Home /News /business /

domestic indices set for first annual decline in seven years abhs

Market Update : 7 साल में पहली बार भारतीय शेयर मार्केट्स के रिटर्न रह सकते निगेटिव, जानिए क्यों ?

शेयर बाजार के रिटर्न निगेटिव रहने के आसार हैं.

शेयर बाजार के रिटर्न निगेटिव रहने के आसार हैं.

बढ़ती ब्याज दरों और घटती ग्लोबल ग्रोथ के आसार के कारण बाजार शेयर बाजार के इस साल की भारी गिरावट से तेजी से उबरने की उम्मीद काफी कम है. रॉयटर्स के पोल के जो नतीजे सामने आए हैं, उसके मुताबिक, भारतीय शेयर बाजार इस साल 7 साल में पहली बार निगेटिव रिटर्न देगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली . विदेशी संस्थागत निवेशकों की भारी बिकवाली, वैश्विक घटनाक्रम, बढ़ती महंगाई और ब्याज दरें आदि कारणों का असर भारतीय शेयर मार्केट पर भी पड़ रहा है. दुनिया के अन्य देशों की तरह भारतीय बाजार में भी अनिश्चितता का माहौल है. इस बीच एक पोल के नतीजे भारतीय शेयर मार्केट्स के लिए एक और बुरी खबर लेकर आया है. रॉयटर्स की ओर से हाल में कराए गए पोल से यह निकलकर आया है कि भारतीय इक्विटी मार्केट में 7 वर्षों में पहली बार इस साल सालाना रिटर्न निगेटिव देखने को मिल सकता है.

पोल के नतीजों के मुताबिक, बढ़ती ब्याज दरों और घटती ग्लोबल ग्रोथ की संभावना के कारण बाजार के इस साल की भारी गिरावट से तेजी से उबरने की उम्मीद काफी कम है. भारत सहित पूरी दुनिया में बढ़ती महंगाई, यूक्रेन संकट, सप्लाई चेन में आई दिक्कतें आदि ऐसी वजहें हैं, जिन्होंने दुनिया के तमाम हिस्सों में इकोनॉमी और बाजार का खेल बिगाड़ दिया है. महंगाई पर नियत्रंण के लिए सेंट्रल बैंक ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर रहे हैं, जिसके कारण मंदी का खतरा पैदा हो गया है. इस वजह से निवेशक इस समय जोखिम वाले निवेश से बाहर निकल रहे हैं.

ये भी पढ़ें- बाजार से मोहभंग! महज 8 महीने में खत्‍म हो गया 7 साल का विदेशी निवेश, FPI ने की रिकॉर्ड धन निकासी

तुलनात्मक रूप से बेहतर

भारत के बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स की बात करें, तो यह इस साल अब तक 7 फीसदी लुढ़क चुका है. वहीं, इस साल 18 जनवरी के 61475.15 अंको की हाई से सेंसेक्स अब तक करीब 12 फीसदी टूट चुका है. वर्तमान हालात में इस बात की उम्मीद नजर नहीं आ रही है कि सेंसेक्स जल्द फिर एक बार अपने जनवरी के हाई को छू पाएगा. हालांकि, भारतीय बेंचमार्क इंडेक्स का प्रदर्शन तुलनात्मक रूप से अभी भी बेहतर दिख रहा है.

एमएससीआई में 16 फीसदी गिरावट

एमएससीआई (MSCI) जैसा वर्ल्ड इंडेक्स इस साल अब तक 16 फीसदी से अधिक टूट चुका है. यही नहीं, इसी महीने की शुरुआत में यह इंडेक्स बेयर मार्केट जोन के काफी करीब आ गया था. आपको बता दें कि जब कोई इंडेक्स 20 फीसदी तक टूट जाता है, तो माना जाता है कि वह बेयर मार्केट में प्रवेश कर चुका है.

ये भी पढ़ें- विकसित अर्थव्यवस्थाएं 2024 तक पटरी पर लौटेंगी, विकासशील ‘मुकाम’ से पीछे रहेंगी : गोपीनाथ

40 फीसदी हिस्से की  ही भरपाई

रॉयटर्स के इस पोल में 30 इक्विटी स्ट्रैटिजिस्ट शामिल थे. यह पोल 13 मई से 24 मई के बीच किया गया था. इस पोल से यह साफ हुआ कि बीएसई सेंसेक्स इस साल के अंत तक अपनी इस गिरावट के सिर्फ 40 फीसदी हिस्से की भरपाई कर पाएगा.

सेंसेक्स साल के अंत तक सोमवार के 54288.61 के क्लोजिंग स्तर से सिर्फ 3.2 फीसदी की बढ़त दिखाते हुए 56000 का स्तर हासिल करेगा. मनीकंट्रोल की रिपोर्ट के मुताबिक, इस पोल में शामिल 70 फीसदी से ज्यादा भागीदारों का कहना था कि घरेलू बाजार में आने वाले 3 महीनों में वोलैटिलिटी और बढ़ेगी.

Tags: Business news in hindi, Online Poll, Share market

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर