज लगा रहे हैं लाखों रुपये का चूना, ऐसे बचें धोखाधड़ी से

News18Hindi
Updated: January 21, 2020, 4:09 PM IST
FASTag यूजर्स हो जाए सावधान! जालसाज लगा रहे हैं लाखों रुपये का चूना, ऐसे बचें धोखाधड़ी से
फास्टैग (FASTag) अनिवार्य है.

देश में FASTag के लॉन्च के साथ ही जालसाजों (Fraudsters) ने नागरिकों को ठगने का एक नया तरीका ढूंढ निकाला है. घोटाला करने वाले लोगों को पंजीकरण कराने और उनका FASTag ठीक से काम कर रहा है या नहीं ये चेक करने में मदद करने के बहाने UPI के माध्यम से बैंक खातों से पैसे निकालने की कोशिश कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2020, 4:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में FASTag के लॉन्च के साथ ही जालसाजों (Fraudsters) ने नागरिकों को ठगने का एक नया तरीका ढूंढ निकाला है. घोटाला करने वाले लोगों को पंजीकरण कराने और उनका FASTag ठीक से काम कर रहा है या नहीं ये चेक करने में मदद करने के बहाने UPI के माध्यम से बैंक खातों से पैसे निकालने की कोशिश कर रहे हैं.

इस घोटाले की पहली घटना आधिकारिक तौर पर हाल ही में सामने आई थी जब बेंगलुरु के एक व्यक्ति को घोटालेबाजों ने 50,000 रुपये का चूना लगा दिया. इस व्यक्ति ने अपने फ़ास्ट टैग को लेकर कंप्लेंट की थी जिसके बाद उन्हें एक्सिस बैंक के एक तथाकथित ग्राहक सेवा कार्यकारी से एक फर्जी कॉल मिला, जिसने उन्हें कहा कि उन्हें अपने FASTag वॉलेट को यूज में लाने के लिए एक ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा.

यह भी पढ़ें :- बढ़ रही है अमीर-गरीब के बीच की खाई! अमीरों में पास गरीबों से 4 गुना ज्यादा पैसा

घोटालेबाजों ने चतुराई से ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया के बहाने कस्टमर को मूर्ख बनाकर उनका यूपीआई पिन ले लिया. पीड़ित व्यक्ति के मुताबिक कॉल करने वाले ने उन्हें एक एसएमएस के माध्यम से लिंक भेजा, जिसमें एक्सिस बैंक - फास्टैग फॉर्म लिखा था. इस फॉर्म में उनसे उनका नाम, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) पिन जैसे विवरण मांगे गए थे. इसके बाद उनसे उनके फ़ोन पर आया वन-टाइम पासवर्ड (ओटीपी) मांगा गया जो उन्होंने दे दिया.



इसीलिए पाठकों को सलाह दी जाती है कि किसी भी परिस्थिति में वे किसी को भी किसी भी उद्देश्य के लिए किसी भी परिस्थिति में कोई भी पिन या पासवर्ड शेयर न करें. FASTag के पंजीकरण के लिए आपको कोई भी पासवर्ड या ऑनलाइन बैंकिंग विवरण प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं है.

यह भी पढ़ें:- PF खाताधारकों के लिए बड़ी खबर! इस वजह से लाखों कर्मचारियों को लग सकता है झटकाFASTag सेवा नई होने के कारण, घोटालेबाज नागरिकों को धोखा देने के लिए हर तरह की कोशिश कर रहे हैं. केवल दो ही तरीकों से अपने Fastags को सक्रिय कर सकते हैं- या तो MyFastag ऐप का उपयोग करके या निकटतम बैंक शाखा पर जाकर. फोन पर बैंक कर्मचारी से बात करके FASTag पंजीकरण नहीं हो सकता है. इस मामले में, आपको ऐसी कोई भी कॉल प्राप्त होती है तो तुरंत इस कॉल को डिस्कनेक्ट कर दें. और कोई समस्या होने स्वयं बैंक शाखा जाकर जांच करें.

यह भी पढ़ें:- भारत में अपनी प्रतिभा दिखाने के​ लिए हर किसी को नहीं मिलते समान मौके: रिपोर्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 11:32 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर