घरेलू म्‍युचुअल फंड्स ने मार्च 2021 में किया ₹2500 करोड़ का निवेश, 9 महीने बाद इक्विटी बाजार से नहीं निकाली पूंजी

म्‍युचुअल फंड्स ने वित्‍त वर्ष 2021 की पहली तिमाही को छोड़कर हर क्‍वार्टर में बाजार से पैसे निकाले हैं.

म्‍युचुअल फंड्स ने वित्‍त वर्ष 2021 की पहली तिमाही को छोड़कर हर क्‍वार्टर में बाजार से पैसे निकाले हैं.

घरेलू म्‍युचुअल फंड्स (Domestic Mutual Funds) ने मार्च 2021 में घरेलू इक्विटी फंड्स में 2476.5 करोड़ रुपये का निवेश (Equity Funds Investment) किया है, जबकि फरवरी में 16,306 करोड़ रुपये निकाल लिए थे. पूंजी बाजार नियामक सेबी (SEBI) से मिली जानकारी के मुताबिक, इसी जनवरी में घरेलू फंड्स ने 13,032 करोड़ रुपये निकाले थे.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. घरेलू म्‍युचुअल फंड्स (Domestic Mutual Funds) की ओर से बाजार से पैसे निकालने का सिलसिला थम गया है. साथ ही मार्च 2021 में फंड मैनेजर्स (FMs) का इक्विटी में पॉजिटिव निवेश (Eqity Funds Investment) देखने को मिला है. करीब 9 महीने के बाद मार्च 2021 में म्‍युचुअल फंड्स की ओर से घरेलू इक्विटी में बड़ा निवेश किया गया है. इस दौरान घरेलू फंड्स ने इक्विटी में कुल 2,476.5 करोड़ रुपये लगाए हैं. बता दें कि इससे पहले के 9 महीने में म्‍युचुअल फंड्स (MFs) पैसे निकाल रहे थे. जून 2020 से फरवरी 2021 के बीच घरेलू फंड्स ने घरेलू इक्विटी 1.24 लाख करोड़ रुपये निकाले हैं.

मार्च 2021 से पहले के 9 महीनों में की गई बड़ी निकासी

घरेलू म्‍युचुअल फंड्स ने मार्च 2021 में घरेलू इक्विटी फंड्स में 2476.5 करोड़ रुपये का निवेश किया है, जबकि फरवरी में 16,306 करोड़ रुपये निकाल लिए थे. पूंजी बाजार नियामक सेबी से मिली जानकारी के मुताबिक, इसी जनवरी में घरेलू फंड्स ने 13,032 करोड़ रुपये निकाले थे. इससे पहले दिसंबर 2020 में 26,428 करोड़ रुपये और नवंबर में 30,760 करोड़ रुपये की निकासी की गई थी. इसी तरह घरेलू फंड्स ने अक्टूबर 2020 में 14,492 करोड़ रुपये, सितंबर में 4,134 करोड़ रुपसे, अगस्त में 9,213 करोड़ रुपये, जुलाई में 9,195 करोड़ रुपये और जून में 612 करोड़ रुपये भारतीय बाजार से निकाले हैं.

ये भी पढ़ें- Taxpayers के लिए बड़ी खबर! आयकर विभाग ने आईटीआर फॉर्म-1, 4 के लिए ऑफलाइन सुविधा भी की शुरू
FY21 में सिर्फ पहली तिमाही में किया गया था निवेश

तिमाही आधार पर देखें तो वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही में घरेलू म्‍युचुअल फंड्स ने भारतीय इक्विटी में 11,711 करोड़ रुपए डाले. बाकी तीनों तिमाहियों में घरेलू फंड्स की ओर से बिकवाली ही देखने को मिली है. वित्त वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही में घरेलू फंड्स ने भारतीय इक्विटीज से 7,214 करोड़ रुपये निकाले. इसी तरह तीसरी तिमाही में घरेलू फंड्स की ओर से 25,789 करोड़ रुपये और चौथी तिमाही में 19,721 करोड़ रुपये की निकासी देखने को मिली.

ये भी पढ़ें- LPG Cylinder: अब सिलेंडर बुक कराना हुआ बेहद आसान, WhatsApp की मदद से घर बैठे करें बुक



एसआईपी के जरिये निवेश में देखने को मिली है बढ़ोतरी

देश में सिस्‍टमैटिक इंवेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) के जरिये होने वाले निवेश में इस दौरान बढ़ोतरी देखने को मिली है. एएमएफआई के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में एसआईपी के जरिये 15,551 करोड़ रुपये का निवेश हुआ. वहीं, तीसरी तिमाही में निवेशकों ने इस रूट के जरिये 23,520 करोड़ रुपये का निवेश किया. दूसरी तिमाही में 23,411 करोड़ रुपये और पहली तिमाही में 24,426 करोड़ रुपये सिप के जरिये भारतीय इक्विटी मार्केट में आए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज