Home /News /business /

do you know which type of property is better for investment see what expert say prdm

प्रॉपर्टी में करना चाहते हैं निवेश, आवासीय-कॉमर्शियल या प्‍लॉट में से कौन सा होगा बेहतर, एक्‍सपर्ट से समझिए कहां लगाएं पैसे?

साल 2015 से अब तक प्‍लॉट ने सालाना 7 फीसदी का रिटर्न दिया है.

साल 2015 से अब तक प्‍लॉट ने सालाना 7 फीसदी का रिटर्न दिया है.

प्रॉपर्टी में निवेश करना वैसे तो सबसे सुरक्षित और ज्‍यादा रिटर्न वाला विकल्‍प माना जाता है, लेकिन जब आप प्रॉपर्टी का नाम लेते हैं तो सामने चार तरह की तस्‍वीर निकलकर आती है. इसमें आवासीय और कॉमर्शियल प्रॉपर्टी के साथ प्‍लॉट भी शामिल है. अब इनमें से आपके लिए कौन सा बेहतर होगा, ये जानना सबसे जरूरी है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. निवेश के लिहाज से प्रॉपर्टी में पैसे लगाना हमेशा फायदेमंद होता है. लेकिन, जब हम प्रॉपर्टी की बात करते हैं तो हमारे सामने चार विकल्‍प उभरकर आते हैं. इसमें हाउसिंग, रिटेल, हॉस्पिटैलिटी और कॉर्शियल प्रॉपर्टी शामिल है.

एक अनुमान के मुताबिक, भारत का प्रॉपर्टी बिजनेस 2030 तक 10 खरब डॉलर का हो जाएगा, जो कुल जीडीपी का करीब 20 फीसदी हिस्‍सा होगा. इतना ही नहीं रियल एस्‍टेट कृषि के बाद देश में रोजगार देने वाला दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र भी है. तमाम सुधारों के बाद इस क्षेत्र में लगातार पारदर्शिता बढ़ रही है और निवेश की दृष्टि से भी यह काफी पसंद किया जाने लगा है. अगर आप भी प्रॉपर्टी में पैसे लगाने के बारे में सोच रहे हैं तो मिलवुड केन इंटरनेशनल के फाउंडर एवं सीईओ निश भट्ट से चारों विकल्‍पों की खूबी और खामी जान सकते हैं.

ये भी पढ़ें – टाटा कंज्यूमर प्रॉडक्ट्स का फोकस विस्तार पर, 5 ब्रांड खरीदने की कर रही तैयारी

अपार्टमेंट के लिए ये शहर हैं बेहतर
अगर आप अपार्टमेंट या आवासीय मकान खरीदना चाहते हैं तो देश के आठ प्रमुख रियल एस्‍टेट बाजारों का रुख कर सकते हैं. इसमें दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, पुणे, बेंगलुरु, हैदराबाद, चेन्नई, कोलकाता और अहमदाबाद हैं, जहां लोग आम तौर पर प्लॉट की तुलना में अपार्टमेंट खरीदना ज्‍यादा पसंद करते हैं. अपार्टमेंट की लोकप्रियता के पीछे सबसे बड़ा कारण सुरक्षा और सुविधाएं जैसे पावर बैकअप, कार पार्किंग, क्लब, जिम, स्विमिंग पूल और गार्डन एरिया आदि हैं।

प्लॉट में तेजी से बढ़ रहा निवेश
वर्तमान और ऐतिहासिक रुझानों से पता चलता है कि आठ प्रमुख रियल एस्टेट बाजारों में रेसिडेंशियल फ्लैटों की उच्च मांग के बावजूद प्लॉट ने आवासीय संपत्तियों की तुलना में अधिक रिटर्न प्राप्त किया है. दरअसल, लैंड को सक्रिय प्रबंधन या रखरखाव की जरूरत नहीं होती और बढ़ते बाजार में जमीन हमेशा अच्छा प्रदर्शन करती है, क्योंकि कंस्ट्रक्शन में भविष्य के किसी भी विकास के लिए लैंड की ही जरूरत होगी. हालांकि, यहां पैसे लगाने से पहले पूरी रिसर्च जरूरी है, क्‍योंकि मकान की तुलना में जमीन खरीदना ज्‍यादा मुश्किल काम है.

GST फाइलिंग: तकनीकी खामियों के चलते सरकार ने 24 मई तक बढ़ाई लास्ट डेट

कमर्शियल प्रॉपर्टी की सबसे ज्‍यादा मांग
रियल एस्‍टेट की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, जुलाई-सितंबर 2021 के बीच ऑफिस स्पेस अब्सॉर्ब्शन 1.2 करोड़ वर्ग फुट पर रहा, जो पिछले वर्ष की तुलना में 168% अधिक है. साल 2022 के अंत तक उम्मीद की जा रही है कि कॉमर्शियल रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ऑफिस, को-वर्किंग स्पेस और सस्ती दुकानों पर केंद्रित हो जाएगा. इसमें पूरी संपत्ति के बजाए एक हिस्से में निवेश का विकल्‍प मिलता है, जो अच्‍छा रिटर्न भी देता है.

किस सेक्‍टर ने दिया सबसे ज्‍यादा रिटर्न
आरईए इंडिया के हालिया रिसर्च के अनुसार, प्लॉट्स ने भारत में सबसे ज्‍यादा रिटर्न दिया है. देश के आठ प्रमुख शहरों में आवासीय प्‍लॉट ने जहां 2015 से सालाना 7 फीसदी की वृद्धि दर्ज की है, वहीं अपार्टमेंट को महज 2 फीसदी का रिटर्न मिला है. प्‍लॉट के मामले में आपको ज्‍यादा रखरखाव की जरूरत नहीं होती और यह छोटी राशि के निवेश से भी प्राप्‍त किया जा सकता है. लिहाजा ये स्‍पष्‍ट है कि अपार्टमेंट या कॉमर्शियल प्रॉपर्टीज की तुलना में प्‍लॉट ज्‍यादा रिटर्न देते हैं.

Tags: Investment and return, Property investment, Real estate market

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर